scorecardresearch
 

बलिया गोलीकांड के मुख्य आरोपी के समर्थन में BJP विधायक, बेटे ने भी दी CM को चेतावनी

बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा था कि धीरेंद्र प्रताप सिंह ने आत्मरक्षा में गोली चलाई थी. इसके बाद से विपक्ष योगी सरकार पर हमलावर है. सुरेंद्र सिंह ने जिन घायलों का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया था, उनमें से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह (फाइल फोटो) बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दूसरे पक्ष के खिलाफ केस दर्ज कराने पहुंचे MLA
  • कहा- धीरेंद्र पर पहले दूसरे पक्ष ने हमला किया था
  • MLA के बयान से योगी सरकार की हुई फजीहत

बलिया गोलीकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ डब्ल्यू के समर्थन में बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह खुलकर सामने आ गए हैं. शनिवार सुबह वो रेवती थाना में दूसरे पक्ष के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने पहुंचे. विधायक के मुताबिक, धीरेंद्र प्रताप सिंह और उनके समर्थकों पर पहले दूसरे पक्ष ने हमला किया था. BJP विधायक ने कहा कि अगर दूसरे पक्ष के खिलाफ केस दर्ज नहीं होगा तो धरने पर बैठ जाऊंगा. 

इससे पहले सुरेंद्र सिंह ने कहा था कि धीरेंद्र प्रताप सिंह ने आत्मरक्षा में गोली चलाई थी. सुरेंद्र सिंह ने जिन घायलों का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया था, उनमें से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह के बयान से योगी सरकार की काफी फजीहत हुई है. इसके बाद से विपक्ष योगी सरकार पर हमलावर है. इधर, बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह के बेटे ने भी योगी सरकार को चेतावनी दे दी है. बेटे विद्याभूषण सिंह हजारी ने फेसबुक के जरिए कहा, 'योगी जी, अब बर्दाश्त के बाहर हो रहा है. आपके शह पर प्रशासन अत्याचार का अंत कर रहा है. मजबूर होकर सड़क पर उतरेंगे.' 

इधर, सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा कि डेढ़ साल पहले धीरेंद्र सिंह ने सप्लाई इंस्पेक्टर के साथ गुंडागर्दी की थी. तब मामला दर्ज हुआ था, लेकिन की गिरफ्तारी नहीं हुई. अब पता चला है कि आखिर बीजेपी के राज में गुंडाराज क्यों बढ़ रहा है. योगी राज में सिर्फ गुंडों का मनोबल बढ़ा है. 

25 हजार का इनाम घोषित

बलिया गोलीकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ डब्ल्यू समेत 6 वांछित आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है. एसपी बलिया ने 15 अक्टूबर को रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव में हुई घटना के संबंध में फरार आरोपियों पर ये इनाम राशि घोषित की है. 

बता दें कि बलिया के रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव में 15 अक्टूबर को दोपहर बाद पुलिस और जिला प्रशासन के आला अधिकारियों की मौजूदगी में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई. वारदात उस वक्त हुई जब कोटा की दुकान के लिए एसडीएम और सीओ की मौजूदगी में गांव में खुली बैठक चल रही थी. इस मामले का मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह है जो अभी तक फरार है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें