scorecardresearch
 

बिहार: जहरीली शराब के कहर के बाद जागा प्रशासन, जानें क्या हुई कार्रवाई

बिहार में जहरीली शराब का कहर कम नहीं हो रहा. सारण जिले के मकेर और अमनौर प्रखंड में जहरीली शराब (Alcohol) से हुई मौतों के बाद जिला प्रशासन (district administration) ने बड़ी कार्रवाई की है. प्रशासन ने 1100 लीटर तैयार शराब भी बरामद किया.

X
अमनौर प्रखंड में जहरीली शराब (Alcohol) से हुई मौत अमनौर प्रखंड में जहरीली शराब (Alcohol) से हुई मौत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सारण जिले में 1100 लीटर शराब पुलिस ने की बरामद
  • बक्सर में जहरीली शराब से हुई थी पांच लोगों की माैत

सारण जिले के मकेर और अमनौर प्रखंड में जहरीली शराब (Alcohol) से हुई मौतों के बाद जिला प्रशासन (district administration) ने बड़ी कार्रवाई की है. छपरा में सरयू नदी के पास उत्पाद विभाग की टीम ने 2 दर्जन से ज्यादा भट्टियों को तोड़ दिया और सैकड़ों क्विंटल महुआ-गुड़ को नष्ट किया. इसके अलावा हजारों लीटर अवैध शराब को भी नष्ट किया गया.

जिला प्रशासन ने 1100 लीटर तैयार शराब भी बरामद किया. उसी दौरान मौके पर एक बाइक भी जब्त की गई है.  उत्पाद अधीक्षक ने बताया कि इस मामले में  शराब कारोबारियों की पहचान कर उसके विरुद्ध मामला दर्ज किया जा रहा है. सभी पर कानूनी कार्रवाई होगी. 

बक्सर में हुई पांच लोगों की मौत: 

बक्सर जिले के डुमराव में देर रात कथित रूप से जहरीली शराब पीने से 5 लोगों की मौत हो गई . वहीं चार लोगों की हालत गंभीर है, जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है. बक्सर एसपी नीरज कुमार सिंह ने बताया कि प्रशासन को 5 लोगों की मौत के बारे में जानकारी हुई है और इसको लेकर जांच की जा रही है. इससे पहले अभी  हाल ही में नालंदा जिले के सोहसराय में भी जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत हो चुकी है. नालंदा जिले के एसपी ने लोगों के मारे जाने की पुष्टि की थी. मामले के बाद सोहसराय थाने के एसएचओ को सस्पेंड कर दिया गया था. वहीं दो महीने पहले ही गोपालगंज जिले में जहरीली शराब पीने से 40 लोगों की मौत हुई थी. दो महीने पहले हुए शराबकांड के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सख्त निर्देश दिए थे कि जिस इलाके में शराब मिलेगी, उसके थानेदार तुरंत सस्पेंड होंगे. उन्होंने ये भी कहा था कि न शराब आने देंगे और न ही किसी को पीने देंगे.

बता दें कि 4 जनवरी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बताया था कि 26 नवंबर से 2 जनवरी के बीच बिहार में 13,013 केस दर्ज किए गए हैं. इनमें 2.31 लाख लीटर देसी और 3.55 लाख लीटर विदेशी शराब जब्त की गई है. ये आंकड़े बताते हैं कि शराबबंदी वाले बिहार में अब भी शराब आसानी से पहुंच जा रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें