scorecardresearch
 

हनीप्रीतः जिसको ढूंढा गली-गली...वो दिल्ली में मिली!

वाकई कमाल है. जिन्हें ढूंढा गली-गली. वो दिल्ली में मिली. कमाल है हनी. आपको तो पुलिस हरियाणा, यूपी, बिहार.. नेपाल.. राजस्थान और न जाने कहां कहां ढूंढ रही थी और वो बुर्का में राजधानी की सैर कर रही हैं. वैसे इस बुर्के ने पुलिस की थोड़ी बहुत लाज बचा ली. अब पुलिस के पास कहने को तो है कि दिल्ली में किस-किस का बुर्का उठा कर देखते कि अंदर कौन है? पर हनी के पैंतरे को देखते हुए कोई कैसे यकीन कर ले कि सीसीटीवी में जो खातून बुर्के में नजर आ रही हैं वो सचमुच हनी ही है? तो हमने कुछ खास तरीकों से इस सच की पड़ताल की है.

पुलिस हनीप्रीत की तलाश में नेपाल बॉर्डर और नेपाल में भी छापेमारी कर चुकी है पुलिस हनीप्रीत की तलाश में नेपाल बॉर्डर और नेपाल में भी छापेमारी कर चुकी है

वाकई कमाल है. जिन्हें ढूंढा गली-गली. वो दिल्ली में मिली. कमाल है हनी. आपको तो पुलिस हरियाणा, यूपी, बिहार.. नेपाल.. राजस्थान और न जाने कहां कहां ढूंढ रही थी और वो बुर्का में राजधानी की सैर कर रही हैं. वैसे इस बुर्के ने पुलिस की थोड़ी बहुत लाज बचा ली. अब पुलिस के पास कहने को तो है कि दिल्ली में किस-किस का बुर्का उठा कर देखते कि अंदर कौन है? पर हनी के पैंतरे को देखते हुए कोई कैसे यकीन कर ले कि सीसीटीवी में जो खातून बुर्के में नजर आ रही हैं वो सचमुच हनी ही है? तो हमने कुछ खास तरीकों से इस सच की पड़ताल की है.

बदहवास कदम. बेचैन सांसे. डरी हुई नज़र. नज़रों से नज़रें चुराती हुई ये कौन है. कहीं ये वो तो नहीं. जिसे पुलिस हरियाणा में. फिर यूपी, बिहार, नेपाल और राजस्थान में ढूंढ चुकी है. सफेद सलवार ग्रे कोट और काला स्कार्फ. हाथों में फाइल और पर्स. सीसीटीवी में कैद उन तस्वीरों के बारे में हनीप्रीत का वकील ये दावा कर रहा है कि वो वीडियो उसी का है. सीसीटीवी में ये रिकॉर्ड उस वक़्त हुआ जब अग्रिम ज़मानत के कागज़ात पर साइन करने के लिए हनीप्रीत लाजपत नगर में अपने वकील के दफ्तर में पहुंची थी.

हनीप्रीत के हाव-भाव. उसकी चाल ढाल बहुत बारीकी से परखिये. क्योंकि यही इस बात की गवाही देंगे की लाजपत नगर के इस सीसीटीवी में रिकॉर्ड हुई ये महिला हनीप्रीत है या नहीं. फुटेज में दिख रही महिला चलने के दौरान अपने बाएं हाथ को पूरा आगे और पीछे की तरफ ले जा रही है. वहीं हमारे पास हनीप्रीत के चलने के जो रील और रियल फुटेज हैं. उसमें भी जब हनीप्रीत चलते हुए दिख रही है. तब भी उसका बायां हाथ पूरा आगे और पीछे की तरफ जा रहा है.

हाव भाव के बाद अगर आप हनीप्रीत के चलने के तरीके पर गौर करेंगे.. तो पाएंगे कि जब वो चलती है तो लंबे-लंबे कदम का इस्तेमाल करती है. भले वो धीमे चल रही हो या तेज़. सीसीटीवी फुटेज में दिख रही महिला की चाल पर भी गौर कीजिए. उसके लंबे-लंबे कदम इसी तरफ इशारा कर रहे हैं. मगर इस को सच मानने से पहले कुछ और ज़रूरी पड़ताल बाकी हैं.

इसमें कोई दो राय नहीं कि हनीप्रीत भेस बदलने में माहिर और इसका मुजाहिरा वो बाबा की फिल्म हिंद का नापाक को जवाब में कर चुकी है. जिसमें अकेले ही 21-21 रोल को अदा कर हनीप्रीत ने सब को दंग कर दिया था. लेकिन इसी फिल्म में एक रोल के दौरान हनीप्रीत ने एक ऐसी महिला का किरदार निभाया था. जिसके लिए उसने बुर्का पहना. जो कोट स्कार्फ स्टाइल का था. ठीक वैसा ही जैसा पुलिस को मिली सीसीटीवी फुटेज में नज़र आ रही महिला ने पहन रखा है.

सीसीटीवी में दिख रही महिला और हनीप्रीत को एक साबित करने के लिए सबसे अहम और सबसे ज़रूरी है. उसका पर्स. फुटेज में उसके पर्स का कलर तो समझ नहीं आ रहा है मगर ये साइज़ में बड़ा है. पंचकुला की उन तस्वीरों पर गौर करेंगे तो पाएंगे कि हनी ने यहां भी गुलाबी रंग का ये बड़ा सा पर्स ले रखा था. सिर्फ यहीं नहीं बल्कि जब-जब हनीप्रीत पर्स लिए नज़र आती हैं तो उसके पर्स का स्टाइल कुछ ऐसा ही होता है.

तो क्या ये मान लिया जाए कि सीसीटीवी में दिख रही महिला और हनीप्रीत की स्टाइल एक जैसी है. क्या वाकई में जिस हनीप्रीत को सात-सात राज्यों और दो मुल्कों में ढूंढा गया वो राजधानी में ही छुपी बैंठी थी. और अगर ऐसा है तो वाकई एक कमाल है बाबा की हनी. जिसने अपनी पूरी पुलिस फोर्स को अकेले महीने भर से छका रखा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें