scorecardresearch
 
क्राइम न्यूज़

Kaimur: चांदी के सिक्के का लालच देकर घर बुलाती थी महिला, फिर लूट लेती थी सब कुछ

Kaimur Police arrested woman for fake silver coin
  • 1/5

पुराना चांदी का सिक्का बेचने के नाम पर व्यवसायियों को लूटने वाली महिला को कैमूर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने कुछ दिनों पहले इस मामले में एक दर्जन अपराधियों को गिरफ्तार किया था. लेकिन लोगों को धोखा देकर लूटने वाले इस गिरोह की सदस्य यह महिला फरार चल रही थी. (रिपोर्टः रंजन कुमार त्रिगुण)  

Kaimur Police arrested woman for fake silver coin
  • 2/5

कैमूर के खरौली गांव में पुराने चांदी का सिक्का बेचने के नाम पर व्यवसायियों के साथ लूटपाट करने वाले गिरोह की महिला को पकड़ा गया है. मामी उर्फ बासमती देवी सुकरौली गांव की रहने वाली है. इस गांव के कुछ एजेंट व्यवसायियों को सूचना देते थे की उनके यहां बहुत पुराने काल के चांदी के सिक्के भारी संख्या में मिले हैं. जिसे वह सस्ते दामों पर बेचना चाहते हैं.

Kaimur Police arrested woman for fake silver coin
  • 3/5

जब व्यवसायी इनकी बातों में आकर पैसे लेकर खरौली गांव पहुंचता है तो वहां बासमती देवी व्यवसायी को घर में रखे कुछ चांदी के सिक्के दिखाती है. तब इसके साथी अपराधी व्यवसायी के साथ मारपीट कर उसके पैसे छीन लेते हैं. पुलिस ने कुछ दिनों पहले इस मामले में एक दर्जन अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था. लेकिन गिरोह की मामी उर्फ बासमती देवी फरार चल रही थी, जिसे पुलिस ने अब गिरफ्तार कर लिया है.

Kaimur Police arrested woman for fake silver coin
  • 4/5

गिरफ्तार बासमती देवी बताती है खरौली गांव का तनवीर मुझे अपने घर के पास ले गया. जहां मुझे आगे करके उसने व्यवसायी के साथ लूटपाट की और सारा पैसा ले गया. इसके बदले में मुझे सिर्फ एक हजार रुपये दिये. यह लोग पिछले कई दिनों से इस तरह की घटना को अंजाम देते आ रहे हैं. कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद बताते हैं कि खरौली गांव पहाड़ी पर बसा है. वहां एक गिरोह सक्रिय था. जो लोगों को बुलाकर चांदी का सिक्का देने के नाम पर व्यवसायियों के साथ लूटपाट करता था. 

Kaimur Police arrested woman for fake silver coin
  • 5/5

एक दर्जन अपराधियों की पहले गिरफ्तारी हो चुकी है. मुख्य महिला जो सरगना की पत्नी बनकर चांदी का सिक्का दिखा रही थी उसकी गिरफ्तारी भी हुई है. इसके गिरोह के सभी सदस्य जेल में हैं. पिछले एक साल से यह महिला फरार चल रही थी. पहले जब छापामारी हुई थी उस समय इनके घर से 6 लाख 30 हजार रुपये बरामद हुए थे.