scorecardresearch
 

दिल्ली में अब तक 49% हेल्थकेयर वर्कर्स ने नहीं लिया वैक्सीन का दूसरा डोज, जानें वजह

AIIMS में 16 जनवरी को 95 हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज दिया गया जबकि 13 फरवरी को 54 हेल्थकेयर वर्कर्स ही वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पहुंचे. 18 जनवरी को AIIMS में 8 हेल्थ केयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज लगाया, तो 15 फरवरी को 8 हेल्थकेयर वर्कर्स वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पहुंचे.

दिल्ली में वैक्सीन लेता एक शख्स (फोटो-पंकज जैन) दिल्ली में वैक्सीन लेता एक शख्स (फोटो-पंकज जैन)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली में 2.5 लाख हेल्थ केयर वर्कर्स ने रजिस्ट्रेशन कराया
  • 12 फरवरी तक 1,77,418 वर्कर्स को ही लगा पहला टीका
  • 50.99% हेल्थ केयर वर्कर्स ने वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाया

देश की राजधानी दिल्ली में वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने वाले हेल्थकेयर वर्कर्स बेहद कम संख्या में वैक्सीनेशन साइट पर पहुंच रहे हैं. देशभर में 16 जनवरी को टीकाकरण की शुरुआत हुई थी और इस दिन से 28 दिनों के बाद 13 फरवरी से वैक्सीन का दूसरा डोज लगाने का सिलसिला भी शुरू हो गया है.

'आजतक' ने दिल्ली के 5 बड़े अस्पतालों में वैक्सीन का पहला और दूसरा डोज़ लगवा चुके हेल्थ केयर वर्कर्स के आंकड़ों का आंकलन किया है. 'आजतक' की टीम ने दिल्ली के कई बड़े अस्पतालों की वैक्सीनेशन साइट का जायजा भी लिया है. साथ ही अस्पताल प्रशासन और एक्सपर्ट से इस वजह को जाना कि आख़िर क्यों इतनी कम संख्या में हेल्थकेयर वर्कर्स वैक्सीन का दूसरा डोज नहीं लगवा रहे हैं.

RML में 19 लोगों ने लिया दूसरा डोज

'आजतक' को मिले आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक केंद्र सरकार के राम मनोहर लोहिया (RML)अस्पताल में 16 जनवरी को 31 हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज दिया गया था जबकि 13 फरवरी को 19 हेल्थकेयर वर्कर्स ही वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पहुंचे. वहीं 18 जनवरी को RML अस्पताल में 69 हेल्थ केयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज लगाया, तो RML अस्पताल में 15 फरवरी को एक भी हेल्थकेयर वर्कर वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने नहीं पहुंचे. हालांकि 19 जनवरी को RML अस्पताल में 27 हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज मिला जबकि 16 फरवरी को इससे अधिक 50 हेल्थ केयर वर्कर्स ने वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाया है.

दिल्ली में वैक्सीनेशन के लिए लोगों में कम दिख रहा उत्साह (फोटो-पंकज जैन)
दिल्ली में वैक्सीनेशन के लिए लोगों में कम दिख रहा उत्साह (फोटो-पंकज जैन)

केंद्र सरकार के ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (AIIMS) में 16 जनवरी को 95 हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज दिया गया था जबकि 13 फरवरी को 54 हेल्थकेयर वर्कर्स ही वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पहुंचे. वहीं 18 जनवरी को AIIMS अस्पताल में 8 हेल्थ केयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज लगाया, तो 15 फरवरी को भी 8 हेल्थकेयर वर्कर्स वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पहुंचे. हालांकि 19 जनवरी को AIIMS अस्पताल में 55 हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज मिला जबकि 16 फरवरी को इससे बेहद कम 8 हेल्थ केयर वर्कर्स ने वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाया है.

दिल्ली सरकार के गुरु तेग बहादुर (GTB) अस्पताल में 16 जनवरी को 31 हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज दिया गया था जबकि 13 फरवरी को 17 हेल्थकेयर वर्कर्स ही वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पहुंचे. वहीं 18 जनवरी को GTB अस्पताल में 24 हेल्थ केयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज लगाया, तो 15 फरवरी को 12 हेल्थकेयर वर्कर्स वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पहुंचे. हालांकि 19 जनवरी को GTB अस्पताल में 28 हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज मिला जबकि 16 फरवरी को इससे बेहद कम 11 हेल्थ केयर वर्कर्स ने वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाया है.

LNJP में सिर्फ 1 ने दूसरा डोज लिया

दिल्ली सरकार के राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में 16 जनवरी को 45 हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज दिया गया था जबकि 13 फरवरी को 4 हेल्थकेयर वर्कर्स ही वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पहुंचे. वहीं 18 जनवरी को राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में 20 हेल्थ केयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज लगाया, तो 15 फरवरी को 21 हेल्थकेयर वर्कर्स वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पहुंचे.

हालांकि 19 जनवरी को राजीव गांधी अस्पताल में 9 हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज मिला जबकि 16 फरवरी को इससे बेहद कम 4 हेल्थ केयर वर्कर्स ने वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाया है.

दिल्ली सरकार के लोक नायक जय प्रकाश (LNJP) अस्पताल में 16 जनवरी को 32 हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज दिया गया था जबकि 13 फरवरी को 1 हेल्थकेयर वर्कर्स ही वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पहुंचे. वहीं 18 जनवरी को LNJP अस्पताल में 12 हेल्थ केयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज लगाया, तो 15 फरवरी को 17 हेल्थकेयर वर्कर्स वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पहुंचे. हालांकि 19 जनवरी को LNJP अस्पताल में 35 हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज मिला जबकि 16 फरवरी को इससे बेहद कम 4 हेल्थ केयर वर्कर्स ने वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाया है.

दिल्ली की सभी 83 वैक्सीनेशन साइट्स में शुरुआती तीन दिन 16, 18 और 19 जनवरी तक कुल 12,902 हेल्थकेयर वर्कर्स ने टीका लगवाया था जबकि पिछले तीन दिनों 13, 15 और 16 फरवरी को 6,579 हेल्थकेयर वर्कर्स ने दूसरे डोज का टीका लगवाया है यानी पूरी दिल्ली में पहले के मुकाबले 50.99 फीसदी हेल्थ केयर वर्कर्स ही वैक्सीन का दूसरा डोज लगवाने पहुंचे.

क्या है वजह

आजतक' ने लोक नायक जय प्रकाश अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ सुरेश कुमार से हेल्थकेयर वर्कर्स द्वारा दूसरा डोज नहीं लगवाने की वजह भी जानी. डॉ सुरेश कुमार ने कहा, 'तीन दिन पहले दूसरा डोज देने की प्रक्रिया शुरू हो गई है. जिन्हें वैक्सीन का पहला डोज लग चुका है, उन्हें 4 हफ्ते बाद दूसरा डोज दिया जा रहा है. धीरे-धीरे लोग आ रहे हैं, अभी थोड़ी संख्या कम है, लेकिन निश्चित रूप से यह बढ़ेगी. शुरुआती दिनों में भी वैक्सीनेशन कम था और अब वह तेजी से बढ़ रही है. शुरुआत में हमने देखा कि एक हफ्ते में ही हमने 100 फ़ीसदी टारगेट को अचीव किया था.'

डॉक्टर सुरेश कुमार ने कहा कि पिछले दिनों में एक वीकेंड भी था और कुछ लोगों को मैसेज भी नहीं मिल पाया था, इसलिए भी कम लोग वैक्सीन लेने आ पाए. इसका एक अन्य कारण यह हो सकता है कि डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन के हिसाब से 4 हफ्ते के कुछ दिन बाद तक भी आप वैक्सीन ले सकते हैं, इसलिए हो सकता है लोग एक-दो दिन लेट कर रहे हों.'

28 दिन गुजरने के कितने दिन बाद वैक्सीन का दूसरा डोज लिया जा सकता है? इस सवाल के जवाब में डॉक्टर सुरेश कुमार ने बताया कि जो सबसे अच्छा रिस्पॉन्स आता है, वह 4 हफ्ते के बाद आता है. उन्होंने कहा कि जैसे नाइट ड्यूटी की वजह से या किसी अन्य कारण से अगर कोई वैक्सीन का दूसरा डोज ठीक 4 हफ्ते बाद नहीं लगवा पाए, तो वह अगले दिन लगवा सकता है. इस मामले में नेशनल गाइडलाइन को फॉलो करना चाहिए. 4 हफ्ते के बाद ज्यादा से ज्यादा 1 हफ्ते के भीतर दूसरा डोज ले लेना चाहिए.

दूसरे डोज़ के लिए भागीदारी बढ़ाने के मकसद से अस्पताल प्रशासन हेल्थकेयर वर्कर्स को कॉल और मैसेज भी कर रहे हैं. LNJP अस्पताल के डायरेक्टर डॉक्टर सुरेश कुमार ने बताया कि अस्पताल की ओर से हेल्थकेयर वर्कर्स को फोन किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि "हम यह सुनिश्चित करते हैं कि जिन लोगों को वैक्सीन का पहला डोज़ लग चुका है, वो दूसरा डोज लेने जरूर आएं. कॉल के दौरान हेल्थकेयर वर्कर्स को मोटिवेट भी कर रहे हैं कि वे अपना वैक्सीनेशन शेड्यूल पूरा करें, ताकि खुद को कोरोना संक्रमण से सुरक्षित कर सकें."

आपको बता दें कि दिल्ली में करीब ढाई लाख हेल्थ केयर वर्कर्स ने खुद को वैक्सीनेशन के लिए रजिस्टर किया था. वैक्सीनेशन का दूसरा डोज शुरू होने से पहले 12 फरवरी तक इनमें से 1,77,418 हेल्थ केयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज दे दिया गया है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें