scorecardresearch
 

Omicron का असर, क्रिसमस की छुट्टियों में ट्रैवल, एविएशन सेक्टर को फिर लग सकता है ग्रहण!

भारत सरकार ने हाल में विदेशों के लिए अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के परिचालन को 15 दिसंबर से सामान्य करने की घोषणा की थी. लेकिन अब तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के नए वैरिएंट Omicron के खतरे को देखते हुए इस निर्णय को टाल दिया गया है.

 टल सकता है अंतरराष्ट्रीय उड़ानें ‘नॉर्मल’ होने का फैसला! टल सकता है अंतरराष्ट्रीय उड़ानें ‘नॉर्मल’ होने का फैसला!
स्टोरी हाइलाइट्स
  • DGCA स्टेकहोल्डर्स से बातचीत कर लेगा फैसला
  • सिक्किम ने लगाई विदेशी यात्रियों की एंट्री पर रोक
  • पिछले साल 23 मार्च से बंद हैं अंतरराष्ट्रीय उड़ानें

एविएशन और टूरिज्म-ट्रैवल सेक्टर के दिन बहुरने का नाम ही नहीं ले रहे हैं. पिछले साल कोरोना वायरस संकट का सबसे बुरा असर इन्हीं दो सेक्टर पर पड़ा और अब एक बार फिर इन सेक्टर पर Omicron का खतरा मंडरा रहा है. दिसंबर का महीना दुनियाभर में छुट्टियों का महीना होता है. क्रिसमस और नए साल की छुट्टियों पर विदेशों में रहने वाले कई भारतीय घर लौटते हैं. तो वहीं इन्हीं छुट्टियों में घरेलू यात्री देश के साथ-साथ विदेशों की भी यात्रा करते हैं. ऐसे में एविएशन सेक्टर और टूरिज्म सेक्टर को अच्छा फायदा मिलता है.

इंटरनेशनल फ्लाइट्स ‘नॉर्मल’ होने का फैसला टला
Omicron के खतरे को देखते हुए एविएशन सेक्टर के रेग्युलेटर नागर विमानन महानिदेशालय ( DGCA) ने देश से इंटरनेशनल फ्लाइट्स को सामान्य करने के फैसले को अगले आदेश तक स्थगित कर दिया है. पहले देश में 15 दिसंबर से ये फ्लाइट्स सामान्य होनी थीं. नागर विमानन महानिदेशालय ने अपने आदेश में कहा है कि वैश्विक स्तर पर Omicron के बढ़ते खतरे को देखते हुए स्थिति पर करीब से नजर रखी जा रही है. इस बारे में एविएशन सेक्टर के सभी स्टेकहोल्डर्स के साथ बातचीत करने के बाद उचित निर्णय लिया जाएगा.

बीते सप्ताह भारत सरकार ने देश से इंटरनेशनल फ्लाइट्स का परिचालन 15 दिसंबर से फिर शुरू करने की घोषणा की थी. गृह मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के साथ विचार-विमर्श करने के बाद सरकार ने ये निर्णय किया था. 

डेढ़ साल से बंद हैं इंटरनेशनल फ्लाइट्स
पिछले साल कोरोना के चलते 23 मार्च को देश में नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का परिचालन बंद कर दिया गया था. ऐसे में एविएशन सेक्टर को इस बार क्रिसमस और नए साल की छुट्टियों के मौके पर अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का परिचालन फिर शुरू होने से कमाई की उम्मीद थी, लेकिन अभी इस पर ब्रेक लगता दिख रहा है.

राज्यों ने लगाई यात्रियों पर रोक
Omicron के चलते हाल में सिक्किम ने विदेशी यात्रियों के आने-जाने पर रोक लगा दी है. वहीं केंद्र सरकार ने भी विदेशी यात्रियों खासकर यूके समेत यूरोप के सभी देश, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, सिंगापुर, हांगकांग और इजराइल जैसे देशों से आने वाले यात्रियों के लिए कड़े नियम बनाए हैं. इससे भी ट्रैवल इंडस्ट्री पर असर पड़ने की आशंका है.

सिंगापुर, हांगकांग और मॉरीशस जैसे देशों में छुट्टियों के दौरान बड़े पैमाने पर भारतीय पर्यटक जाते हैं. वहीं ब्रिटेन और यूरोप से इन छुट्टियों में घर लौटने वाले भारतीय छात्रों और कामकाजी लोगों की अच्छी खासी संख्या होती है. वहीं दिसंबर के महीने में क्रिसमस और नए साल की छुट्टियों के मौके पर गोवा एवं तटीय राज्यों में घरेलू पर्यटन बढ़ता है. लेकिन अब Omicron के खतरे के चलते इसमें गिरावट आने की आशंका है. ऐसे में ट्रैवल सेक्टर को इसका भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है.

ये भी पढ़ें: 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×