scorecardresearch
 

प्रतापगढ़: फरार चल रहा था रेप का आरोपी, घर पर बुलडोजर पहुंचते ही कर दिया सरेंडर

प्रतापगढ़ में महिला के साथ रेप की घटना को अंजाम देने वाला आरोपी फरार हो गया था. इसके बाद उसके घर पर जैसे ही प्रशासन का बुलडोजर पहुंचा तो अगले ही दिन आरोपी ने सरेंडर कर दिया.

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ की घटना
  • बुलडोजर पहुंचते ही आरोपी ने किया सरेंडर

उत्तर प्रदेश में अपराधियों में बुलडोजर का खौफ बढ़ता जा रहा है. अब प्रतापगढ़ में महिला के साथ रेप की घटना को अंजाम देने वाले आरोपी के घर पर जैसे ही प्रशासन का बुलडोजर पहुंचा तो अगले ही दिन आरोपी ने सरेंडर कर दिया. आरोपी कई दिनों से फरार था और उसकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही थी.

इस मामले में एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने कहा कि अपराध और अपराधियों के प्रति जो जीरो टॉलरेंस की नीति है, उसके तहत हम आने वाले समय में भी कार्य करेंगे, बदमाशों में कानून का भय है, उनको लगता है कि अगर वह भागेंगे तो उनके विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी, जिसकी वजह से लोग सरेंडर कर रहे हैं.'

गौरतलब है कि प्रतापगढ़ में एक भी विभत्स घटना सामने आई थी, जिसमें रेलवे स्टेशन पर एक महिला के साथ बलात्कार किया गया था. आरोपी फरार चल रहा था. उसके पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही थी. इसके साथ ही उसके घर पर बुलडोजर लेकर एक टीम पहुंच गई. इसके बाद अपराधी ने आत्मसमर्पण कर दिया.

बुलडोज़र के डर से आरोपी के सरेंडर करने पर जब एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार से सवाल हुआ तो उन्होंने बुलडोजर के डर से सरेंडर की बात को तो खारिज किया, लेकिन यह जरूर कहा कि  अपराधियों में कानून खौफ है और होना चाहिए, हम आगे भी ऐसे मामलों में कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे.

किन पर चलता है प्रशासन का बुलडोजर?

एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने कहा कि दो तरह के केस में बुलडोजर चलता है, पहला अगर कोई सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा कर लिया है या किसी ने अवैध निर्माण करा रखा है और नोटिस देने के बाद भी खुद नहीं तोड़ता तब हम ध्वस्तीकरण की कार्रवाई करते हैं, उसके लिए एक विधिक प्रक्रिया अपनाई जाती है.

दूसरा जो अपराधी अपराध के बाद लगातार भाग रहा हो, कानूनी प्रक्रिया और वारंट के बाद भी सरेंडर नहीं करें तब प्रशासन उसके अपराध से कमाई संपत्ति पर कुर्की का आदेश लेने के बाद बुलडोजर चलाने की कार्रवाई करती है, लेकिन इसके लिए जरूरी है कि वह संपत्ति अपराध से कमाई कर जुटाई गई हो.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें