scorecardresearch
 

7Baje7Minute: हाथरस की निर्भया को न्याय दिलाने सड़कों पर उतरे लोग

हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद लोगों में गुस्सा है. हैवानों को कड़ी से कड़ी से सजा देने की मांग हो रही है. वहीं, पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए सोशल मीडिया पर मुहिम छिड़ गई है. 

हाथरस की निर्भया को न्याय दिलाने सड़कों पर उतरे लोग हाथरस की निर्भया को न्याय दिलाने सड़कों पर उतरे लोग
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पीड़िता की मौत के बाद लोगों में गुस्सा
  • सोशल मीडिया पर शुरू हुई मुहिम
  • पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए कैंपेन

हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद लोगों में गुस्सा है. हैवानों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की जा रही है. वहीं, पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए सोशल मीडिया पर मुहिम छिड़ गई है. ट्विटर पर हैशटैग 7 बजे 7 मिनट के नाम पर कैंपेन की शुरुआत की गई है.

इस मुहिम से जरिए लोग पीड़िता को न्याय दिलाने की मांग कर रहे हैं. लोगों में यूपी की योगी सरकार के खिलाफ गुस्सा भी देखा जा रहा है. एक यूजर ने लिखा कि सभी लोग पीड़िता के लिए आवाज उठाएं. यूपी के सिस्टम से एक बेटी मारी गई. 

एक यूजर ने लिखा कि मुझे अपनी बहन के लिए न्याय चाहिए. मेरे साथ आओ और आवाज उठाओ. एक यूजर ने लिखा कि आज 7 बजे 7 मिनट पर कैंडल मार्च निकलेगा. क्या आप सभी तैयार हैं. वहीं, एक शख्स ने लिखा कि बहन बेटियां आपके घर में भी होंगी. अगर आज आप चुप रहे तो यह घटना किसी के भी घर में हो सकती है. 

सोशल मीडिया के अलावा जमीन पर भी लोगों का गुस्सा देखने को मिल रहा है. पीड़िता की मौत के बाद गुस्साए लोगों ने हाथरस के चंदपा थाने के पास सड़क जाम कर दी है. उन्हें समझाने के लिए पुलिस और प्रशासन के अधिकारी पहुंच गए हैं. 

पिता और भाई धरने पर बैठे

वहीं, हाथरस गैंगरेप पीड़िता के पिता और भाई सफदरजंग अस्पताल में धरने पर बैठ गए हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि हमारी अनुमति के बिना शव को अस्पताल से हाथरस ले जाया गया. हमें कोई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट नहीं मिली. हमने किसी कागजात पर हस्ताक्षर नहीं किए. परिवार का कहना है कि हमारी अनुमति के बिना अस्पताल शव को कैसे ले जा सकता है.

पीड़िता के भाई ने कहा कि पिता ने एंबुलेंस ड्राइवर से बात की है. एंबुलेंस यमुना एक्सप्रेस वे को पार कर चुकी है. पिता ने ड्राइवर से वापस आने और पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट दिखाने को कहा है. अगर ये सब नहीं होता है तो हाथरस में शव को कोई भी स्वीकार नहीं करेगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें