scorecardresearch
 
क्राइम न्यूज़

भाई-भाभी के साथ दो बच्चों को जिंदा जलाया, भतीजे की हालत नाजुक, खुद फांसी लगाकर कर ली आत्महत्या

युवक ने अपने भाई-भाभी के साथ भतीजा और भतीजी को जिंदा जला दिया (फाइल फोटो)
  • 1/5

मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले में बीती रात दिल दहला देने वाली घटना हुई. यहां एक युवक ने अपने भाई-भाभी के साथ भतीजा और भतीजी को जिंदा जला दिया. इसके बाद दूसरे कमरे में जाकर खुद फंदे पर लटककर आत्महत्या कर ली. कमरे से आग की लपटें उठती देख पड़ोसी आ गये. पड़ोसियों द्वारा जब तक आग पर काबू पाया जाता, तब तक तीन की आग में जलकर मौत हो चुकी थी, जबकि गंभीर जली अवस्था में पांच वर्षीय मासूम को अस्पताल में भर्ती कराया गया.

(इनपुट- रावेंद्र शुक्ला)

युवक ने अपने भाई-भाभी के साथ भतीजा और भतीजी को जिंदा जला दिया (फाइल फोटो)
  • 2/5

अनूपपुर जिले के जैतहरी थाने के धनगंवा का रहने वाला दीपक विश्वकर्मा गैराज में काम करता था. वह अपने भाई ओंकार विश्वकर्मा के साथ रहता था. बताया गया है कि 25 नवंबर की रात जब भाई-भाभी, भतीजी और भतीजा सब सो रहे थे, उसी दौरान दीपक ने कमरे में आग लगा दी. कमरा बाहर से बंद कर दिया, जिसके चलते कोई कमरे से बाहर भी नहीं निकल सका. उधर दीपक दूसरे कमरे में गया और फंदे पर लटककर खुद भी आत्महत्या कर ली. 
 

युवक ने अपने भाई-भाभी के साथ भतीजा और भतीजी को जिंदा जला दिया (फाइल फोटो)
  • 3/5

जब ओंकार के घर से धुआं उठते देखा तो पड़ोसी मौके पर पहुंच गये. आग की लपटों ने पूरे कमरे को घेरा हुआ था. लोगों द्वारा जब तक आग पर काबू पाया जाता, तब तक ओंकार सिंह, उसकी पत्नी कस्तूरिया, बेटी निधि की जलकर मौत हो गई. 

 युवक ने अपने भाई-भाभी के साथ भतीजा और भतीजी को जिंदा जला दिया (फाइल फोटो)
  • 4/5

वहीं लोगों ने ओंकार के पांच वर्षीय बच्चे को बाहर निकाल लिया. वह भी गंभीर रूप से जलकर घायल हो चुका था. लोगों ने बच्चे को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है. 
 

युवक ने अपने भाई-भाभी के साथ भतीजा और भतीजी को जिंदा जला दिया (फाइल फोटो)
  • 5/5

घटना की जानकारी मिलने के बाद थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई. पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद चारों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस ने बताया कि दीपक विश्वकर्मा का आये दिन अपने भाई से छोटी-छोटी बातों पर विवाद हो जाया करता था. इन्हीं विवाद के चलते मानसिक तनाव झेल रहे आरोपी ने ये कदम उठाया. पुलिस अधीक्षक एमएल सोलंकी ने बताया कि पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.