scorecardresearch
 

Agnipath scheme protest: BJP मंडल उपाध्यक्ष को भेजा गया जेल, अलीगढ़ में युवाओं को उपद्रव के लिए उकसाने का आरोप

Agnipath Scheme: अलीगढ़ में अग्निपथ योजना के विरोध में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुआ था. पुलिस पड़ताल में पता चला कि युवाओं को भड़काने में कोचिंग संचालकों का हाथ था. इस मामले में पुलिस ने कड़ा एक्शन ले लिया है.

X
कोचिंग संचालक सुधीर शर्मा. (फाइल फोटो) कोचिंग संचालक सुधीर शर्मा. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • युवाओं को उकसाकर बवाल कराने का आरोप
  • BJP के मंडल उपाध्यक्ष को भेजा गया जेल

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ स्थित टप्पल इलाके में बीते शुक्रवार को अग्निपथ योजना के विरोध में हुए हिंसक विरोध प्रदर्शन हुआ था. इस उपद्रव को लेकर आधा दर्जन से अधिक कोचिंग संचालकों को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ के बाद जेल भेज दिया है. इन संचालकों में भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता भी शामिल है. 

जानकारी निकलकर सामने आई है कि अलीगढ़ के टप्पल में यंग इंडिया के नाम से कोचिंग चलाने वाले सुधीर शर्मा अलीगढ़ में BJP के मंडल उपाध्यक्ष हैं. जिन पर शुक्रवार के हिंसक प्रदर्शन में युवाओं को उकसाने के बाद बवाल कराने का आरोप लगा है. पुलिस ने अब कुल 9 कोचिंग संचालकों को गिरफ़्तार कर जेल भेज दिया है.

यंग इंडिया कोचिंग संचालक सुधीर शर्मा सहित जट्टारी इलाके में स्थित चौधरी कोचिंग के संचालक, तिरुपति के संचालक रामकुमार सिंह और केशव, केडी इंस्टीट्यूट के संचालक गौरव चौधरी और रोबिन चौधरी, गुरुकुल कोचिंग सेंटर के संचालक नवीन वैष्णव और अमित कुमार शामिल हैं. 

हालांकि, हिंसक बवाल के बाद अब अलीगढ़ में पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में कर लिया है. अब पुलिस की नजर उन युवाओं पर है, जो सेना की तैयारी कर रहे थे और आसपास के क्षेत्रों में रहते हैं. पुलिस ने जगह-जगह बैरिकेड लगाकर ऐसे युवाओं की चेकिंग शुरू कर दी है और उनके मोबाइल के व्हाट्सएप और मैसेज चेक किए जा रहे हैं, जिससे कि पता चल सके कि बवाल में उनकी किसी भी प्रकार से संलिप्तता है या नहीं? पुलिस की इस चेकिंग में नौजवान भी सहयोग कर रहे हैं.

अलीगढ़ रेंज के डीआईजी दीपक कुमार ने बताया कि अलीगढ़ जनपद में छिटपुट हिंसा की घटनाएं हुईं. शुरुआती जांच में सामने आया कि युवाओं को कुछ लोगों ने भड़काया था. इसके लिए सोशल मीडिया और माइक्रो ब्लॉगिंग साइट का इस्तेमाल किया गया था. इसी के मद्देनजर अलीगढ़ सहित आस-पास के जिलों में बाइक सवार युवकों की चेकिंग की जा रही है, जिसमें उनके मोबाइल में सोशल साइट्स को चेक किया जा रहा है. 

बता दें कि केंद्र सरकार ने रक्षा भर्ती प्रक्रिया में आमूल-चूल बदलाव करते हुए तीनों सेनाओं (थल, वायु, नौसेना) में सैनिकों की भर्ती संबंधी 'अग्निपथ' योजना की 14 जून को घोषणा की थी, जिसके तहत सैनिकों की भर्ती शॉर्ट टर्म के लिए संविदा आधार पर की जाएगी. योजना के तहत तीनों सेनाओं में इस साल करीब 46,000 सैनिक भर्ती किए जाएंगे.  इन्हें 'अग्निवीर' नाम दिया जाएगा. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें