scorecardresearch
 

Rajasthan Coronavirus Cases: राजस्थान में 111 दिन बाद कोरोना से पहली मौत, सामने आए रिकॉर्ड 18 पॉजिटिव केस

Rajasthan Coronavirus Cases: जयपुर एजेंट रोल अस्पताल में कोरोना से ढाई साल के बच्चे की मौत हो गई. कोरोना के गिरते मामलों को देखते हुए सरकार ने स्कूल खोलने के फैसले कर लिए, मगर पिछले 3 दिनों में तीन स्कूलों में बच्चे कोरोना पॉजिटिव मिले थे.

Rajasthan Coronavirus Cases Rajasthan Coronavirus Cases
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 111 दिन बाद प्रदेश में कोरोना से पहली मौत हुई
  • एक्टिव केसों की संख्या 100 के पार

Rajasthan Coronavirus Update: दिवाली के बाद और शादियों के मौसम में राजस्थान में कोरोना (Rajasthan Coronavirus Case) तेजी से पैर पसारने लगा है. 111 दिन बाद प्रदेश में कोरोना से पहली मौत हुई है और एक दिन में रिकॉर्ड 18 कोरोना पॉजिटिव आए हैं, जिसमें से अकेले जयपुर में 12 मिले हैं.दिवाली के पहले राजस्थान में 33 में से 30 जिले पर कोरोना फ्री हो गए थे, लेकिन यह अब तक 12 जिलों में फैल चुका है. पहले तीन जिलों में ही इक्के-दुक्के रोगी मिला करते थे. दिवाली के पहले पूरे प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या केवल 20 थी मगर बुधवार को यह आंकड़ा 100 पार गया.

गुरुवार को जयपुर एजेंट रोल अस्पताल में कोरोना से ढाई साल के बच्चे की मौत हो गई. कोरोना के गिरते मामलों को देखते हुए सरकार ने स्कूल खोलने के फैसले कर लिए, मगर पिछले 3 दिनों में तीन स्कूलों में बच्चे कोरोना पॉजिटिव मिले थे, जिसके बाद स्कूलों को बंद करना पड़ा था. गुरुवार को दो और अब स्कूलों में दो और बच्चे पॉज़िटिव  मिले. 15 अक्टूबर को स्कूल खुलने के बाद से अब तक पांच बच्चे एक सप्ताह में कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. बड़ी संख्या में अभिभावकों ने बच्चों को स्कूल भेजना बंद कर दिया है और पिछले 4 -5 दिनों रोजाना 10 से ज्यादा कोरोना के मरीज राजस्थान में मिलें शुरू हो गए हैं.

यह भी पढ़ें: भारत की स्वदेशी वैक्सीन को दुनिया ने स्वीकारा, 110 देशों ने कोवैक्सीन-कोविशील्ड को दी मंजूरी

इस बीच, जयपुर में भारत-न्यूज़ीलैंड T-20 मैच के दौरान बड़ी संख्या में दर्शक जुटे थे और कोई भी मास्क नहीं लगा रखा था, जिसकी वजह से कोरोना विस्फोट का खतरा मंडराने लगा है. राजस्थान में जयपुर, जोधपुर, अलवर, अजमेर, कोटा, बाड़मेर, बीकानेर, भीलवाड़ा, नागौर, पाली, बारां और उदयपुर में कोरोना के मामले बढ़ने शुरू हो गया है. इधर, वैक्सीन एहसानइधर वैक्सीन एहसान में भी राजस्थान लगातार पिछड़ता जा रहा है. पिछले 20 दिनों से राजस्थान में वैक्सीनेशन का औसत 4000 से दो लाख डोज प्रतिदिन है, जबकि राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री का दावा था कि हम 15 लाख टीके लगाने की क्षमता रखते हैं. 

उधर, राजस्थान में डेंगू भी बेकाबू हुआ जा रहा है. डेंगू के कुल 15,212 मामले सामने आ चुके हैं. पहली बार इतनी बड़ी संख्या में डेंगू के मामले सामने आए हैं, जिसमें से अकेले 2648 डेंगू रोगी जयपुर में पाए गए हैं. हालांकि, यह सरकारी आंकड़ा मरीजों और मौतों की संख्या इससे कहीं ज्यादा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें