scorecardresearch
 
क्राइम न्यूज़

चुनाव आते ही बढ़ी अवैध शराब की तस्करी, 40 लाख रुपये की अंग्रेजी शराब बरामद

 चुनाव आते ही बढ़ी अवैध शराब की तस्करी, 40 लाख रुपये की अवैध अंग्रेजी शराब बरामद.
  • 1/7

यूं तो बिहार में शराबबंदी हुए तकरीबन 4 साल से ज्यादा का वक्त गुजर गया लेकिन इस शराबबंदी के साथ ही बिहार में अवैध शराब की तस्करी का सिलसिला बदस्तूर जारी है. अब जब बिहार में विधानसभा के चुनाव की घोषणा हो गई है, ऐसे में दूसरे प्रदेशों से बिहार में शराब की तस्करी का सिलसिला एक बार फिर तेजी पकड़ रहा है.
(चंदौली से उदय गुप्ता की र‍िपोर्ट)  

  चुनाव आते ही बढ़ी अवैध शराब की तस्करी, 40 लाख रुपये की अवैध अंग्रेजी शराब बरामद.
  • 2/7

पूर्वी उत्तर प्रदेश के चंदौली में उत्तर प्रदेश-बिहार बॉर्डर पर पुलिस ने 40 लाख रुपये की अवैध अंग्रेजी शराब की भारी खेप बरामद की है. इस सिलसिले में पुलिस ने दो युवकों को भी गिरफ्तार किया है. दरअसल, चंदौली जिले की स्वाट टीम और सैयदराजा थाने की पुलिस को सूचना मिली थी कि सैयदराजा कोतवाली क्षेत्र के नौबतपुर बॉर्डर से शराब की खेप बिहार की तरफ जाने वाली है. 

  चुनाव आते ही बढ़ी अवैध शराब की तस्करी, 40 लाख रुपये की अवैध अंग्रेजी शराब बरामद.
  • 3/7

इस सूचना के आधार पर स्वाट टीम और सैयदराजा थाने की पुलिस ने नौबतपुर बॉर्डर पर अपना जाल बिछाया और वाहनों की चेकिंग शुरू कर दी. इसी दौरान एक डीसीएम ट्रक को पुलिस ने पकड़ा जिसमें भारी मात्रा में शराब की पेटियां भरी हुईं थीं. पुलिस से बचने के लिए शराब तस्करों ने शराब की इन पेटियों के ऊपर अंडा पैक करने वाले गत्ते डाल दिए थे. डीसीएम में शराब की चार सौ से ज्यादा पेटियां रखीं थीं जिनमें 10 हजार 428 शराब की बोतलें थीं ताकि पुलिस की आंखों में धूल झोंकी जा सके.

  चुनाव आते ही बढ़ी अवैध शराब की तस्करी, 40 लाख रुपये की अवैध अंग्रेजी शराब बरामद.
  • 4/7

उधर पुलिस ने इस मामले में दो शराब तस्करों को भी गिरफ्तार किया जो हरियाणा के सोनीपत और राजस्थान के जयपुर के रहने वाले हैं. यह दोनों शराब तस्कर हरियाणा की बनी हुई शराब की खेप को लेकर बिहार में सप्लाई देने जा रहे थे. गौरतलब है कि बिहार में पिछले काफी साल से शराबबंदी के बावजूद अन्य राज्यों से अवैध शराब की तस्करी लगातार हो रही है. 

  चुनाव आते ही बढ़ी अवैध शराब की तस्करी, 40 लाख रुपये की अवैध अंग्रेजी शराब बरामद.
  • 5/7

उधर जब से बिहार में चुनाव की घोषणा हुई है उसके बाद से बिहार में शराब की मांग काफी बढ़ गई है जिसको लेकर शराब तस्कर भी काफी सक्रिय हो गए हैं. वैसे यह बिहार में अवैध शराब तस्करी का पहला मामला नहीं है. इससे पहले भी यूपी बिहार बॉर्डर पर चंदौली पुलिस द्वारा करोड़ों रुपये की शराब जब्त की जा चुकी है. लेकिन अब बिहार में चुनाव होने हैं तो पुलिस को आशंका है कि शराब की बरामद की गई हुई यह खेप बिहार में होने वाले चुनाव में इस्तेमाल करने के लिए जा रही थी.

  चुनाव आते ही बढ़ी अवैध शराब की तस्करी, 40 लाख रुपये की अवैध अंग्रेजी शराब बरामद.
  • 6/7

गिरफ्तार किए गए तस्करों को पुलिस ने जेल भेज दिया है साथ ही पुलिस अब इस पूरे मामले की जांच में जुट गई है. एडिशनल एसपी प्रेमचंद का कहना है कि अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए अभियान चलाया जा रहा है. इसी दौरान थाना प्रभारी सैयदराजा और स्वाट टीम प्रभारी द्वारा मुखबिर की सूचना पर एक डीसीएम को चेक किया गया था. 

  चुनाव आते ही बढ़ी अवैध शराब की तस्करी, 40 लाख रुपये की अवैध अंग्रेजी शराब बरामद.
  • 7/7

अवैध रूप से हरियाणा से लाई जा रही शराब की बरामदगी हुई है. 403 पेटी में विभिन्न ब्रांड के अंग्रेजी शराब की कुल 10428 बोतलें  बरामद हुईं हैं. इसकी बाजार में कीमत लगभग 40 लाख रुपये है. गिरफ्तार तस्करों से पूछताछ में पता चला है कि बिहार में ले जाकर इस शराब की बिक्री होनी थी ताकि इसके जरिए अच्छा मुनाफा कमाया जा सके.