scorecardresearch
 

'ये दोस्ती हम नहीं छोड़ेंगे, तोड़ेंगे दम मगर...' गीत गाते थे दोनों दोस्त, अब साथ में की आत्महत्या

डबल सुसाइड की ये वारदात पलामू के नौडीहा बाजार थाना क्षेत्र के चराई-2 की है. जहां सूचना मिलने के बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और दोनों शवों को फंदे से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया.

X
दोनों दोस्तों की लाशें पेड़ से साड़ी के फंदे पर लटकी हुई थीं दोनों दोस्तों की लाशें पेड़ से साड़ी के फंदे पर लटकी हुई थीं
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दोनों युवकों की दोस्ती इलाके में थी मशहूर
  • एक दोस्त को प्यार में मिला था धोखा
  • दोनों ने साथ मिलकर लगा ली फांसी

झारखंड के पलामू में प्यार, दोस्ती और धोखे से लबरेज एक खौफनाक कहानी सामने आई है. जहां फिल्म 'शोले' के जय-वीरू जैसी दोस्ती रखने वाले दो युवकों ने एक साथ आत्महत्या कर ली. उनमें से एक युवक को प्यार में धोखा मिला था. जिसकी वजह से वह तनाव में आकर जान देने जा रहा था. आखिरी वक्त में उसने अपने दोस्त को पूरी कहानी बता दी. फिर क्या था, उस दूसरे युवक ने दोस्त के साथ खुद भी मरने का फैसला कर लिया. इसके बाद दोनों युवकों की लाश एक पेड़ पर फंदे से लटकी हुई मिली.

घटना पलामू के नौडीहा बाजार थाना क्षेत्र के चराई-2 की है. मंगलवार को मामले की सूचना मिलने के बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया. मरने वाले युवकों की पहचान सुद्दु भुइयां और रामजन्म के रूप में की गई है.

पुलिस ने बताया कि मरने वाले दो युवकों में से एक दिव्यांग था. यह पूरी घटना प्रेम प्रसंग में मिले धोखे के कारण घटी है. सुद्दु भुइयां नाम के युवक का किसी लड़की के साथ प्रेम संबंध था. दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया था. लड़की ने लड़के से ब्रेकअप कर लिया. सुद्दु इस घटना से बेहद तनाव में आ गया था. उसने इस बात की जानकारी अपने दिव्यांग दोस्त रामजन्म को भी दी. 

इसे भी पढ़ें--- यूपी के बाहुबलीः महज 24 साल की उम्र में राजनीति में रखा था कदम, इतनी बार से विधायक हैं राजा भैया

सुद्दु ने अपने दोस्त रामजन्म को बताया कि अब वो जिंदा नहीं रहना चाहता. वो फांसी लगाकर आत्महत्या करने जा रहा है. दोस्त का यह फैसला सुनकर रामजन्म ने भी उसके साथ आत्महत्या करने का फैसला कर लिया. शाम करीब चार बजे रामजन्म खाना खाने के बाद घर से साड़ी लेकर निकला. दोनों एक सुनसान जगह पर पहुंचे और एक साथ पेड़ से लटक कर आत्महत्या कर ली. 

थाना प्रभारी रंजीत कुमार ने बताया कि इससे पहले भी सुद्दु ने दो बार आत्महत्या का प्रयास किया था, लेकिन वह असफल रहा था. छतरपुर इंस्पेक्टर वीर सिंह मुंडा ने कहा कि पुलिस मामले में छानबीन कर रही है.

अक्सर गुनगुनाते रहते थे शोले का गीत

स्थानीय लोगों ने बताया कि दोनों युवकों में बेहद गहरी दोस्ती थी. रामजन्म ट्राइ साइकिल से चलता था. दोस्त अक्सर उसकी साइकिल को धक्का देता था. दोनों अक्सर फिल्म शोले का गीत 'ये दोस्ती हम नहीं छोड़ेंगे, तोड़ेंगे दम मगर...' गुनगुनाते रहते थे. दोनों ने कई बार गांव के लोगों के सामने यह बात दोहराई थी कि हम साथ जिएंगे साथ मरेंगे. आखिरकार यह बात सच साबित हो गई. इस घटना के बाद से इलाके में शोक की लहर है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें