scorecardresearch
 

नवाब मलिक Vs समीर वानखेड़े: क्या है आरोप प्रत्यारोप और सफाई? जानें पूरा मामला

आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने क्रूज ड्रग्स केस में बीजेपी कार्यकर्ता मनीष भानुशाली और केपी गोस्वामी के रोल पर सवाल खड़े किए थे. उन्होंने क्रूज पर पड़ी रेड को फर्जी तक करार दिया था.

समीर वानखेड़े और नवाब मलिक के बीच आरोप प्रत्यारोप का ये दौर पिछले कई दिन से चल रहा है समीर वानखेड़े और नवाब मलिक के बीच आरोप प्रत्यारोप का ये दौर पिछले कई दिन से चल रहा है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पुलिस पर जासूसी का आरोप
  • समीर वानखेड़े ने कहा- जेल जाना भी मंजूर

मुंबई क्रूज ड्रग्स केस (Mumbai Cruise Drug Case) को लेकर महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) लगातार नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे हैं. इस मामले में आर्यन खान (Aryan Khan)  समेत 8 लोगों को एनसीबी की टीम ने मुंबई से गोवा जा रहे लग्जरी क्रूज से हिरासत में लिया था. इसके बाद आर्यन खान, अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धानोचा को गिरफ्तार कर लिया गया था. हालांकि आर्यन के पास ना तो कोई ड्रग्स मिली थी और ना ही कोई अन्य पदार्थ. इस मामले को लेकर एनसीपी के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने एनसीबी के खिलाफ जैसे मोर्चा ही खोल दिया है. उन्होंने एनसीबी के जोनल चीफ समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) पर संगीन आरोप लगाए हैं. नतीजा ये हुआ कि अब समीर खुद भी सफाई पेश के लिए सामने आ गए हैं. क्या है आरोप प्रत्यारोप का यह मामला, बताते हैं आपको 

नवाब मलिक के दामाद की गिरफ्तारी 

बात पिछले साल की है. अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में नशे और ड्रग्स की बात सामने आई थी. उस वक्त नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने कई कलाकारों से सवाल जवाब किए थे. पूछताछ में एक संदिग्ध ने नवाब मलिक के दामाद समीर खान का नाम लिया था. उसी के आधार पर एनसीबी ने 13 जनवरी को उन्हें पूछताछ के लिए अपने दफ्तर बुलाया था. वहां समीर खान से घंटों लंबी पूछताछ की गई थी. इसके बाद समीर को गिरफ्तार कर लिया गया था. समीर की गिरफ्तारी के बाद एक विदेशी नागरिक और शाहिस्ता फर्नीचरवाला को भी गिरफ्तार कर लिया गया था.

समीर खान को जमानत

8 महीने बाद बामुश्किल समीर खान इस केस में जमानत मिली. 10 जुलाई 2021 को एनसीबी ने समीर खान के साथ-साथ करण सेजनानी, राहिला, शाहिस्ता फर्नीचरवाला, मुच्छड़ पानवाला के मालिकों में से एक रामकुमार तिवारी और अनुज केशवानी के खिलाफ 1000 पेज की चार्जशीट दाखिल की थी. अपने दामाद की गिरफ्तारी को लेकर नवाब मलिक काफी परेशान रहे थे. तब भी उन्होंने एनसीबी पर उनके दामाद को फर्जी केस में फंसाने का आरोप लगाया था.

इसे भी पढ़ें--- 13 साल छोटे रिक्शावाले के साथ भागी महिला, तिजोरी से 47 लाख रुपये भी ले गई 

क्रूज पर ड्रग्स पार्टी का मामला

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की टीम ने 2 अक्टूबर को मुंबई से गोवा जा रहे लग्जरी क्रूज शिप पर छापेमारी की थी. एनसीबी का दावा था कि क्रूज पर ड्रग्स पार्टी होने वाली थी. उसी क्रूज पर बॉलीवुड किंग शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान भी मौजूद थे. एनसीबी ने आर्यन को भी गिरफ्तार कर लिया था. 3 अक्टूबर को किला रोड कोर्ट से आर्यन को 4 अक्टूबर तक के लिए रिमांड पर एनसीबी के हवाले किया गया था. फिर ये रिमांड अवधि 7 अक्टूबर तक बढ़ा दी गई थी. इसके बाद 7 अक्टूबर को आर्यन खान की पेशी हुई और उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. तभी से जमानत याचिकाएं खारिज होने की वजह से आर्यन मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद हैं. इस दौरान दो विवादित गवाहों मनीष भानुशाली और किरण गोसावी को लेकर भी एनसीबी की किरकिरी हुई. किरण गोसावी वो गवाह है, जिसकी तस्वीरें आर्यन का हाथ पकड़कर ले जाते हुए वायरल हो गईं थी. फिलहाल वो फरार है. उसके खिलाफ कई आपराधिक मामले दर्ज हैं.  

एनसीबी के साथ बीजेपी कार्यकर्ता की मौजूदगी पर सवाल

आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने क्रूज ड्रग्स केस में बीजेपी कार्यकर्ता मनीष भानुशाली और केपी गोस्वामी के रोल पर सवाल खड़े किए थे. उन्होंने क्रूज पर पड़ी रेड को फर्जी तक करार दिया था. नवाब मलिक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा था कि एनसीबी ने जैसे उनके दामाद को फंसाया था. उसी तरह आर्यन खान को को क्रूज ड्रग्स केस में फंसाया गया है. 

नवाब मलिक के आरोप

इस मामले को लेकर महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने एक बार फिर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) पर निशाना साधा था. मलिक ने आरोप लगाते हुए कहा था कि एनसीबी के गवाह फिक्स्ड हैं. फिक्स्ड गवाहों के जरिए ही एनसीबी फर्जी मामले बनाती है. इस आरोप के बाद एनसीबी के अधिकारी असहज हो गए थे. लेकिन खामोश रहे.

इसके बाद मंत्री नवाब मलिक ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की वकील बहन जैसमीन वानखेड़े और फ्लेचर पटेल नाम के एक शख्स की तस्वीर दिखाकर आरोप लगाया था कि फ्लेचर पटेल वैसे तो जैसमीन वानखेड़े का मुंह बोला भाई है. लेकिन वो एनसीबी के कई मामलों में पंच विटनेस क्यों होता है. ये हैरान करने वाली बात है. नवाब मलिक ने बकायदा इसके लिए एक प्रेस कॉन्फेस की थी.

पुलिस पर जासूसी का आरोप

इसी दौरान एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने दो पुलिसकर्मियों पर पीछा करने का आरोप लगाया था. इसकी शिकायत उन्होंने महाराष्ट्र के डीजीपी से की थी. हालांकि इस पर वो टिप्पणी करने से बचते रहे. बताया जा रहा है कि ओशिवारा पुलिस ने सेमेट्री पर जाकर समीर वानखेड़े की सीसीटीवी फुटेज ली थी. समीर वानखेड़े की मां का देहांत 2015 में हो गया था और तब से वह हर रोज सेमेट्री पर जाते हैं. इसके बाद उनकी सुरक्षा बढ़ा दी गई थी.

ज़रूर पढ़ें--- क्या चंडीगढ़ में हैं मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह? जानें क्यों लग रहीं ऐसी अटकलें 

समीर वानखेड़े और फ्लेचर पटेल कनेक्शन

इसके बाद एनसीपी के वरिष्ठ नेता नवाब मलिक ने एक ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि मैं इस बार एनसीबी के गलत कामों का पर्दाफाश करूंगा. इसके बाद उन्होंने कुछ ट्वीट्स भी किए थे. नवाब मलिक ने एक ट्वीट में एक तस्वीर शेयर करते हुए पूछा है कि फ्लेचर पटेल (Fletcher Patel) कौन है? उसका एनसीबी और उसके एक अधिकारी से क्या संबंध है? तस्वीर में पटेल किसी महिला के साथ नजर आ रहे हैं, जिसे वह 'माई लेडी डॉन' कहते हैं. यह 'लेडी डॉन' कौन है? 

फ्लेचर पटेल का जवाब

इस ट्वीट के बाद समीर वानखेड़े तो खामोश रहे, लेकिन खुद एनसीबी के पंच विटनेस फ्लेचर पटेल ने सामने आकर जवाब दिया और कहा कि मुझे गवाह बनने के लिए अनुमति की जरूरत नहीं है. मैं ड्रग्स के खिलाफ एनसीबी के अभियान का समर्थन कर रहा हूं. नवाब मलिक इस कोशिश को पटरी से उतार रहे हैं.

सिलेब्रिटीज को फंसाकर वसूली का आरोप 

हाल ही में महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक फिर से एनसीबी की मुंबई यूनिट के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को घेरते हुए कहा कि समीर वानखेड़े ने ड्रग्स के फर्जी मामलों में सिलेब्रिटीज को फंसाया और फिर उनसे जबरन वसूली की कोशिश की. नवाब मलिक ने ट्वीट करते हुए लिखा 'सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड के बाद समीर वानखेड़े ने रिया चक्रवर्ती और दूसरे बॉलिवुड सितारों पर फर्जी ड्रग्स केस लगाया. 

मालदीव और दुबई क्या करने गए थे समीर वानखेड़े?

नवाब मलिक ने समीर पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें जवाब देना चाहिए कि जब समन पाने वाले सिलेब्रिटी मालदीव में थे, तो क्या समीर उनसे पैसा वसूलने गए थे. क्योंकि उस वक्त वह भी अंतरराष्ट्रीय टूर पर थे.  उन्हें जवाब देना चाहिए कि जब समन पाने वाले सेलिब्रिटी मालदीव में थे तो क्या समीर उनसे पैसा वसूलने गए थे क्योंकि उस वक्त वह भी अंतरराष्ट्रीय टूर पर थे. वानखेड़े की बहन की फोटो जारी कर नवाब मलिक ने कहा कि कोरोन महामारी के दौरान, पूरी फिल्म इंडस्ट्री मालदीव में थी. समीर वानखेड़े को स्पष्ट करना चाहिए कि वह और उनके परिवार के सदस्य उस समय वहां क्या कर रहे थे. उन्हें स्पष्ट करना चाहिए कि क्या वह दुबई में थे.

पढ़ें--- फरीदाबाद में पति ने पत्नी समेत 4 को मारी गोली, 3 की मौत, 1 गंभीर 

समीर ने आरोपों पर कहा- हम ज्यूडिशियरी की मदद लेंगे

मुंबई एनसीबी चीफ समीर वानखेड़े ने 'आजतक' से एक्सक्लूसिव बात करते हुए नवाब मलिक के आरोपों पर कहा, ''मेरा यह कहना है कि नवाब मलिक गलत बोल रहे हैं. मैं बच्चों के साथ मालदीव गया था. इन घटिया आरोपों पर मुझे कोई भी जवाब नहीं देना है. मेरे परिवार पर हमला बोला जा रहा है. बहन- पिता पर हमला किया जा रहा है. सच्चाई और ड्रग्स के खिलाफ लड़ने के लिए हम कार्रवाई करेंगे. इसके अलावा भी कई आरोप लग रहे हैं हम ज्यूडिशियरी की मदद लेंगे.''

एनसीबी-बीजेपी पर आतंकवाद फैलाने का आरोप

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) नेता और महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने आरोप लगाया था कि बीजेपी और नॉर्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) मुंबई में ‘आतंकवाद’ फैला रहे हैं. नवाब मलिक ने फिर दावा किया था कि जहाज से प्रतिबंधित मादक पदार्थों की कथित बरामदगी से संबंधित मामला ‘‘फर्जी’’ है और गिरफ्तारी सिर्फ व्हाट्सएप बातचीत के आधार पर की गई थी. मलिक ने आरोप लगाया कि राज्य में महा विकास आघाडी (MVA) सरकार को बदनाम करने के लिए एनसीबी का इस्तेमाल किया जा रहा है.

समीर वानखेड़े ने कहा- जेल जाना भी मंजूर

एनसीबी के जोनल चीफ समीर वानखेड़े ने मंत्री नवाब मलिक के आरोपों को गलत बताते हुए पलटवार किया. उन्होंने कहा कि हमारे खिलाफ कई आरोप लगाए जा रहे हैं, जिसके लिए हम ज्यूडिशियरी और कानून की मदद लेंगे. उन्होंने कहा कि यदि ड्रग्स को हटाने के लिए मुझे जेल भी जाना पड़ेगा तो ये भी मंजूर है.

नवाब का दावा- एक साल में जाएगी समीर की नौकरी

ड्रग्स केस में समीर वानखेड़े पर लगातार हमला बोलने वाले नवाब मलिक ने गुरुवार की सुबह भी ट्वीट करके गंभीर आरोप लगाए थे. मलिक ने आरोप लगाया था कि समीर वानखेड़े ने ड्रग्स के फर्जी मामलों में सेलिब्रिटीज को फंसाया और फिर उनसे जबरन वसूली की कोशिश की. मंत्री नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े को चुनौती देते हुए कहा कि वह (समीर) एक साल में अपनी नौकरी खो देगा. वो हमें सलाखों के पीछे डालना चाहते थे, लोग उनको सलाखों के पीछे देखेंगे. 

नवाब मलिक को मिली धमकी

महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक ने शुक्रवार को दावा किया है कि उन्हें फोन पर धमकियां मिल रही हैं कि वे एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को टारगेट ना करें. इस कथित धमकी के बाद नवाब मलिक की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. नवाब मलिक ने बताया कि कॉल राजस्थान से आई थी. इसे पुलिस ऑपरेटर ने उठाया. उन्होंने इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज की है. इसके बाद उनकी सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें