scorecardresearch
 

नोएडा: लड़कियों से अवैध संबंध के शक में मर्डर, एक आरोपी हुआ गिरफ्तार

जांच में पता चला कि रोहित और विपिन की कई लड़कियों से दोस्ती थी. दोनों को शक था कि अजीत उर्फ जीत की भी उन लड़कियों से बात होती है. इसके बाद दोनों ने अजीत की हत्या की योजना बना डाली.

noida murder noida murder
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हत्या को सड़क हादसा बताकर बुलाई थी एंबुलेंस
  • अस्पताल में शव छोड़कर भाग निकले थे आरोपी
  • पुलिस ने एक आरोपी को कर लिया है गिरफ्तार

नोएडा के थाना फेस टू क्षेत्र में प्रेमिकाओं से अवैध संबंध के शक में ममेरे भाई ने दोस्त के साथ मिलकर सोते हुए अपने फुफेरे भाई की पत्थर से सिर कुचलकर हत्या कर दी. ये घटना मंगलवार तड़के इलाहबांस गांव में घटी. आरोपी हत्या को सड़क हादसा बताकर एंबुलेंस बुलाकर मृतक को अस्पताल ले गए थे. जिसके बाद शव को वहीं छोड़कर भाग निकले. पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल एक आरोपी को मंगलवार रात एनएसईजेड मेट्रो स्टेशन के पास से गिरफ्तार कर लिया था.

पुलिस के मुताबिक गुरुग्राम निवासी कृपाराम ने थाना फेस- टू में अपने बेटे अजीत उर्फ जीत की हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. इस मामले में मृतक के ममेरे भाई मोहित उर्फ रोहित और उसके दोस्त विपिन को नामजद किया गया था.

इस मामले की जब पुलिस ने जांच की तो पता चला कि आरोपी रोहित उर्फ मोहित और विपिन बागपत के एक ही गांव के रहने वाले हैं और बचपन के दोस्त हैं. दोनों नोएडा की एक कंपनी में काम करते हैं. रोहित और विपिन के साथ मृतक अजीत उर्फ जीत किराए पर कुलेसरा में रहता था.

यह भी पढ़ें: कई बार बेची गई ढाई साल की मासूम, पुलिस ने ऐसे बचाया

जांच में पता चला कि रोहित और विपिन की कई लड़कियों से दोस्ती थी. दोनों को शक था कि अजीत उर्फ जीत की भी उन लड़कियों से बात होती है. इसके बाद दोनों ने अजीत की हत्या की योजना बना डाली और रक्षाबंधन के बाद कुलेसरा से कमरा खाली कर इलाहाबास गांव में एकांत में कमरा ले लिया.

11 जुलाई को तड़के 4:30 बजे रोहित और विपिन ने पत्थर से मारकर अजीत का सिर कुचल दिया. इसके बाद आरोपी रोहित उर्फ मोहित ने 112 नंबर पर कॉल कर अजीत को अस्पताल पहुंचाया और वहां से भाग गया. पुलिस की टीम ने जांच के बाद मंगलवार देर रात को एनएसईजेड मेट्रो स्टेशन के पास से मृतक के ममेरे भाई रोहित उर्फ मोहित को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने आरोपी मोहित को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है. दूसरे आरोपी विपिन की तलाश जारी है.

वहीं दूसरी ओर अस्पताल में डॉक्टरों ने जांच की तो पता चला कि अजीत की मौत हो चुकी है. इसके बाद अस्पताल प्रबंधन ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पोस्टमार्टम की प्राथमिक जांच में खुलासा हुआ कि अजीत के सिर पर पत्थर से वार करके उसकी हत्या की गई है. जिसके बाद पुलिस ने परिजनों को घटना की जानकारी दी. मृतक के पिता कृपाराम ने मोहित व विपिन के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कराया.

इस मामले में सेंट्रल नोएडा डीसीपी हरीश चंदर ने बताया कि विपिन का पुराना आपराधिक रिकॉर्ड भी सामने आया है. जांच में पता चला है कि आरोपी विपिन लूटपाट के मामले में गाजियाबाद से कई बार जेल जा चुका है. पुलिस विपिन की तलाश में छापेमारी कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें