scorecardresearch
 

बुलंदशहर गैंगरेप पीड़िता ने तोड़ी चुप्पी, पुलिस प्रशासन पर निकाला गुस्सा

पूरे देश को हिलाकर रख देने वाले बुलंदशहर गैंगरेप मामले की पीड़िता ने आखिरकार आजतक के सामने अपनी चुप्पी तोड़ी और पुलिस प्रशासन पर अपना गुस्सा निकाला. पीड़िता की आंखों में दर्द साफ झलक रहा था. पीड़िता ने भरे हुए गले से कहा कि वह खुद अपने हाथों से गुनहगारों को सजा देना चाहती है.

पीड़िता का कहना है कि वो दोषियों को खुद सजा देना चाहती है पीड़िता का कहना है कि वो दोषियों को खुद सजा देना चाहती है

पूरे देश को हिलाकर रख देने वाले बुलंदशहर गैंगरेप मामले की पीड़िता ने आखिरकार आजतक के सामने अपनी चुप्पी तोड़ी और पुलिस प्रशासन पर अपना गुस्सा निकाला. पीड़िता की आंखों में दर्द साफ झलक रहा था. पीड़िता ने भरे हुए गले से कहा कि वह खुद अपने हाथों से गुनहगारों को सजा देना चाहती है.

आरोपियों को खुद सजा देना चाहती है पीड़िता
पीड़िता ने आजतक से कहा कि उन्हें तसल्ली तभी मिलेगी, जब वो दोषियों की आंखें फोड़ देगी. पीड़ित महिला ने मांग करते हुए कहा कि पहले वह अपने गुनहगारों को खुद सजा देगी, उसके बाद पुलिस और कानून उनका हिसाब करे. पीड़ित महिला का कहना था कि वह दरिंदो को अपने हाथों से मारना चाहती है.

पुलिस चाहती तो सभी आरोपी होते गिरफ्तार
पीड़ित महिला के मन में पुलिस के खिलाफ भी जबरदस्त गुस्सा था. आजतक से बातचीत में अपने गुस्से को बयान करते हुए पीड़ित महिला ने कहा कि पुलिस चाहती तो अब तक सभी आरोपी गिरफ्तार हो चुके होते. लेकिन इतने दिन बीत जाने पर भी पुलिस ने सिर्फ तीन को ही गिरफ्तार किया है. जबकि पुलिस ने 24 घंटे के अंदर सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात कही थी.

आत्महत्या की चेतावनी
पुलिस के खिलाफ गुस्सा और अपना दर्द बयान करते हुए पीड़ित महिला ने कहा कि अगर आरोपी अगले 24 घंटे मे गिरफ्तार नहीं होंगे, तो वह अपने पति और बेटी के साथ खुदकुशी कर लेगी.

पुलिस की लापरवाही भी उजागर
इससे पहले बुलंदशहर गैंगरेप मामले में घटनास्थल पर एसएसपी के अलावा डीआईजी और एसटीएफ के निरिक्षण के करीब 36 घंटे बाद भी पीड़ितों का सामन बरामद होना साफतौर पर पुलिस की लापरवाही दर्शाता है. फिलहाल पुलिस अधिकारी चुप्पी साधे हैं. आजतक की टीम ने मौके का दौरा किया था, तो एक सोने की चेन और एक महिला का पर्स खेत में मिला था जबकि पुलिस को वो पहले ही बरामद करना चाहिए था.

आज तक को मिले थे मौके पर सबूत
हैरान करने वाली बात यह है कि आज तक की टीम से पहले कोतवाली देहात पुलिस, सीओ सिटी, एसपी सिटी और आला अधिकारियों ने घटनास्थल का जायज़ा लिया था. नोएडा एसटीएफ ने भी मौके का निरिक्षण किया था. इनके बाद फोरेंसिक टीम भी मौके पर पहुंची थी, लेकिन किसी की नज़र सोने की चेन और महिला के पर्स पर नहीं पड़ी. मौके से एक मोजा भी बरामद हुआ था. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें