scorecardresearch
 

चीन में कोरोना की नई लहर, यूनिवर्सिटी कैम्पस सील, 1500 छात्रों को किया गया आइसोलेट

चीन में कोरोना संक्रमण की एक और लहर देखने को मिली है. वहां की नॉर्थ वेस्टर्न सिटी में स्थित झुंगाझे यूनिवर्सिटी में रविवार को दर्जनों छात्र कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इसके बाद यूनिवर्सिटी कैम्पस को सील कर दिया गया है.

चीन में कोरोना ने एक बार फिर दस्तक दे दी है. (फाइल फोटो-AP/PTI) चीन में कोरोना ने एक बार फिर दस्तक दे दी है. (फाइल फोटो-AP/PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चीन की झुंगाझे यूनिवर्सिटी में कई छात्र संक्रमित
  • चीन ने यूनिवर्सिटी कैम्पस में लगाया लॉकडाउन
  • हजारों छात्रों को होटल में किया गया ट्रांसफर

जिस चीन से कोरोना वायरस निकला, वहां एक बार फिर से इसका प्रकोप देखने को मिल रहा है. चीन की एक यूनिवर्सिटी में कोरोना का संक्रमण बढ़ने के बाद वहां के करीब 1,500 से ज्यादा छात्रों को होटल्स में आइसोलेट कर दिया गया है. 

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, चीन के दालियान प्रांत के नॉर्थ-वेस्टर्न सिटी में स्थित झुंगाझे यूनिवर्सिटी में रविवार को कोरोना के दर्जनों मामले सामने आए थे. इसके बाद यूनिवर्सिटी कैम्पस को सील कर दिया गया है, साथ ही छात्रों को निगरानी के लिए होटल में भेज दिया गया है. छात्र वहीं से ऑनलाइन क्लास अटेंड कर रहे हैं और उन्हें कमरे में ही खाना दिया जा रहा है.

चीन लगातार कोरोना को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति अपना रहा है. जहां भी कोरोना के थोड़े से भी मामले सामने आते हैं, चीन तुरंत उस इलाके में लॉकडाउन लगा देता है. क्वारनटीन, टेस्टिंग और ट्रैवल पर रिस्ट्रिक्शन वहां की ज्यादातर आबादी के लिए अब न्यू नॉर्मल बन गया है. चीन में कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान भी तेजी से चला है. दावा है कि वहां दुनिया में सबसे ज्यादा वैक्सीन डोज लगाई गई हैं. इसके साथ ही अब वहां बूस्टर डोज भी लगाने की तैयारी चल रही है.

हाल ही में हेल्थ वर्कर्स ने क्वारनटीन किए गए एक शख्स के पालतू कुत्ते को मार डाला था, जिसको लेकर भी वहां काफी विवाद बढ़ गया था. ये घटना शंगराओ में हुई थी. इसके बाद वहां की लोकल अथॉरिटी ने एक बयान जारी किया था, जिसमें दावा किया था कि कुत्ते के मालिक और हेल्थ वर्कर्स के बीच समझौता हो गया है. वहीं, चीन की एनिमल राइट्स पर काम करने वाली संस्था चाइना स्मॉल एनिमल प्रोटेक्शन एसोसिएशन ने इस घटना का विरोध करते हुए कहा था कि महामारी की आड़ में किसी बेजुबान की जान नहीं ली जानी चाहिए.

कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए चीन की ओर से कई तरह के प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं. राजधानी बीजिंग में संक्रमण को रोकने के लिए अब देश के किसी भी हिस्से से यहां आने वाले यात्रियों को निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी. ये रिपोर्ट आने से 48 घंटे पहले की ही होनी चाहिए. 

चीन में पिछले साल ही कोरोना पर लगभग लगाम लग गई थी. लेकिन अब यहां कई इलाकों में संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं. चीन में अब तक कोरोना के 98,315 मामले सामने आ चुके हैं और 4,636 मौतें हो चुकी हैं. चीन के नेशनल हेल्थ मिशन के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में देश में 32 नए केस सामने आए हैं, जिनमें से 25 केस अकेले दालियान में मिले हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें