scorecardresearch
 

घर के चिराग ने ही जला दिया पूरा खानदान!

एक ही परिवार के 14 लोगों की हत्या से हर कोई सन्न है. वारदात मुंबई से सटे ठाणे की है. पुलिस को शक है कि परिवार के ही एक सदस्य ने नशीला पदार्थ खिला कर सभी की हत्या की और फिर अपनी जान दे दी. जी हां. ठाणे का कसर वदावली इलाका इस हत्याकांड से सन्न हो गया. रविवार सुबह से एक घर के बाहर पुलिस और लोगों का जमावड़ा लगा रहा.

X
वारदात मुंबई से सटे ठाणे की है वारदात मुंबई से सटे ठाणे की है

एक ही परिवार के 14 लोगों की हत्या से हर कोई सन्न है. वारदात मुंबई से सटे ठाणे की है. पुलिस को शक है कि परिवार के ही एक सदस्य ने नशीला पदार्थ खिला कर सभी की हत्या की और फिर अपनी जान दे दी. जी हां. ठाणे का कसर वदावली इलाका इस हत्याकांड से सन्न हो गया. रविवार सुबह से एक घर के बाहर पुलिस और लोगों का जमावड़ा लगा रहा.

जानकारी के मुताबिक, रविवार की सुबह-सुबह खबर आई कि घर में एक ही परिवार के 14 लोगों की हत्या कर एक 32 साल के शख्स ने खुदकुशी कर ली. हर कोई हैरान रह गया. किसी को यकीन नहीं हो रहा था कि ऐसा कैसे हो गया. क्योंकि सब एक ही परिवार के थे. सभी अपने ही थे. जिस शक्ख पर हत्या का आरोप लगा उसकी छवि ऐसी रही है कि वो चींटी भी नहीं मार सकता.

पुलिस को शक है कि आरोपी हुसनैन ने फैमिली फंक्शन में सभी घरवालों को बुलाया. खाने में नशीला पदार्थ मिलाकर सभी को बेहोश कर दिया. उसके बाद चाकू से सभी की एक-एक कर हत्या कर दी. संभव है उसकी  एक बहन बेहोश ना हुई हो. चाकू से वार किए जाने के बाद जग गई और भागकर खुद को कमरे में बंद कर लिया. उसे बाद में उसे खिड़की तोड़कर बाहर निकाला गया.

ज्वाइंट सीपी आशुतोष डुमरे ने बताया कि इस वारदात से बची महिला सदमे में है. वह कुछ भी बोलने की हालत में नहीं है. उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस पूरे मामले की तफ्तीश में जुट गई है. परिवार के दूसरे सदस्यों को भी तलाशा जा रहा है. पड़ोसियों से भी पूछताछ की जा रही है. पुलिस की जांच हुसनैन की बहन के बयान पर टिकी है, जिसके ठीक होने का इंतजार है.

नहीं मिला कोई सुसाइड नोट

ठाणे हत्याकांड को लेकर पुलिस हुसनैन पर शक तो कर रही है. लेकिन मौके से ना तो कोई सुसाइड नोट मिला है ना ही कत्ल की वजह साफ हो पाई है. ऐसे में पुलिस की थ्योरी पर भी सवाल उठ रहे हैं. पुलिस एक घर से 15 लाशें बरामद कर 32 साल के टैक्स प्रोफेशनल हुसनैन पर संदेह कर रही है, क्योंकि उसकी डेडबॉडी लटकी हुई थी. उसके हाथ में चाकू था. लेकिन कई सवाल पुलिस थ्योरी पर प्रश्नचिन्ह लगा रहे हैं.

सवालों के घेरे में पुलिस थ्योरी
हुसनैन के हाथ में मिले चाकू को मिलने पर पुलिस मान रही है कि उसने 14 परिवारवालों की हत्या कर खुदकुशी कर ली. लेकिन बड़ा सवाल ये उठता है कि क्यों कोई शख्स चाकू लेकर खुद को फांसी कैसे लगा सकता है या फिर फंदा लगाने के बाद भी चाकू हाथ में कैसे पकड़े रह सकता है. मौके से कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है. पुलिस को भी ये बात परेशान कर रही है कि जान देने वाले ने सुसाइड नोट क्यों नहीं छोड़ा.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार
हुसनैन के पड़ोसी सलीम पटेल के मुताबिक, वह अच्छे तौर-तरीके वाला शख्स रहा है. रिश्तेदार और पड़ोसी भी उसके आचार-व्यवहार के कायल रहे हैं. ऐसे में कोई ये मानने को तैयार नहीं है कि उसने ही अपने परिवार के 14 लोगों की हत्या कर दी. पुलिस को फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है. ताकि पता चल सके कि क्या परिवार के लोगों की हत्या से पहले उन्हें नशीला पदार्थ दिया गया था या नहीं.

पूरे खानदान का खात्मा
बताते चलें कि पिता अनवर वारेकर (65), मां असगरी (56), पत्नी जबीन (28), बेटी मुबातशिरा (6), बेटी उमरा, बहन शबीना शौकत खान (35), मारिया इरफान फाक्की (28), बतूल (30), भतीजियां अनस शौकत खान (12), सादिया शौकत खान (16), आर्सिया यूशुफ, भांजे अलीहसन शौकत खान (5), उमर इरगन फाक्की (7) और यूशुफ इरफान खान की इस वारदात में हत्या हुई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें