scorecardresearch
 

समलैंगिकता की सजा में चौराहे पर सिर कलम

ISIS ने एक ऐसा वीडियो जारी किया है जिसमें वह एक इराकी शहर के बीचोंबीच तीन लोगों का सिर कलम करते नजर आ रहे हैं. आईएसआईएस के कब्ज़े वाले इस इराकी शहर में न सिर्फ़ आतंकवादियों ने तीन लोगों का सिर सरेआम काट दिया, बल्कि बीच शहर में हज़ारों लोगों की भीड़ शोर मचाती और तालियां बजाती हुईं ये सारा मंज़र देखती रही.

ISIS ISIS

ISIS के आतंकी कभी गुमनाम ठिकानों पर बेगुनाह बंधकों का सिर क़लम करते हैं. कभी किसी दुश्मन को पिंजरे में बंद कर ज़िंदा जला देते हैं. लेकिन अब उन्होंने जो कुछ किया है, उसने अब तक की तमाम क्रूरता को पीछे छोड़ दिया है. क्योंकि ये खौफ की वह तस्वीर है जो किसी को भी दहला कर रख दे. इस बार सब कुछ हुआ है एक भरे शहर के चौराहे के बीचों-बीच.

सुनसान रेगिस्तानी ठिकानों में अपने बंधकों का सिर कलम करनेवाले आईएसआईएस ने इस बार इन गुमनाम ठिकानों ने निकल कर बीच शहर में कुछ लोगों को ऐसी भयानक मौत दी है कि जिन्हें देख कर किसी के भी रौंगटे खड़े हो जाएं.

ISIS ने एक ऐसा वीडियो जारी किया है जिसमें वह एक इराकी शहर के बीचोंबीच तीन लोगों का सिर कलम करते नजर आ रहे हैं. आईएसआईएस के कब्ज़े वाले इस इराकी शहर में न सिर्फ़ आतंकवादियों ने तीन लोगों का सिर सरेआम काट दिया, बल्कि बीच शहर में हज़ारों लोगों की भीड़ शोर मचाती और तालियां बजाती हुईं ये सारा मंज़र देखती रही.

आईएसआईएस की ओर से जारी की गई इन तस्वीरों को देख कर कोई भी शख्स अंदर तक हिल जाएगा. उसकी रूह कांप जाएगी. मगर, क्या करें? अमेरिका समेत दुनिया के तमाम मुल्कों की सख्त खिलाफ़त के बावजूद इराक में ये सबकुछ ना सिर्फ़ हो रहा है, बल्कि लगातार बढ़ता ही जा रहा है.

पहले माइक से की गई मुनादी
अब आइए आपको इस बर्बर हरकत की पूरी कहानी तफसील से बताए देते हैं. उत्तरी इराक के एक छोटे से शहर में अचानक एक दोपहर को आईएसआईएस के आतंकवादी तीन लोगों को पकड़ कर बीच चौराहे पर लाते हैं. उनके हाथ पीछे बंधे हैं, जबकि तीनों के सिर और आंखें नकाब से ढंकी हैं. अब तीनों को एक-एक कर घुटने के बल चौराहे के बीच खाली जगह पर बिठा दिया जाता है और फिर आईएसआईएस का एक बूढ़ा आतंकवादी में हाथ में माइक लेकर मुनादी करता है. वो पहले लोगों को आवाज़ लगाकर ये मंज़र देखने के लिए बुलाता है और फिर एक-एक कर तीनों के गुनाहों से उन्हें वाकिफ़ करवाता है. इस चौराहे पर इस बूढ़े आतंकवादी के सिवाय आईएसआईएस के बाकी तमाम आतंकवादियों के चेहरे पोशीदा हैं.

दो का अपराध समलैंगिकता, एक का ईश निंदा
ये आतंकवादी बताता है कि किस तरह इन तीन में से दो ने एक-दूसरे के साथ नाजायज़ जिस्मानी ताल्लुकात बनाए.यानी समलैंगिकता का 'भयानक गुनाह' किया. जबकि तीसरे शख्स ने ऊपरवाले और इस्लाम के बारे में आपत्तिजनक बातें कहीं. इसके बाद लगे हाथ ये आतंकवादी तीनों की सज़ा भी मुकर्रर कर देता और बताता है कि अब एक ही झटके में इनके गर्दन उड़ा दिए जाएंगे. ये सुनकर कुछ देर कर लिए हर कोई ठिठक जाता है. लेकिन आतंकवादी आख़िरकार वैसा ही करते हैं, जैसा वे चाहते हैं. एक लंबा-चौड़ा आतंकवादी अपने हाथ में एक बड़ी सी ज़ंग लगी तलवार लेकर उनकी तरफ़ बढ़ता है और फिर एक-एक कर घुटने को बल बैठे इन तीनों बंदियों का सिर एक ही झटके में धड़ से अलग कर देता है.

हालांकि समलैंगिक लोगों को सरेआम मौत देने का ये कोई पहला मामला नहीं है.इससे पहले भी कई लोगों को आईएसआईएस के आतंकवादी शहर की ऊंची इमारतों में ले जाकर ऊपर से धक्का दे कर नीचे गिरा चुके हैं. लेकिन इस बार जिस तरह से माइक पर मुनादी कर लोगों को बुलाने के बाद तलवार के ज़रिए तीन लोगों के सिर काटे गए हैं, वो वाकई बेहद अजीब, भयानक और चौंकानेवाला है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें