scorecardresearch
 

दिल्लीः ATM कार्ड बदलकर बुजुर्गों के साथ ठगी, 100 वारदातों को दिया अंजाम

पूर्वी दिल्ली जिला पुलिस को पिछले कुछ दिनों से एटीएम के बाहर बुजुर्ग लोगों के साथ ठगी किए जाने की जानकारी मिल रही थी. पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए उस इलाके में गहन तलाशी अभियान चलाया.

ये शातिर ठग किसी भी एटीएम के बाहर खड़े होकर शिकार का इंतजार करते थे ये शातिर ठग किसी भी एटीएम के बाहर खड़े होकर शिकार का इंतजार करते थे
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एटीएम के बाहर खड़े होकर तलाशते थे शिकार
  • मयूर विहार इलाके से पकड़े गए दो शातिर ठग
  • आरोपियों से 79 डेबिट और क्रेडिट कार्ड बरामद

दिल्ली पुलिस ने दो ऐसे शातिर ठगों को गिरफ्तार किया है, जो मदद के नाम पर एटीएम कार्ड बदलकर बुजुर्गों को ठगने का काम करते थे. पूछताछ में पता चला है कि अभी तक आरोपियों ने 100 लोगों को ठगी का शिकार बनाया है. पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से 79 डेबिट और क्रेडिट कार्ड बरामद किए हैं. पकड़े गए आरोपियों की पहचान सुनील कुमार और आमिर के तौर पर हुई है.

दरअसल, पूर्वी दिल्ली जिला पुलिस को पिछले कुछ दिनों से एटीएम के बाहर बुजुर्ग लोगों के साथ ठगी किए जाने की जानकारी मिल रही थी. पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए उस इलाके में गहन तलाशी अभियान चलाया. इसी दौरान मयूर विहार फेज -3 से इस ठग गैंग के 2 शातिर बदमाश पुलिस के हत्थे चढ़ गए. 

देखेंः आज तक Live TV

पुलिस ने दोनों से लंबी पूछताछ की तो पता चला कि वे दोनों शातिर ठग हैं. आरोपियों ने पुलिस के सामने कबूल किया कि वे दोनों एटीएम के बाहर खड़े हो जाते थे. जब कोई बुजुर्ग या कोई ऐसा शख्स जो ठीक से एटीएम ऑपरेट करना नहीं जानता, तो ये मदद के बहाने उनके पास एटीएम में चले जाते थे. 

आरोपी कैश निकालते वक्त मौका देखते और अपने शिकार का कार्ड उसके जैसे एटीएम कार्ड से बदल लेते थे. मदद करने के दौरान ये पिन नम्बर देख लेते थे और फिर बाद में उसी कार्ड से कैश निकाल लेते थे. पुलिस को इस गैंग से जुड़े एक और आरोपी का पता चला है. जिसका नाम अनिल है. वो एक शातिर ठग है, जो चोरी के मामले में गाजियाबाद की जेल में बंद है. पुलिस मामला दर्ज कर इस मामले की जांच कर रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें