scorecardresearch
 

MP: रेमडिसिविर और ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी पर बड़ा एक्शन, 21 आरोपियों पर लगा NSA

मध्य प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सरकार ने बड़ी कार्रवाई की. प्रदेश के गृह विभाग ने राज्य के अलग-अलग जिलों में कालाबाज़ारी में पकड़े गए आरोपियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) की कार्रवाई को मंजूरी दे दी है. 

मध्य प्रदेश पुलिस (प्रतीकात्मक फोटो) मध्य प्रदेश पुलिस (प्रतीकात्मक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • रेमडिसिविर और ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी करने वालों पर एक्शन
  • 21 आरोपियों पर लगाया गया NSA

मध्य प्रदेश में कोरोना महामारी के दौरान भी रेमडेसिविर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सरकार ने बड़ी कार्रवाई की. मध्य प्रदेश के गृह विभाग ने राज्य के अलग-अलग जिलों में रेमडिसिविर और ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी में पकड़े गए आरोपियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) की कार्रवाई को मंजूरी दे दी है. 

गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ राजेश राजौरा ने 'आजतक' से बात करते हुए बताया कि इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर और जबलपुर में पुलिस ने रेमडेसिविर की कालाबाज़ारी के आरोप में कुल 20 आरोपियों को गिरफ्तार किया था. इसके अलावा सतना में एक आरोपी को ऑक्सीजन सिलिंडर की जमाखोरी और कालाबाज़ारी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. इन सभी 21 लोगों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) की कार्रवाई की गई थी जिसे शुक्रवार को गृह विभाग ने मंज़ूरी दे दी है. 

गृह विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिन लोगों पर रासुका लगाई गई है उनके नाम हैं:

इंदौर: उज्जवल पटेल, बजरंग राठौर, अंकित पटवारी, मान सिंह मीणा, शुभम परमार, नीलेश चौहान, भूपेंद्र उर्फ सचिन परमार, अमित अवस्थी, पंजाबराव पंवार

उज्जैन: लोकेश आंजना, वैभव पांचाल, राजेश नरवरिया, सरफराज शाह, कुलदीप चौहान, भानूप्रताप राजपूत, हरिओम आंजना, प्रियेश चौहान

जबलपुर: नितिन विश्वकर्मा, सुदामा बघेल

ग्वालियर:  छोटू परिहार

सतना: राजीव कुमार जैन

रेमडिसिविर और ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी पर मध्य प्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने कहा है कि कोरोना के इलाज में आवश्यक इंजेक्शन रेमडेसिविर और ऑक्सीजन की आपूर्ति को बाधित करने वालों के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा.  मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जायेगा. 

वहीं नहीं उन्होंने कहा है कि रेमडेसिविर इंजेक्शन का वितरण केवल अस्पताल एवं संस्थाओं में हो, ऐसी व्यवस्था की गाई है. ऐसे में अस्पतालों में भर्ती मरीजों को आसानी से इंजेक्शन उपलब्ध हो सकेंगे. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें