scorecardresearch
 

पटौदी महापंचायत में भड़काऊ भाषण देने वाला रामभक्त गोपाल गिरफ्तार

हरियाणा के पटौदी में रामलीला ग्राउंड पर भड़काऊ बयान देने वाले रामभक्त गोपाल को हरियाणा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. रामभक्त गोपाल को पटौदी से ही गिरफ्तार किया गया है. उसने बीती 4 जुलाई को पटौदी में हुई सभा में भड़काऊ बयान दिया था.

गोपाल को पटौदी पुलिस ने गिरफ्तार किया है. गोपाल को पटौदी पुलिस ने गिरफ्तार किया है.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 4 जुलाई को दिया था भड़काऊ भाषण
  • सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था भाषण

जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia Millia Islamia University) के बाहर प्रदर्शनकारियों पर फायरिंग करने वाले रामभक्त गोपाल (Ram Bhakt Gopal) को अब भड़काऊ भाषण देने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है. उसे हरियाणा के पटौती से पुलिस ने गिरफ्तार किया है. रामभक्त गोपाल ने पटौदी (Pataudi) में महापंचायत के दौरान भड़काऊ भाषण दिया था. इसके बाद गुरुग्राम (Gurugram) में उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया था. 

दरअसल, हरियाणा के पटौदी में रामलीला ग्राउंड में 4 जुलाई को लव जिहाद (Love Jihad) और धर्मांतरण (Religious Conversion) को लेकर एक महापंचायत का आयोजन किया गया था. इसी महापंचायत में रामभक्त गोपाल ने भड़काऊ भाषण देते हुए कहा था पटौदी से उन आतंकवादियों और जिहादी मानसिकता के लोगों को चेतावनी देना चाहता हूं. गोपाल अगर CAA के समर्थन में 100 किलोमीटर जामिया जा सकता है तो पटौदी ज्यादा दूर नहीं है.

गोपाल का भड़काऊ भाषण सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था, जिसके बाद उसके खिलाफ केस दर्ज करने की मांग उठने लगी थी. बाद में हरियाणा पुलिस ने उसके खिलाफ FIR दर्ज की और सोमवार को उसे गिरफ्तार कर लिया गया. बताया जा रहा है कि जामिया के बाहर फायरिंग के वक्त गोपाल की उम्र 17 साल थी, इसलिए वो छूट गया था, लेकिन अब वो बालिग हो चुका है, इसलिए उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई हो सकती है.

ये भी पढ़ें-- भागवत की नसीहत बेअसर! पटौदी में लव जिहाद के खिलाफ महापंचायत में बीजपी नेता का भड़काऊ भाषण

जामिया में फायरिंग की बात मानी थी

भड़काऊ भाषण पर आजतक से बात करते हुए गोपाल ने कबूल किया था कि जामिया में उसने फायरिंग की थी. उसने कहा, 'उस वक्त मैं सविंधान के हिसाब से नाबालिग था, मैं देश विरोधियों को संदेश देना चाहता था, इसलिए फायरिंग की, जेवर से पिस्टल लेकर गया था, जामिया में पुलिस पर हमला हो रहा था, शरजील जैसे राष्ट्र विरोधी हमला कर रहे थे.'

पटौदी में दिए गए भड़काऊ बयान पर गोपाल ने कहा था कि 'मैं किसी सम्प्रदाय के खिलाफ नहीं हूं, लेकिन अब जिहाद और देश विरोधी मानसिकता के लोगों के खिलाफ हूं, झूठी दलील दी जा रही है कि मैंने भड़काऊ बयान दिया, मैंने लव जिहाद और धर्मांतरण के खिलाफ बोला है, भड़काऊ बयान नहीं दिया है.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें