scorecardresearch
 

MP: रिटायर्ड सैनिक का पुलिस पर आरोप, एक्सीडेंट केस में फंसाने की धमकी दी, फिर पीटा

मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में एक दुर्घटना के बाद भूतपूर्व सैनिक ने कुछ पुलिसवालों से घटना पर मौजूद बाइक सवारों पर एफआईआर दर्ज कराने की बात कही. लेकिन पुलिसवालों ने उल्टा भूतपूर्व सैनिक को एक्सीडेंट केस में फंसाने की धमकी दी और 5000 रुपये की रिश्वत की मांग की.

MP Crime (प्रतीकात्मक फोटो) MP Crime (प्रतीकात्मक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सैनिक ने एडिशनल एसपी को दिया ज्ञापन
  • भूतपूर्व सैनिकों के संगठन ने की कार्रवाई की मांग

मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में रिटायर्ड सैनिक के साथ पुलिस ने बुरी तरह मारपीट की गई. रिटायर्ड सैनिक का आरोप है कि कुछ पुलिसकर्मियों ने उनको एक्सीडेंट केस में फंसाने की धमकी दी और उनसे 5000 रुपये की रिश्वत की मांग की. जब  भूतपूर्व सैनिक ने उनकी बात नहीं मानी तो थाने में ले जाकर उनके साथ बुरी तरह मारपीट की गई.

इस घटना के बाद भूतपूर्व सैनिकों के संगठन के जिला सदस्यों ने एडिशनल एसपी संजय साहू को आवेदन देकर सभी पुलिसकर्मियों पर कठोर कार्रवाई करने की मांग की है. साथ ही उनका कहना है कि अगर उचित कार्रवाई नहीं की जाती है तो संगठन भविष्य में प्रदर्शन करेगा. 

भूतपूर्व सैनिक सुनील शर्मा ने बताया कि वह मंगलवार की रात 8:00 बजे के समय हनुमान मंदिर से लौट रहे थे. तभी सामने से तेज रफ्तार से आ रही बाइक से उनकी कार की टक्कर हो गई. इस घटना में बाइक पर सवार दोनों युवकों और बाइक को कोई क्षति नहीं पहुंची. उल्टा उनकी कार का बोनेट टूट गया था.

भूतपूर्व सैनिक ने आगे बताया कि उसी समय दुर्घटनास्थल पर कोतवाली पुलिस के दो जवान वहां पहुंचे. सब भूतपूर्व सैनिक सुनील ने पुलिस आरक्षक से थाने चलकर दोनों युवकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की बात कही. लेकिन पुलिस ने सुनील को एक्सीडेंट केस में फंसाने की धमकी देकर 5000 रुपये की रिश्वत की मांग कर डाली. वहीं, भूतपूर्व सैनिक थाने चलकर रिपोर्ट दर्ज करने की बात पर अड़े रहे. 

इस पर पुलिस ने भूतपूर्व सैनिक के साथ गाली गलौज की. सुनील के विरोध करने पर तीन पुलिसकर्मी धर्मेंद्र, राजकुमार और एक अन्य पुलिसकर्मी ने उनका मोबाइल छीनकर हथकड़ी पहनाकर उन्हें बंदी गृह में डाल दिया. थोड़ी देर बाद सिविल ड्रेस में आए तीन अन्य पुलिसकर्मी विजय सुनील और कमल ने भूतपूर्व सैनिक के साथ मारपीट की. 

इस मारपीट के कारण भूतपूर्व सैनिक की आंख और पीठ पर गहरी चोट आई है. सुनील को सुबह तक लॉकअप में रखा गया. सुबह भूतपूर्व सैनिक सुनील ने मेडिकल जांच कराने को कहा तो पुलिसवालों ने जिला अस्पताल में इलाज कराकर उन्हें घर भेज दिया. इस पूरी घटना के बाद भूतपूर्व सैनिक के संगठन के जिला सदस्यों ने एडिशनल एसपी संजय साहू को आवेदन देकर सभी पुलिसकर्मियों पर कठोर कार्रवाई करने की मांग की है. साथ ही अगर उचित कार्रवाई नहीं की जाती है तो संगठन ने भविष्य में प्रदर्शन किए जाने की चेतावनी भी दी है.

इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए विदिशा अतिरिक्त  पुलिस अधीक्षक संजय साहू का कहना है कि पूर्व सैनिकों ने ज्ञापन सौंपा है. इसमें एक सैनिक ने आरक्षक पर मारपीट का आरोप लगाया है. इस मामले की जांच के लिए सीएसपी को जिम्मेदारी सौंपी गई है. जांच में दोषी पाए जाने वालों पर कार्रवाई की जाएगी.

(इनपुट-विवेक ठाकुर)

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें