scorecardresearch
 

शीना मर्डर केस: गला घोंटे जाने से हुई थी मौत

शीना मर्डर केस में सीबीआई की चार्जशीट में शामिल एक मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार शीना की मौत गला घोंटे जाने की वजह से दम घुटने से हुई थी. नई दिल्ली स्थित एम्स द्वारा गठित पांच सदस्यीय मेडिकल बोर्ड ने यह रिपोर्ट तैयार की है. इसमें कहा गया है कि शव एक सुदूर स्थान से मिला था.

X
मेडिकल रिपोर्ट से हुआ खुलासा मेडिकल रिपोर्ट से हुआ खुलासा

शीना मर्डर केस में सीबीआई की चार्जशीट में शामिल एक मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार शीना की मौत गला घोंटे जाने की वजह से दम घुटने से हुई थी. नई दिल्ली स्थित एम्स द्वारा गठित पांच सदस्यीय मेडिकल बोर्ड ने यह रिपोर्ट तैयार की है. इसमें कहा गया है कि शव एक सुदूर स्थान से मिला था.

मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार, 'इस मामले में पट्टी से या हाथ से गला घोंटने की वजह से दम घुटने से मौत होने की बात को खारिज नहीं किया जा सकता. मृतक की हड्डियां जल गई थी, जो केवल शरीर में अंदर तक जलने में संभव है. कंकाल पर पर जलने के घाव देखे गए थे.'

जांच के लिए भेजा गया मानव कंकाल करीब 23 साल की लड़की का था, जिसे शीना का माना गया था. इसमें मौत का वक्त करीब तीन साल पहले बताया गया था. कंकाल पर जले घाव से पता चलता है कि मौत की जांच के अहम साक्ष्यों को छिपाने के लिए पूरे शरीर को नष्ट करने का इरादा था.

सीबीआई ने ली थी आईबी की मदद
मुंबई पुलिस से शीना मर्डर मिस्ट्री की जांच लेने के बाद सीबीआई ने शुरूआत में आईबी की मदद ली थी. सीबीआई पीटर-इंद्राणी मुखर्जी के हर फैमली मेंबर के मूवमेंट को ट्रैक करना चाहती थी. इसके लिए पीटर, इंद्राणी, राहुल और विधि के ट्रैवेल डिटेल आईबी द्वारा मुहैया कराई गई थी.

इंद्राणी के संपर्क में था मिखाइल
शीना का भाई मिखाइल बोरा अपनी मां इंद्राणी मुखर्जी के लगातार संपर्क में था. उनके बीच फोन और इमेल के जरिए बात होती थी. इंद्राणी अपने मां-बाप को लेकर संवेदनशील थी. वह मिखाइल की पढाई का खर्च भी उठाती थी. सन 2012 में मिखाइल ने इंद्राणी को शीना के संदर्भ में एक मेल भी किया था.

मिखाइल द्वारा इंद्राणी को भेजा गया ईमेल...

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें