scorecardresearch
 

दिल्ली में चल रहा था फर्जी वीजा रैकेट, ऐसे हुआ भंडाफोड़, दो आरोपी कोलकाता से गिरफ्तार

राजधानी दिल्ली में खुलेआम फर्जी वीजा का नेटवर्क चल रहा था. इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को कोलकाता से गिरफ्तार कर लिया है. इनके पास से कई फर्जी पासपोर्ट और स्टाम्प बरामद हुए हैं.

X
आरोपियों से पुलिस पूछताछ कर रही है. आरोपियों से पुलिस पूछताछ कर रही है.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आरोपियों के पास से फर्जी पासपोर्ट बरामद
  • कोलकाता में छिपे बैठे थे दोनों आरोपी

दिल्ली पुलिस ने फर्जी वीजा नेटवर्क का भंडाफोड़ करते हुए 2 लोगों को गिरफ्तार किया है. इनके पास से 83 पासपोर्ट बरामद हुए हैं जिनमें से 10 पासपोर्ट नेपाली हैं. इनके पास से 15 रूस के फर्जी वीज़ा (Fake Visa) भी बरामद हुए हैं. 4 फर्जी वीजा की रशियन स्टाम्प भी बरामद की गई है. आरोपियों के कब्जे से वीजा पर लगने वाले सैकड़ों मोनोग्राम भी बरामद हुए हैं.

वीजा के नाम पर ऐंठते रहे पैसे

चंपारण के रहने वाले ओमप्रकाश ने चाणक्यपुरी पुलिस स्टेशन में शिकायत की थी कि 2020 में उसने रशियन एम्बेसी का दौरा किया था और रूस जाने के लिए वीजा चाहता था. जहां उसकी मुलाकात संजीव अरोड़ा नाम के शख्स से हुई. संजीव ने ओमप्रकाश को 25,000 रुपये में रूस का वीजा देने का झांसा दिया. ओमप्रकाश ने संजीव को 25 हजार रुपये दे भी दिए. भुगतान होने के बाद संजीव ने ओमप्रकाश से 12,000 रुपये और मांगे. इतना ही नहीं, संजीव ने टिकट और बुकिंग के नाम पर 28,000 रुपये और मांग लिए. ओमप्रकाश ने ये भी दे दिया, लेकिन इसके बावजूद भी उसको वीजा नहीं मिला. 

ये भी पढ़ें-- पोर्न देख रहा था छात्र, फर्जी साइबर पुलिस ने पिता के खाते से 20 हजार ट्रांसफर करवा लिए

ऐसे हुआ भंडाफोड़...

जिसके बाद ओमप्रकाश ने बेस्टल कंपनी का दौरा किया, जहां चारू शर्मा नाम की लड़की ने उसे रूस के वीजा की फोटोकॉपी दी. ओमप्रकाश को इस वीजा पर शक हुआ तो उसने रूस की एम्बेसी में इसकी जांच कराने का फैसला किया. रूस की एम्बेसी से इस वीजा के फर्जी होने का पता चला. जिसके बाद ओमप्रकाश ने चाणक्यपुरी थाने में फर्जीवाड़े की रिपोर्ट लिखवाई.

पुलिस ने संजीव अरोड़ा की लोकेशन ढूंढना शुरू की तो पता चला कि वो कोलकाता में मौजूद है. लिहाजा दिल्ली पुलिस की एक टीम ने संजीव को कोलकाता के बगुइति इलाके से गिरफ्तार कर लिया. संजीव की निशानदेही पर पुलिस ने फर्जी वीजा नेटवर्क के मास्टरमाइंड नंदकिशोर को भी कोलकाता से गिरफ्तार कर लिया.

कई फर्जी पासपोर्ट बरामद

आरोपियों के कब्जे से 73 भारतीय पासपोर्ट, 10 नेपाली पासपोर्ट, 15 फर्जी रूस के वीजा, तीन फर्जी रूस की स्टांप और 23 बंडल होलोग्राम स्टीकर बरामद किए गए हैं. दोनों ही आरोपियों पर जालसाजी के कई मुकदमे दर्ज हैं. पुलिस इनके क्रिमिनल रिकॉर्ड खंगाल रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें