scorecardresearch
 
बड़े अपराध

बीमारी के बहाने युवती ने पूर्व बॉस को बुलाया, हनीट्रैप में फंसाकर गैंग से करवाई लूट

बीमारी के नाम पर युवती ने एक्‍स बॉस को बुलाया, हनीट्रेप में फंसाकर गैंग से करवाई लूट.
  • 1/7

एक युवती ने अपने पूर्व बॉस और लोन फाइनेंसर को धोखे से बुलाया और अपने साथियों के साथ हनीट्रैप की घटना को अंजाम देकर अपहरण की वारदात कर डाली. युवती के साथ 4 और लोगों ने फाइनेंसर से सवा लाख रुपये लूट लिए और 15 लाख का चेक लेकर फरार हो गए. यह घटना राजस्‍थान के जोधपुर जिले की है.  (जोधपुर से अशोक शर्मा की र‍िपोर्ट)

बीमारी के नाम पर युवती ने एक्‍स बॉस को बुलाया, हनीट्रेप में फंसाकर गैंग से करवाई लूट.
  • 2/7

युवती नीलम ने चार बदमाशों के साथ मिलकर लोन फाइनेंसर शैलेंद्र के साथ मारपीट कर उसके कपड़े उतरवाकर फोटो खींचे, फिर खुद की कार में अपने साथ ले गए. अपहरणकर्ताओं ने कारोबारी से 22 हजार रुपये लूटे और 95 हजार ऑनलाइन ट्रांसफर कराए. शैलेंद्र को फोटो वायरल करने और परिवार को जान से मारने की धमकी देकर 15 लाख रुपये का चेक भी ले लिया.

बीमारी के नाम पर युवती ने एक्‍स बॉस को बुलाया, हनीट्रेप में फंसाकर गैंग से करवाई लूट.
  • 3/7

यह घटना 5 नवंबर की है. 9 नवंबर तक अपहरणकर्ता शैलेंद्र व परिजनों को धमकाते रहे, आखिरकार तंग आकर कारोबारी शैलेंद्र ने जोधपुर के महामंदिर पुलिस थाने में केस दर्ज करवाया.

बीमारी के नाम पर युवती ने एक्‍स बॉस को बुलाया, हनीट्रेप में फंसाकर गैंग से करवाई लूट.
  • 4/7

महामंदिर थानाधिकारी कैलाशदान देथा ने बताया कि रातानाडा निवासी शैलेंद्र गाड़ियों के फाइनेंस का काम करता है. उसके ऑफिस में पहले काम करने वाली नीलम ने 5 नवंबर को फोन कर कहा कि वह बीमार है, उसे मदद की जरूरत है. इस पर वह अपनी स्कूटी पर रात 8 बजे आरटीओ रोड पर पहुंचे. 

बीमारी के नाम पर युवती ने एक्‍स बॉस को बुलाया, हनीट्रेप में फंसाकर गैंग से करवाई लूट.
  • 5/7

यहां वह नीलम से बात कर रहे थे, उस दौरान चार अन्य लोग आए और मारपीट कर कपड़े उतरवा दिए. फोटो-वीडियो बनाकर कार में मारपीट करते हुए बनाड़ की ओर ले कर गए. आरोपियों ने पहले उनसे 22 हजार रुपये नगद लिए और 15 लाख की फिरौती मांग उनके आपत्तिजनक फोटो वायरल करने की धमकी दी, फिर फिरौती ऑनलाइन खाते में ट्रांसफर करने को कहा. 

बीमारी के नाम पर युवती ने एक्‍स बॉस को बुलाया, हनीट्रैैप में फंसाकर गैंग से करवाई लूट.
  • 6/7

तब शैलेंद्र ने कहा कि उन्हें ट्रांसफर करना नहीं आता. इस पर आरोपी उन्हें ईमित्र पर लेकर गए लेकिन वहां पर पैसे ट्रांसफर नहीं हुए तो ऐप के जरिए 95 हजार रुपये राजेंद्र चौधरी के खाते में जमा करवाए. उसके बाद रात 12 बजे के करीब उनको एक घर ले गए और राजेंद्र के नाम 15 लाख का चेक भरवाया गया. साथ ही परिवार को खत्म करने की धमकी दी गई.

बीमारी के नाम पर युवती ने एक्‍स बॉस को बुलाया, हनीट्रैैप में फंसाकर गैंग से करवाई लूट.
  • 7/7

इस घटना के बाद से शैलेंद्र और उसके परिवार वाले डरे हुए हैं. आपको बता दें कि बदमाशों का एक साथी 9 नवंबर को घर आया था. उसने 4 लाख रुपये की मांग की व शैलेंद्र की गैर मौजूदगी में पत्नी के साथ बदतमीजी भी की. महामंदिर थानाधिकारी ने बताया कि प्रथम दृष्टया हनीट्रैप का मामला लग रहा है. मामले में पीड़ित पक्ष के बयान लेकर जांच शुरू कर दी गई है.