scorecardresearch
 

कर्नाटक में एंट्री से पहले कोविड निगेटिव रिपोर्ट जरूरी, महाराष्ट्र-केरल में बढ़ते केस के मद्देनजर फैसला

कर्नाटक सरकार के रेवेन्यू मिनिस्टर की ओर से एक बयान जारी किया गया. जिसमें कहा गया कि मंगलौर, कोडागु, मैसूर और बेलगाम रूट से राज्य में प्रवेश करने वाले लोगों को COVID-19 की निगेटिव RTPCR रिपोर्ट दिखानी होगी. 

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो- पीटीआई) प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो- पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महाराष्ट्र-केरल में बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले
  • कर्नाटक में एंट्री से पहले कोविड निगेटिव रिपोर्ट जरूरी
  • कोरोना के ब्राजील और साउथ अफ्रीका के वैरिएंट की एंट्री

देश भर में कोरोना वायरस के नए मामलों में गिरावट दर्ज की जा रही है. लेकिन महाराष्ट्र और केरल में लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं. बढ़ते मामलों को देखते हुए अब दूसरे राज्य भी अलर्ट हो गए हैं. इस बाबत कर्नाटक सरकार के राजस्व मंत्री की ओर से एक बयान जारी किया गया. जिसमें कहा गया कि मंगलौर, कोडागु, मैसूर और बेलगाम रूट से राज्य में प्रवेश करने वाले लोगों को COVID-19 की निगेटिव RT-PCR रिपोर्ट दिखानी होगी. 

बता दें कि कर्नाटक सरकार ने यह फैसला महाराष्ट्र और केरल में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लिया है. कर्नाटक सरकार ने इस रूट से राज्य में दाखिल होने वालों के लिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य कर दिया है. इससे पहले किसी भी अंतरराष्ट्रीय यात्री को बेंगलुरु एयरपोर्ट पर आने पर RT-PCR टेस्ट दिखाना अनिवार्य किया गया था.

गौरतलब है कि एक दिन पहले ही कर्नाटक सरकार ने केरल से आ रहे लोगों के लिए भी एक एडवाइजरी जारी की थी. इसके अनुसार, जो भी व्यक्ति केरल से बेंगलुरु में आ रहा है उसे RT-PCR टेस्ट का नेगेटिव सर्टिफिकेट दिखाना अनिवार्य होगा.

उधर, देश में वैक्सीनेशन के बीच कोरोना वायरस के ब्राजील और साउथ अफ्रीका के वैरिएंट की एंट्री भी हो गई है. इस वैरिएंट की दस्तक के बाद कर्नाटक के साथ-साथ महाराष्ट्र और केरल जैसे राज्यों ने भी अपने यहां पर सख्ती बढ़ा दी है. अब किसी भी अंतरराष्ट्रीय यात्री को बेंगलुरु एयरपोर्ट पर आने पर RT-PCR टेस्ट कराना होगा. ये टेस्ट उन लोगों को कराना होगा, जो अपनी यात्रा में ब्राजील या साउथ अफ्रीका से होकर आ रहे हैं.  

वहीं, महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच तीन जिलों ने रविवार तक अपने यहां लॉकडाउन की घोषणा कर दी है. ये तीन जिले यवतमाल, अकोला और अमरावती हैं. यवतमाल में 28 फरवरी तक नाइट कर्फ्यू रहने का आदेश भी दिया गया है. इन तीन जिलों में शनिवार रात 8 बजे लेकर सोमवार सुबह तक लॉकडाउन रहेगा.

मुंबई में भी नई कोरोना गाइडलाइन जारी हुई है, जिसके तहत अब होम क्वारनटीन का नियम तोड़ने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. इसके अलावा होम क्वारनटीन हुए व्यक्ति के हाथ पर मुहर भी लगेगी. गौरतलब है कि भारत में कोरोना वायरस के अब जितने भी मामले मौजूद हैं, उनमें से अधिक केस केरल और महाराष्ट्र के ही हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी इन राज्यों की स्थिति को लेकर चिंता जाहिर की है. 


आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें