scorecardresearch
 

फरीदाबाद में 'गे' डेटिंग ऐप से अश्लील वीडियो बनाकर यूं कर रहे थे ब्लैकमेल, गैंग का पर्दाफाश

क्राइम ब्रांच बदरपुर बॉर्डर की टीम ने एक गैंग का पर्दाफाश किया है. यह गैंग समलैंगिक डेटिंग एप के जरिए लोगों को अपना शिकार बनाता था. इसके बाद अश्लील वीडियो बनाकर वायरल करने की धमकी देकर मोटी रकम वसूल करता था.

X
`गे` डेटिंग एप संचालक आरोपी `गे` डेटिंग एप संचालक आरोपी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ब्लैकमेल करने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार
  • आरोपियों को रिमांड पर लेकर पुलिस कर रही पूछताछ
  • मुख्य आरोपी सहित कई सदस्य की तलाश जारी

दिल्ली से सटे फरीदाबाद में एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश हुआ है, जिसने 'गे' डेटिंग एप (Gay Dating App) के जरिए कई व्यक्तियों को अपने जाल में फंसाकर उनके अश्लील वीडियो बनाए और लूटपाट की. क्राइम ब्रांच बदरपुर की टीम ने बताया कि उन्होंने इस गैंग के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है. पुलिस गिरफ्तार आरोपियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है. अभी मुख्य आरोपी सहित कुछ और आरोपी गिरफ्त से बाहर हैं.

डीसीपी नीतीश अग्रवाल ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में विशाल, करण और पुनीत फरीदाबाद की गांधी कॉलोनी के रहने वाले हैं. इनकी उम्र क्रमशः 22, 19 और 23 वर्ष है.  वहीं से एक ग्राइंडर नाम का ऐप को चला रहा था. यह ऐप एलजीबीटी (समलैंगिक) कम्युनिटी के लिए बनाया गया था. इस ऐप के माध्यम से वह लोगों को अपने जाल में फंसाता और उनकी अश्लील वीडियो बनाकर वायरल करने की धमकी देकर उनसे मोटी रकम वसूल करता था.

फरीदाबाद हेडक्वार्टर डीसीपी नितिन अग्रवाल ने बताया कि थाना एस जी एम नगर को इसकी शिकायत प्राप्त हुई थी. इस पर कार्रवाई करते हुए बदरपुर बॉर्डर की टीम ने तीन आरोपियों को फरीदाबाद के गांधी कॉलोनी से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की. आरोपियों ने फरीदाबाद के एनआईटी इलाके में रहने वाले युवक को डेटिंग ऐप के माध्यम से 11 मई को बुलाया था. उसके बाद हथियार दिखाकर उससे 20 हजार रुपये लूट लिया और डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड भी छीन लिए. आरोपियों ने डेबिट कार्ड से एक लाख और क्रेडिट कार्ड को एक पेट्रोल पंप पर जाकर स्वाइप करा कर लगभग दो लाख रुपये निकाल लिए. इसके बाद वीडियो वायरल करने की धमकी दी.

इस वारदात के बाद पीड़ित वह काफी दिनों तक डरा रहा, लेकिन 20 मई को उसने पुलिस से शिकायत की. फिलहाल इस मामले में तीनों आरोपियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है इसमें मुख्य आरोपी सहित अन्य कई आरोपियों की गिरफ्तारी होनी बाकी है. फरीदाबाद डीसीपी एनआईटी नीतीश अग्रवाल के दिशा-निर्देश के तहत कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच बॉर्डर प्रभारी सेठी मलिक की टीम ने लूट करने वाली गैंग का पर्दाफाश करते हुए गैंग के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें