scorecardresearch
 

Kanpur: मासूमों पर आफत...नहीं रुक रहीं कुकर्म और दुष्कर्म की वारदातें, हर महीने मिल रहे शव

उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक 9 साल के बच्चे की कुकर्म के बाद हत्या कर दी गई. यह कोई पहला मामला नहीं है. जनपद में इस साल अब तक आधा दर्जन बच्चे और बच्चियों की कुकर्म-दुष्कर्म के बाद हत्या हो चुकी है. हैरानी की बात यह है कि इन घटनाओं में ज्यादातर उनके परिचित ही पकड़े गए हैं. कई मामलों में देखा गया कि आरोपियों ने मोबाइल पर अश्लील फिल्में देखकर वारदात को अंजाम दिया.

X
कानपुर में बच्चों की सेक्स के बाद हत्या का सिलसिला. (सांकेतिक तस्वीर) कानपुर में बच्चों की सेक्स के बाद हत्या का सिलसिला. (सांकेतिक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 6 महीने में छह से ज्यादा बच्चे हो चुके शिकार
  • अश्लील फिल्में बन रहीं सबसे बड़ी वजह

उत्तर प्रदेश के कानपुर में बच्चों से सेक्स और उनकी हत्या का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस साल में अब तक आधा दर्जन से ज्यादा मासूम इस तरह की घटनाओं के शिकार हो चुके हैं. इसको लेकर बच्चों के परिजनों में दहशत पसरी हुई है. बीते कल फिर 9 साल के मासूम का शव मिला. पता चला कि दो महीने पहले ही बच्चे की कुकर्म के बाद हत्या कर दी गई थी. लेकिन आरोपी ने तब से बच्चे के शव को भूसे के ढेर में छिपा रखा था. आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने अश्लील फिल्म देखी थी.  

दरअसल, कानपुर के बिल्हौर इलाके के एक गांव का 9 वर्षीय मासूम बीते 21 अप्रैल को खेलते समय लापता हो गया था. 22 अप्रैल को बच्चे के पिता ने उसकी गुमशुदगी का केस दर्ज कराया, तभी से पुलिस खोजबीन में लगी थी. पुलिस गांव के कई युवकों से पूछताछ कर चुकी थी, लेकिन कहीं कोई सुराग नहीं लगा.

इसी बीच बीते शनिवार को पीड़ित परिवार के पड़ोसी के घर में भरा भूसा हटाया गया, तो वहां से मासूम का कंकाल बरामद हुआ. इस पर पुलिस ने जब पड़ोसी को हिरासत में लेकर पूछताछ की, तो उसने मासूम के साथ कुकर्म और हत्या की बात कबूल कर ली.

पुलिस के मुताबिक, आरोपी  मोबाइल पर अश्लील फिल्म देख रहा था. इसके बाद सामने खेल रहे बच्चे को टॉफी देने के बहाने बुला लिया और फिर कुकर्म कर मासूम की हत्या कर दी. लाश भूसे के ढेर में छिपा दी.

पुलिस ने बताया कि आरोपी युवक बच्चे के परिवार का रिश्तेदार भी है. वह घटना के बाद परिजनों के साथ खुद भी बच्चे की खोजबीन में लगा रहा था. इससे किसी को उस पर शक भी नहीं हुआ था.

यह भी पढ़ें: कानपुर में बच्चे से दरिंदगी के आरोपी को कोई मलाल नहीं, CO बोले- पूरी नौकरी में ऐसी जघन्यता नहीं देखी!

बिल्हौर के सीओ राजेश ने बताया, 21 अप्रैल को 9 साल के बच्चे के लापता होने का केस दर्ज किया गया था. पुलिस उसकी खोजबीन में थी. शनिवार को उसके पड़ोसी के यहां भूसे के ढेर में बच्चे का शव मिला. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. उसने बच्चे की  कुकर्म के बाद हत्या की थी.

2022 में  अब तक सामने आए ये मामले:-  

- 18 मई को रेलबाजार में एक शख्स ने अपने पड़ोसी के ग्यारह वर्षीय बच्चे को केमिकल से जला दिया था. पीड़ित कई दिनों तक हॉस्पिटल में भर्ती रहा था. मासूम का अपराध सिर्फ इतना था कि उसके पिता ने आरोपी के मामा को एफआईआर लिखवाकर जेल भिजवा दिया था.  

- 30 मार्च को बाबू पुरवा इलाके के एक युवक ने एक नबालिग लड़की को अपना बनाने के चक्कर में उसके 8 साल के मासूम भाई को बेरहमी से जला दिया था. जिसकी हॉस्पिटल में मौत हो गई थी. 

- 4 मार्च को भी बर्रा इलाके में दिनदहाड़े एक युवक 8 साल की बच्ची को सड़क से उठाकर ले जा रहा था, लेकिन बच्ची ने चिल्लाकर अपनी जान बचाई थी.

- 18 फरवरी को भी सचेंडी इलाके में 7 साल के मासूम की कुकर्म कर हत्या कर दी गई थी. इस वारदात को परिचित ने ही अंजाम दिया था. 

- 8 फरवरी को नर्वल इलाके में ही 10 साल के मासूम का अपहरण कर लिया गया था और फिर कुकर्म करके उसकी भी क्रूरता से हत्या कर दी गई थी. मासूम की आंखों में कीलें ठोक कर और नाजुक अंग में डंडा डालकर मार डाला गया था. हत्या गांव के ही तीन युवकों ने की थी.  

- इस घटना से दो दिन पहले यानी 6 फरवरी को नर्वल में ही एक हफ्ते से लापता दस वर्षीय बच्चे का शव मिला था. 

- जनवरी में घाटमपुर इलाके में एक सिपाही की मासूम बच्ची को उसके पड़ोसी ने दरिंदगी का शिकार बनाया था. आरोपी ने बाद में शर्म के मारे सुसाइड कर लिया था.

 - ढाई साल पहले घाटमपुर में इलाके में भी एक बच्ची की हत्या उसके ही रिश्तेदार ने हत्या करवा दी थी और मासूम का कलेजा पत्नी को खिला दिया था. आरोपी को अंधविश्वास था कि ऐसा करने से उसकी पत्नी गर्भवती हो जाएगी. इस मामले में भाड़े के हत्यारों ने बच्ची की हत्या से पहले उसका रेप तक कर डाला था. फिर बेरहमी से उसकी शरीर चीरकर कलेजा लाकर आरोपियों को दिया था.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें