scorecardresearch
 

दिल्लीः स्वास्थ्य मंत्री ने बताई नाइट कर्फ्यू लगाने की वजह, IPL पर भी कही ये बात

दिल्ली में कोरोना के मामलों को बढ़ते देख 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि तेजी से मामले बढ़ते जा रहे हैं और रात में लोग शादी-पार्टियों में इकट्ठे होते थे, इस वजह से नाइट कर्फ्यू लगाया गया है. हालांकि, उन्होंने ये भी कहा कि ये कर्फ्यू कोई कठोर कदम नहीं है.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कई मुद्दों पर बात रखी. (फाइल फोटो-PTI) दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कई मुद्दों पर बात रखी. (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 30 अप्रैल तक दिल्ली में रहेगा नाइट कर्फ्यू
  • रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा
  • सत्येंद्र जैन ने नाइट कर्फ्यू की वजह बताई

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने नाइट कर्फ्यू लगाने की वजह बताई है. उन्होंने बताया कि दिल्ली में रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू किया है. ऐसा इसलिए किया क्योंकि कुछ रिपोर्ट्स आई थीं, जिनमें बताया गया था कि रात के वक्त शादियां, पार्टियां हो रही हैं. इनमें लोग बेवजह इकट्ठे होते हैं और बेहद क्लोज कॉन्टेक्ट में आ जाते हैं. इसलिए इससे बचने के लिए नाइट कर्फ्यू लगाया गया है. क्योंकि शादियों, पार्टियों में शामिल किसी एक व्यक्ति को भी कोरोना हुआ, तो वहां मौजूद बाकी लोगों को भी कोरोना होने का खतरा बढ़ जाता है.

उनका ये भी कहना है कि दिल्ली में पिछले तीन हफ्ते से कोरोना के मामले बढ़े हैं. पहले हर दिन 200 से कम मामले आ रहे थे, लेकिन अब 5 हजार से ज्यादा मामले आ रहे हैं. उन्होंने बताया कि मामले बढ़ते देख अस्पतालों में बेड्स बढ़ाए जा रहे हैं. पिछले 3 दिन में 2 हजार से ज्यादा बेड्स बढ़ाए गए हैं और अगले 3 दिन में ढाई हजार बेड्स और बढ़ जाएंगे. उन्होंने सभी से मास्क लगाने की अपील भी की.

उन्होंने कहा, "जिस तरह से कोरोना बढ़ रहा है, उससे लगता है कि पुराना रिकॉर्ड भी तोड़कर आगे न बढ़ जाए. दिल्ली में संक्रमण दर 5% से ज्यादा है, महाराष्ट्र में 25% और छत्तीसगढ़ में 16% और कई राज्यों में संक्रमण दर 10% से ज्यादा दर्ज हो रही है. अगर दिल्ली में संक्रमण दर इतनी ज्यादा बढ़ती है तो हालात खराब हो जाएंगे. इसलिए कोरोना को कंट्रोल करने के लिए तमाम कदम उठाने चाहिए."

उनसे जब पूछा गया कि एक्सपर्ट का कहना है कि नाइट कर्फ्यू प्रभावी नहीं है, तो स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, "नाइट कर्फ्यू से फर्क पड़ता है या नहीं, इसके लिए इंतजार करना होगा. ये कोई कठोर कदम नहीं है. रात को 10 बजे तक आमतौर पर लोग अपने काम खत्म कर लेते हैं." उन्होंने कहा कि ये नाईट कर्फ्यू लंबे समय के लिए नहीं, बल्कि कुछ समय के लिए लगाया गया है.

टैक्सी वालों के रोजगार पर क्या असर पड़ेगा?
इस सवाल के जवाब में सत्येंद्र जैन ने कहा कि टैक्सी के लिए कोई पाबंदी नही है. जो लोग यात्रा करने जा रहे हैं या यात्रा करके लौट रहे हैं, वो टिकट दिखाकर टैक्सी सर्विस इस्तेमाल कर सकते हैं. वहीं रेस्टोरेंट के कारोबार को लेकर उन्होंने कहा कि दिल्ली में वैसे भी रेस्टोरेंट खुलने का समय रात 11 बजे तक का होता है. ऐसे में जब कोरोना फैल रहा है, तो सजग रहना जरूरी है. कुछ लोग लॉकडाउन की बात करते हैं, तो कुछ कहते हैं कि कोई पाबंदी न लगे. इसलिए हमने दोनों के बीच का रास्ता अपनाया है. 

अगले हफ्ते से शुरू होने वाले आईपीएल मैचों को लेकर जब सत्येंद्र जैन से सवाल किया गया, तो उन्होंने इसका जवाब देते हुए कहा, "फिलहाल कोरोना पर फोकस कर रहे हैं, मैच के बारे में नही सोचा है. इस मामले को बाद में देख लेंगे."

दिल्ली में टूटा 6 महीने का रिकॉर्ड
दिल्ली में एक दिन में मिलने वाले कोरोना मरीजों का आंकड़ा 6 महीने बाद टूट गया है. मंगलवार को दिल्ली में 5,100 कोरोना के नए केस दर्ज किए गए, जो कि नवंबर 2020 के बाद का सबसे बड़ा आंकड़ा है. इससे पहले 27 नवंबर, 2020 को दिल्ली में 5,482 मामले सामने आए थे. मंगलवार को 17 मौतें दर्ज की गईं. अब दिल्ली में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या 17 हजार से ज्यादा हो गई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें