scorecardresearch
 

दिल्ली: निजी स्कूल के टीचर ने की आत्महत्या, दो साल से सैलरी नहीं मिलने से था परेशान

दिल्ली के एक निजी स्कूल में पिछले 2 साल से सैलरी न मिलने को लेकर मायूस एक टीचर ने खुदकुशी कर ली.

वेतन न मिलने से था परेशान (प्रतीकात्मक तस्वीर) वेतन न मिलने से था परेशान (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मरने से पहले अनूप ने लिखा सुसाइड नोट
  • सैलरी ना मिलने से था परेशान

राजधानी दिल्ली में स्कूल टीचर की खुदकुशी का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. दिल्ली के एक निजी स्कूल में पिछले 2 साल से सैलरी न मिलने को लेकर मायूस एक टीचर ने खुदकुशी कर ली. मरने से पहले अपने सुसाइड नोट में लिखा की उसको पिछले 2 साल से सैलरी नहीं मिल रही थी. राजधानी दिल्ली के पीतमपुरा इलाके में अपने परिवार के साथ रहने वाले अनूप जोहर नाम के एक अध्यापक ने फांसी के फंदे से लटक कर जान दे दी.

सुसाइड नोट में अनूप जोहर ने लिखा कि उन्हें सैलरी के नाम पर सिर्फ और सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा था. अनूप पीतमपुरा के भानू एनक्लेव में अपने परिवार के साथ रहते थे. परिवार में उनकी पत्नी, भाई और मां हैं. 2 साल से सैलरी ना मिलने की वजह से वह आर्थिक दिक्कतों में चल रहे थे और दबाव लगातार बढ़ता जा रहा था. परिवार की जिम्मेदारी उन्हीं के कंधों पर थी लेकिन सैलरी ना मिलने की वजह से यह कंधे कमजोर पड़ रहे थे.

इस घटना के बाद एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसमें  भाजपा के पूर्व विधायक कुलवंत राणा उनकी पत्नी अनीता राणा का नाम भी लिखा है. दरअसल यह लोग स्कूल के ऑनर है और सैलरी न मिलने के लिए इन्हीं को जिम्मेदार ठहराया गया है इसी वजह से इन दोनों का नाम लिखकर  अध्यापक अनूप ने अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×