scorecardresearch
 

MP: महिला को पति-भाभी ने पिलाया तेजाब, गल गईं अंतड़ियां

ग्वालियर में एक 25 वर्षीय महिला को उसके पति और भाभी ने तेजाब पिला दिया. महिला का आरोप है कि उसके पति के दूसरी महिला से संबंध है, जिसके बारे में उसे पता चल गया था. इसी बात से नाराज होकर उसके पति ने उसे तेजाब पिला दिया. महिला अभी दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती है, जहां उसका इलाज जारी है.

महिला आयोग के एक्शन पर पुलिस ने जोड़ी एसिड अटैक और हत्या की कोशिश की धारा. (प्रतीकात्मक तस्वीर- इंडिया टुडे) महिला आयोग के एक्शन पर पुलिस ने जोड़ी एसिड अटैक और हत्या की कोशिश की धारा. (प्रतीकात्मक तस्वीर- इंडिया टुडे)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 25 वर्षीय महिला को पिलाया तेजाब
  • महिला की हालत बेहद नाजुक है
  • पुलिस का ढीला रवैया भी आया सामने

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक 25 वर्षीय महिला को उसके पति और भाभी ने तेजाब पिला दिया, जिसके बाद से उसकी हालत नाजुक बनी हुई है. पीड़ित महिला का आरोप है कि उसे उसके पति के नाजायज संबंधों के बारे में पता चल गया था. इसी बात से उसका पति नाराज हो गया और उसने अपनी भाभी के साथ मिलकर तेजाब पिला दिया. महिला को पहले ग्वालियर के ही अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन हालत बिगड़ने के बाद उसे दिल्ली रेफर कर दिया गया, जहां उसका इलाज जारी है. वहीं, इस मामले में पुलिस का ढीला रवैया भी सामने आया है.

28 जून को पति ने पिला दिया था तेजाब

जानकारी के मुताबिक, महिला के पति और उसकी भाभी ने 28 जून को तेजाब पिला दिया था. पड़ोसियों ने गंभीर हालत में महिला को ग्वालियर के ही एक अस्पताल में भर्ती करा दिया था, लेकिन उसकी हालत लगातार खराब होती जा रही थी, जिसके बाद महिला को दिल्ली रेफर कर दिया गया, जहां उसका इलाज अभी चल रहा है. महिला ने अपने बयान में बताया है कि उसे उसके पति के नाजायज संबंधों के बारे में पता चल गया था, इसी बात से नाराज होकर उसके पति ने भाभी के साथ मिलकर तेजाब पिला दिया.

ये भी पढ़ें-- गाजियाबादः बड़ी बहन से लव मैरिज, साली पर बुरी नीयत, विरोध करने पर जीजा ने डाला तेजाब

महिला की हालत बेहद खराब

महिला की जान तो बच गई है, लेकिन उसकी हालत बेहद नाजुक बनी हुई है. अस्पताल के डॉक्टर्स ने बताया कि महिला के अंदरूनी अंग पूरी तरह से गल गए हैं. उसकी अंतड़ियां गल गई हैं और आंते बाहर आ गई हैं. अब महिला न तो पानी पी पा रही है और न ही खाना खा पा रही है. उसे लगातार खून की उल्टियां भी हो रही हैं.

महिला आयोग ने पीड़िता से की मुलाकात

इसी बीच, महिला के भाई ने 181 पर कॉल करके दिल्ली महिला आयोग (DCW) को कॉल करके घटना के बारे में जानकारी दी. महिला आयोग ने ही उस महिला को अस्पताल में भर्ती करवाया और उसका बयान दर्ज करवाया. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) और सदस्य प्रमिला गुप्ता (Pramila Gupta) ने अस्पताल पहुंचकर पीड़िता से मुलाकात भी की. महिला आयोग की टीम पिछले दो दिन से पीड़िता के साथ है और उसे इंसाफ दिलवाने के लिए स्वाति मालीवाल ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) को पत्र भी लिखा है.

ये भी पढ़ें-- आगरा: लड़की ने बॉयफ्रेंड पर फेंका तेजाब, जलकर मौत, दूसरी जगह शादी तय होने से थी नाराज

पुलिस का ढीला रवैया भी सामने आया

इस पूरे मामले को लेकर एमपी पुलिस (MP Police) का ढीला रवैया भी सामने आया है. पुलिस ने 3 जुलाई को इस मामले में FIR दर्ज की थी, जिसमें केस सिर्फ घरेलू हिंसा (Domestic Violence) का बनाया. स्वाति मालीवाल के एक्शन के बाद पुलिस ने FIR में एसिड अटैक (Acid Attack) और हत्या की कोशिश (Attempt To Murder) की धाराएं भी जोड़ीं. एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी किया जा चुका है.

मामले को लेकर स्वाति मालीवाल ने कहा, जब ये मामला संज्ञान में आया तो दिल सहम गया. कैसे एक 25 साल की लड़की के साथ बर्बरता की गई. उसके ससुराल वालों ने उसे मारने की कोशिश की. उन्होंने बताया कि डॉक्टर्स का कहना है कि लड़की की जान शायद ही बच सके. उन्होंने कहा कि जब पीड़िता खुद कह रही है कि उसके पति ने उसे तेजाब पिलाया, उसके बावजूद एमपी पुलिस ने कमजोर FIR दर्ज की.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें