scorecardresearch
 

PM मोदी, अमित शाह का सिर कलम करने की धमकी देने वाला गिरफ्तार, जानें पूरा मामला

हैदराबाद की पुलिस का कहना है कि राजस्थान के उदयपुर की घटना के बाद से वे सोशल मीडिया पोस्ट पर निगरानी रख रहे हैं. बता दें कि हैदराबाद में भारतीय जनता पार्टी की 2 और 3 जुलाई की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होनी है. बैठक से दो दिन पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पीएम मोदी और अमित शाह को धमकी देने के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

X
अमित शाह, योगी आदित्यनाथ और पीएम मोदी. -फाइल फोटो अमित शाह, योगी आदित्यनाथ और पीएम मोदी. -फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नूपुर शर्मा ने की थी विवादित टिप्पणी
  • हैदराबाद में होनी है भाजपा की बैठक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सिर काटने की धमकी देने वाले युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी ने धमकी भरा पोस्ट सोशल मीडिया पर डाला था जिसकी जानकारी के बाद पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गई थी. फिलहाल, पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. 

हैदराबाद पुलिस ने बताया कि आरोपी अब्दुल मजीद ने सोशल मीडिया पोस्ट में कहा था कि निलंबित भाजपा प्रवक्ता नुपुर शर्मा की ओर से पैगंबर मोहम्मद पर की गई विवादास्पद टिप्पणी के लिए राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ (RSS) और भाजपा नेताओं को माफी मांगनी चाहिए, अन्यथा उनके सिर अलग कर दिए जाएंगे.

पुलिस ने कहा कि मुगलपुरा पुलिस ने भड़काऊ पोस्ट की जानकारी के खिलाफ अब्दुल माजिद के खिलाफ मामला दर्ज किया था और उसे बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया है. एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी को एक स्थानीय अदालत में पेश किया गया. कोर्ट ने पुलिस से आरोपी को दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 41ए के तहत नोटिस देने का निर्देश दिया.

सीआरपीसी की धारा 41 ए में कहा गया है कि ऐसे मामलों में जहां किसी की गिरफ्तारी तत्काल आवश्यक नहीं है, पुलिस उस व्यक्ति (पुलिस अधिकारी के सामने पेश होने के लिए) को निर्देश देने के लिए एक नोटिस जारी करेगी जिसके खिलाफ उचित शिकायत की गई है. अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने माजिद को नोटिस जारी किया, जिसे बाद में छोड़ दिया गया.

पैगंबर के खिलाफ की थी विवादित टिप्पणी 

बता दें कि जून महीने की शुरुआत में भाजपा से निलंबित नूपुर शर्मा ने एक टीवी डिबेट में पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी की थी. इसके बाद विवाद काफी बढ़ गया था. यहां तक कि अरब देशों ने भी नूपुर शर्मा की टिप्पणी की निंदा की थी. बीजेपी ने नूपुर शर्मा को पार्टी से निलंबित कर दिया है. बीजेपी की तरफ से एक पत्र जारी कर कहा गया था कि इस तरह की टिप्पणी भाजपा के मूल विचार के विरोध में है.

वहीं, पार्टी से निलंबित होने के बाद नूपुर शर्मा ने उनकी टिप्णणी को लेकर माफी मांगी थी. उन्होंने कहा था कि मैं अपने शब्द वापस लेती हूं. उन्होंने कहा कि मेरी मंशा किसी को ठेस पहुंचाने की नहीं थी, अगर मेरे शब्दों से किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है तो मैं अपने शब्द वापस लेती हूं.

ये भी पढ़ें


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें