scorecardresearch
 

लखनऊ: पुलिस की वर्दी में आए बदमाशों ने परिवार को बनाया बंधक, फिर ठेकेदार की गोली मारकर की हत्या

यूपी की राजधानी लखनऊ में दिनदहाड़े एक ठेकदार की गोली मारकर हत्या कर दी गई. आरोप है कि बदमाशों ने मृतक के परिवार को कमरे में बंधक बना लिया. इसके बाद कनपटी में गोली मारकर हत्या कर दी. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस मामले की जांच कर रही है.

X
लखनऊ में ठेकेदार की कर दी हत्या. (Representational image) लखनऊ में ठेकेदार की कर दी हत्या. (Representational image)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • वारदात होते ही ठेकेदार के बॉडीगार्ड फरार
  • परिवार को बंधक बनाकर दिया वारदात को अंजाम

Lucknow News: लखनऊ में पुलिस की वर्दी में आए बदमाशों ने ठेकेदार के सिर में और एक गर्दन में गोली मारकर हत्या कर दी. वारदात होते ही ठेकदार की सुरक्षा में तैनात तीन प्राइवेट गनर भी मौके से फरार हो गए. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है. यह घटना लखनऊ के नीलमथा की है. बदमाशों ने ठेकेदार के परिवार को कमरे में बंधक बनाकर वारदात को अंजाम दिया. ठेकेदार के निजी सुरक्षा गार्ड वारदात होते ही फरार हो गए. घटना की जानकारी होने पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और पड़ताल शुरू कर दी है.

जानकारी के मुताबिक, लखनऊ के कैंट थाने के आर्मी एरिया के नजदीक निलमथा में ठेकेदार वीरेंद्र उर्फ गोरख ठाकुर की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई. ठेकेदार के परिजन का कहना है कि बदमाश पुलिस की वर्दी में आए थे. इनके दो साथी सफेद पैंट, टीशर्ट में आर्मी की गोल कैप लगाए थे. बदमाशों ने ठेकेदार के परिवार और गार्डों को बंधक बना लिया था. गार्डों की बंदूकें भी कब्जे में ले ली थीं. 

सीसीटीवी में कैद हुए हत्या के आरोपी.
सीसीटीवी में कैद हुए हत्या के आरोपी.

पुलिस के अनुसार, बदमाश सीसीटीवी में कैद हुए हैं. इसमें दो ने पुलिस की वर्दी पहन रखी थी. कंधे पर बिहार पुलिस का बिल्ला था. वर्दी पहने बदमाशों को देखते ही दुकानदारों ने समझा कि GST की टीम आ गई तो दुकानदार शटर डाउन करने लगे, लेकिन बदमाश इधर-उधर देखे बिना आगे बढ़ते गए और वीरेंद्र ठाकुर के घर की तरफ जाने वाली गली में घुस गए.

यह भी पढ़ेंः गैंगस्टर शाहरुख को दी गई थी सिद्धू मूसेवाला की सुपारी, पूछताछ में सामने आया इस फेसम पंजाबी सिंगर के मैनेजर का नाम

पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर के मुताबिक, वीरेंद्र रेलवे के स्टैंड के ठेके लेता था. कोलकाता से लेकर यूपी तक उसके पास करोड़ों के ठेके थे. वह बिहार पुलिस का मोस्ट वांटेड अपराधी भी था. बिहार में उसके खिलाफ 23 मुकदमे दर्ज थे. चारबाग स्टेशन के एक ठेके को लेकर 2019 में उसका विवाद हुआ था. वीरेंद्र ने दूसरी शादी की थी. पहली पत्नी से 13 साल बाद अलगाव हो गया था. पहली पत्नी से 3 बच्चे हैं. वह दूसरी बीवी के साथ रहता था. हालांकि पुलिस संबंधों के लेकर भी जांच कर रही है.

साल 2019 में वीरेंद्र की हत्या के लिए उसके विरोधी ठेकेदार ने अपनी बेटी से वीडियो कॉल करवाकर उसे हनीट्रैप में फंसाया था. इसके बाद दो लड़कियों को भेजकर उसे चारबाग के होटल में बुलाया गया. वीरेंद्र होटल पहुंचता, इसके पहले ही छोटी लाइन के पास उसे गोली मार दी गई. गोलियां उसकी रीढ़ की हड्डी में लगीं और वह अपाहिज हो गया. इस केस में पुलिस ने दो महिलाओं और गोली मारने वाले एक इंजीनियरिंग छात्र को कोलकाता से गिरफ्तार किया था.

यह भी पढ़ेंः

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें