scorecardresearch
 

दिल्ली क्राइम ब्रांच ने लूट करने वाले बांग्लादेशी गिरोह का किया पर्दाफाश, चार लुटेरे गिरफ्तार 

राजधानी दिल्ली में लूट और डकैती की कई बड़ी वारदातों को अंजाम देने वाले बांग्लादेशी गिरोह के चार बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है. क्राइम ब्रांच द्वारा हिरासत में आए बदमाशों से पूछताछ की जा रही है. 

दिल्ली क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में बांग्लादेशी गिरोह के चारों बदमाश दिल्ली क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में बांग्लादेशी गिरोह के चारों बदमाश
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बांग्लादेश के रहने वाले हैं ये चारों बदमाश 
  • 100 से ज्यादा वारदातों को दे चुके हैं अंजाम
  • खिड़की की ग्रिल काट कर चोरी करते थे बदमाश

दिल्ली में लूट, डकैती के साथ चोरी की कई बड़ी वारदातों को अंजाम देने वाले बांग्लादेशी गिरोह के चार बदमाशों को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया है. इनके पास से एक पिस्टल, दो देशी कट्टों के साथ अन्य सामान भी बरामद हुआ है. पूछताछ में इन बदमाशों ने 100 से अधिक वारदातों को अंजाम देने की बात स्वीकार की है.

दिल्ली क्राइम ब्रांच टीम ने ट्रैप लगाकर इस गिरोह के चार बदमाशों को हथियारों के साथ गिरफ्तार किया. ये सभी अरुण जेटली पार्क सिरी फोर्ट के पास एकत्र हुए थे. क्राइम ब्रांच के डीसीपी भीष्म सिंह ने बताया कि ये खूंखार गैंग दिल्ली, औरंगाबाद, बेंगलुरु समेत अन्य राज्यों में भी वारदात को अंजाम दे चुका है. गिरोह के सभी सदस्य मूल रूप से बांग्लादेश के रहने वाले हैं. इनके नाम रफीक लश्कर, मोहम्मद सलीम, अजीजुर रहमान और मोहम्मद रज्जाक बताए गए हैं.

डीसीपी भीष्म सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी बांग्लादेश के रहने वाले हैं. गैंग के सदस्य खानाबदोशों की तरह देश के अलग-अलग हिस्सों में लूटपाट की वारदातों को अंजाम देते हैं. इस गैंग पर 100 से ज्यादा लूट की वारदात अंजाम देने का इल्जाम है. बताया गया कि ये गैंग खिड़की की ग्रिल काट कर चोरी को अंजाम देता था. अगर घर में कोई चोरी के दौरान उठता, तो वे उसे बंदूक या चाकू की नोंक पर बंधक बना लेते. ये सभी मुख्य शहर से दूर किराए का मकान लेकर रह रहे थे. 

गैंग के सदस्यों ने पूछताछ में बताया कि फरीदाबाद, जोधपुर, औरंगाबाद, गुलबर्गा, वापी, बेंगलुरु, पुणे और मुंबई में कई चोरी और लूट की वारदातों को अंजाम दिया है. गैंग सरगना रफीक लश्कर है. रफीक के साथ हिरासत में आए चारों बदमाश देश के कई हिस्सो में कई बार जेल जा चुके हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें