scorecardresearch
 

दिल्ली: PMO में खुद को एडवाइजर बताने वाला JNU का जालसाज छात्र अरेस्ट, लाखों रुपये डकारे

दिल्ली पुलिस ने बताया कि अनिकेत डे नाम का ये छात्र एक्सपोर्ट के नाम पर जालसाजी कर रहा था. सऊदी अरब में फेस मास्क की खेप का निर्यात सुनिश्चित कराने के लिए इस छात्र ने जाली नोटिफिकेशन जमा करवाया था.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एक्सपोर्ट के नाम पर जालसाजी का आरोप
  • कस्टम क्लियरेंस को लेकर लिए 7 लाख
  • JNU से एमए कर रहा छात्र गिरफ्तार

प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) में खुद को सलाहकार बताने वाले जेएनयू के एक छात्र को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इस युवक की उम्र मात्र 22 साल है और वह जेएनयू से एमए की पढ़ाई कर रहा है. इस शख्स को पुलिस पहले भी धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार कर चुकी है. 

दिल्ली पुलिस ने बताया कि अनिकेत डे नाम का ये छात्र एक्सपोर्ट के नाम पर जालसाजी कर रहा था. सऊदी अरब में फेस मास्क की खेप का निर्यात सुनिश्चित कराने के लिए इस छात्र ने जाली नोटिफिकेशन जमा करवाया था. 

इंदिरा गांधी एयरपोर्ट से कस्टम क्लियरेंस कराने के नाम पर इस शख्स ने कंपनी से 7 लाख रुपये लिए थे. अधिकारियों ने जब अनिकेत डे का परिचय पूछा तो उसने खुद को पीएमओ में सलाहकार बताया. 

देखें: आजतक LIVE TV

लेकिन जब अधिकारियों ने विस्तृत जांच की तो इसका राज खुल गया. एयरपोर्ट अधिकारियों ने इस जालसाज की सूचना IGI एयरपोर्ट थाने की पुलिस को दे दी. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए अनिकेत डे को तुरंत गिरफ्तार कर लिया. 

इस शख्स के पास से पुलिस ने पीएम कार्यालय की नकली आईडी और विजिटिंग कार्ड बरामद किए हैं. आरोपी इससे पहले भी ठगी के आरोप में गिरफ्तार हो चुका है. पुलिस अब इस बात की जांच कर रही है कि क्या इस शख्स ने पहले भी एक्सपोर्ट के नाम पर लोगों से पैसे ऐंठे हैं.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें