scorecardresearch
 

अमेरिका-नॉर्थ कोरिया के बीच जंग का जिम्मेदार होगा चीन?

तानाशाह किम जोंग उन की हरकतों से पहले ही पूरी दुनिया से अलग-थलग पड़ चुका नॉर्थ कोरिया अब और घिरने लगा है. वो चीन की दोस्ती से भी हाथ धो सकता है. इस दुनिया में चीन ही उन गिने-चुने मुल्कों में एक है, जिसके नॉर्थ कोरिया से ठीक-ठाक रिश्ते हैं. लेकिन अब नॉर्थ कोरिया के परमाणु परीक्षणों और अमेरिका से चलती तनातनी की वजह से चीन ने नॉर्थ कोरिया में किम जोंग उन की हुकूमत बदलने पर सोच-विचार करना शुरू कर दिया है. इस मसले पर पहली बार चीन में खुली बहस की शुरुआत हुई है, जिस पर अब तक क़ानूनी पाबंदी थी. यानी नॉर्थ कोरिया का तानाशाह थोड़ा और घिर चुका है.

X
अमेरिका ने नार्थ कोरिया से युद्ध के मद्देनजर ही समंदर में अपने जंगी जहाज उतारे हैं अमेरिका ने नार्थ कोरिया से युद्ध के मद्देनजर ही समंदर में अपने जंगी जहाज उतारे हैं

तानाशाह किम जोंग उन की हरकतों से पहले ही पूरी दुनिया से अलग-थलग पड़ चुका नॉर्थ कोरिया अब और घिरने लगा है. वो चीन की दोस्ती से भी हाथ धो सकता है. इस दुनिया में चीन ही उन गिने-चुने मुल्कों में एक है, जिसके नॉर्थ कोरिया से ठीक-ठाक रिश्ते हैं. लेकिन अब नॉर्थ कोरिया के परमाणु परीक्षणों और अमेरिका से चलती तनातनी की वजह से चीन ने नॉर्थ कोरिया में किम जोंग उन की हुकूमत बदलने पर सोच-विचार करना शुरू कर दिया है. इस मसले पर पहली बार चीन में खुली बहस की शुरुआत हुई है, जिस पर अब तक क़ानूनी पाबंदी थी. यानी नॉर्थ कोरिया का तानाशाह थोड़ा और घिर चुका है.

किम हल्के में लेने की गलती

नार्थ कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन दुनिया को तबाह करना चाहता है. खासकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को. जो उसे हल्के में लेने की गलती बार-बार कर रहे हैं. वो कभी उसे रॉकेट मैन कहते हैं. कभी मैड मैन. तो कभी सनकी मैन. इस बात को जान कर भी वो ना जाने क्यों अनजान हैं कि उसके पास 5-5 परमाणु और हाईड्रोजन बम हैं. अगर वही सनकी पागल, दीवाना हो गया तो फिर ऐसी तबाही लाएगा कि उसका खामियाज़ा पूरी दुनिया को भुगतना पड़ेगा.

चीन के बदले तेवर

लेकिन नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की दुश्मनी तो अब जगजाहिर है, इस स्टोरी में अब नया पेंच ये है कि किम जोंग उन की हरकतों पर चीन का मिज़ाज भी तीखा हो चला है. जी हां, वो चीन, अकेले जिसे पूरी दुनिया में नॉर्थ कोरिया का नज़दीकी मुल्क माना जाता है, अब उसने किम जोंग उन की हुकूमत को लेकर सोचना शुरू कर दिया है. चीन में इसे लेकर नई और खुली बहस छिड़ गई है कि क्या अब नॉर्थ कोरिया से किम जोंग उन की हुकूमत खत्म होनी चाहिए?

किम से नाराज ड्रैगन

कल तक कोई चीन में ऐसी बहस के बारे में सोच भी नहीं सकता था, लेकिन अब लगता है कि नॉर्थ कोरिया में लगातार होते परमाणु परीक्षणों को देखते हुए अब चीन का रुख भी बदलने लगा है. ये और बात है कि अब भी चीन का ऑफिशियल एजेंडा नॉर्थ कोरिया और अमेरिका को बातचीत के लिए तैयार करना ही है, ताकि दुनिया में अमन रहे. लेकिन लगता है कि किम के रवैये से अब चीन भी बिदकने लगा है.

चीन में बहस

अब नॉर्थ कोरिया चारों तरफ़ से घिरने लगा है. किम की करतूतों पर चीन ने भी आंखें तरेरी हैं. नॉर्थ कोरिया की हुकूमत बदलने पर चीन में बहस शुरु हो गई है. तो क्या किम के ख़िलाफ़ खड़ा हो जाएगा चीन? ये सवाल अहम है. हालांकि ये भी सच है कि हाल ही में अमेरिका ने नॉर्थ कोरिया को बुरी तरह ललकारा है. ट्रंप ने किम को पागल, सनकी और ना जाने क्या-क्या कहते हुए बर्बाद कर देने की धमकी दी है. ऐसे किसी आम आदमी को भी ललकारा जाए तो उसे भी गुस्सा आ जाए.

ट्रंप ने किम को कहा मैडमैन

सबसे पहले जानिए कि आखिर माजरा है क्या. दुनिया पर इस तबाही की नौबत क्यों आई. तो इसके लिए सबसे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की ज़ुबान सुनिए. उन्होंने कहा 'मैडमैन को ऐसा सबक सिखाएंगे, जिंदगी भर याद रखेगा. किम ऐसा पागल है, जो अपने लोगों की परवाह नहीं करता. इतनी गोली मारेंगे कि दुनिया देखती रह जाएगी. किम के साथ भीषण जंग कभी भी हो सकती है.'

अमेरिका दिला रहा है तैश

किसी आम आदमी को भी इस तरह ललकारा जाए तो उसे भी जलाल आ जाए. ये तो फिर भी किम जोंग उन. अपने आगे किसी की सुनना इसे बर्दाश्त नहीं. फिर भी सबकुछ जानते बूझते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति उसे तैश दिलाने वाले जुमले सुना रहे हैं. लिहाज़ा उसने भी अपने हाइड्रोजन बम से प्रशांत महासागर में ऐसी तबाही मचाने की धमकी दी है कि उसकी जद में पूरी दुनिया आ जाएगी.

हाइड्रोजन बम से करेगा हमला

जो हाइड्रोजन बम की ताकत के बारे में नहीं जानते. वो फिर से सुन लें कि ये इतना शक्तिशाली बम होता है कि सुनामी के आलावा समंदर से लेकर ज़मीन तक जलजला ला देगा और ज़मीन अपनी जगह से खिसकने लगेंगी. प्रशांत महासागर में गिरकर नॉर्थ कोरिया के मार्शल किम जोंग उन का हाइड्रोजन बम क्या गज़ब ढाने वाला है, इसकी तफ्सील जानकर आपके होश उड़ जाएंगे. ये जानना ज़रूरी है कि इस अदावत और इस धमकी को लेकर कितना संजीदा है किम जोंग उन.

किम ने ट्रंप को दी सलाह

कोरियन सेंट्रल न्यूज़ एजेंसी की तरफ से जारी बयान में किम जोंग उन ने कहा 'एक डरा हुआ कुत्ता ज़्यादा ज़ोर से भौंकता है. मैं ट्रंप को सलाह देना चाहूंगा कि जब वो दुनिया के सामने कोई बात कहें, तो अपने शब्दों के चयन पर ध्यान दें. अमेरिकी राष्ट्रपति का एक पूरे के पूरे देश को बर्बाद करने देने की धमकी देना उनके मानसिक दिवालियेपन का सुबूत है. राष्ट्रपति की कुर्सी पर बैठने के बाद से ही ट्रंप ने अपनी ब्लैकमेलिंग और धमकी भरी बातों से पूरी दुनिया को बेचैन कर रखा है. वो किसी भी देश की सेना का सुप्रीम कमांडर बनने के क़ाबिल ही नहीं है. असल में वो कोई सियासतदान नहीं, बल्कि एक ऐसा गैंगस्टर है, जिसे आग से खेलने का शौक है.

दोनों के झगड़े में दुनिया का नुकसान

ये तो महज़ उस गुस्से का इज़हार है जो तमाम ताकत होने के बावजूद नार्थ कोरिया का ये मार्शल अपने कलेजे में दबाए बैठा है. इसके बयान से तो आप अंदाज़ा लगा ही चुके होंगे कि ट्रम्प की एक एक धमकी इसके दिल में कितने अंदर तक घर चुकी है. उसके खिलाफ उगले गए हर उस अल्फाज़ का बदला लेने के लिए जो अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने उसके लिए कहें हैं. लिहाज़ा गनीमत यही है कि एक कदम वो पीछे हटे और एक कदम ये पीछे आए. क्योंकि अगर ये दोनों एक दूसरे के खिलाफ ऐसे ही आग उलगते रहे तो उसकी आंच में यकीनन पूरी दुनिया झुलस जाएगी.

किम का साथ छोड़ सकता है चीन

लेकिन लगता है कि चीन भी अब नॉर्थ कोरिया का साथ छोड़ सकता है. अबतक चीन में नॉर्थ कोरिया में हुकूमत बदलने को लेकर किसी भी बहस पर क़ानूनी रोक थी. लेकिन शायद चीन अब नॉर्थ कोरिया पर दबाव बनाना चाहता है. और तभी उसने संयुक्त राष्ट्र की तरफ से नॉर्थ कोरिया पर लगाए गए नए और कठिन प्रतिबंधों का समर्थन भी किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें