scorecardresearch
 

जहां Omicron का कहर वहां सब 'कूल' है, फिर हम क्यों व्याकुल?

Omicron Variant: कोरोना के नए वैरिएंट के सामने आने के बाद स्टॉक मार्केट लगातार गिर रहे हैं, लेकिन जहां इसका पहला मामला आया और सबसे अधिक मामले हैं, वहां शेयर बाजार लगातार चढ़ रहे हैं.

X
शेयर बाजार (Getty)
शेयर बाजार (Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भारत में एक भी मामला नहीं, फिर भी बाजार हलकान
  • अफ्रीका में सबसे अधिक असर, पर बाजार बंपर

Corona Omicron Variant: दुनिया भर के शेयर बाजार (Global Share Market) कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) के सामने आने से हलकान हैं. भारत भी इससे अछूता नहीं है. पिछले एक महीने में घरेलू शेयर बाजार (Indian Share Market) में करीब पांच फीसदी की भारी-भरकम गिरावट आ चुकी है. हालांकि दक्षिण अफ्रीका की स्थिति एकदम उलट है. ओमिक्रॉन के पहले और सबसे अधिक मामलों के बाद भी दक्षिण अफ्रीका के शेयर बाजार (South African Share Market) पिछले एक महीने के दौरान करीब पांच फीसदी चढ़ चुके हैं.

भारत में अब तक नहीं आया है एक भी मामला

दक्षिण अफ्रीका में ओमिक्रॉन वैरिएंट का पहला मामला आठ नवंबर को गौतेंग (Gauteng Province) प्रांत में सामने आया था. अभी तक दक्षिण अफ्रीका में ओमिक्रॉन के 8,561 मामले सामने आ चुके हैं. दूसरी ओर भारत की बात करें तो अभी तक देश में इस नए वैरिएंट का एक भी मामला सामने नहीं आया है.

ओमिक्रॉन के आने के बाद इतना गिर चुका है सेंसेक्स

एक महीने पहले बीएसई का सेंसेक्स (BSE Sensex) 60 हजार अंक के आस-पास था. अभी यह गिरकर 57,500 अंक के आस-पास आ चुका है. सेंसेक्स में इस सप्ताह का कारोबार भारी उथल-पुथल भरा रहा है. इस दौरान सेंसेक्स कई बार करीब 56 हजार अंक के स्तर तक गिर चुका है. यह 25 सौ से तीन हजार अंकों यानी करीब पांच फीसदी की गिरावट है.

निफ्टी भी महीने भर से है हलकान

इसी तरह एनएसई का निफ्टी (NSE Nifty) भी इस दौरान बड़ी गिरावट से गुजरा है. महीने भर पहले यह 18 हजार अंक के स्तर पर था, जो हाल में गिरकर 17 हजार अंक के स्तर तक आ चुका है. गुरुवार को दोपहर के कारोबार में यह यह 17,300 अंक के आस-पास कारोबार कर रहा था.

रिकॉर्ड मामलों के बाद भी ग्लोबल ट्रेंड को मात दे रहे अफ्रीकी शेयर बाजार

दक्षिण अफ्रीका के बाजार को देखें तो जोहान्सबर्ग शेयर बाजार (JSE) पिछले एक महीने के दौरान लगातार चढ़ा है. नवंबर की शुरुआत में जेएसई 68 हजार अंक के स्तर के आस-पास ट्रेड कर रहा था. बुधवार को यह 71,200 अंक के आस-पास रहा. यह तेजी ऐसे समय है, जब ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में सामने आए और हाल के दिनों में तेजी से बढ़े हैं. सरकारी आंकड़ों के अनुसार, बीते 24 घंटे में ओमिक्रॉन के मामले दक्षिण अफ्रीका में दोगुने हो गए हैं, इसके बाद भी बाजार हरे निशान में ट्रेड कर रहा है.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें