scorecardresearch
 
यूटिलिटी

न हों परेशान, पोस्ट ऑफिस से पैसे निकालने पर 25 रुपये चार्ज वाली रिपोर्ट है फर्जी

निकासी पर नहीं लगेगा कोई चार्ज
  • 1/7

पोस्ट ऑफिस के खाताधारकों को एक अप्रैल से झटका लगने वाला है. कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा था कि 1 अप्रैल से पोस्ट ऑफिस से नकद निकासी के नियम बदल जाएंगे. खबरों में दावा किया जा रहा था कि पोस्ट ऑफिस में जिनका खाता है, उन्हें पैसे निकालने पर 25 रुपये चार्ज देना पड़ेगा. (Photo: File)

पोस्ट ऑफिस से जुड़ी खबर
  • 2/7

दरअसल, देश में बड़े पैमाने पर लोग पोस्ट ऑफिस में बचत खाता खुलवाते हैं. खासकर ग्रामीण इलाकों में लोग अपनी जमापूंजी पोस्ट ऑफिस में रखते हैं और जरूरत के हिसाब से हर महीने निकासी करते हैं. लेकिन कहा जा रहा था कि अब 1 अप्रैल से डाकघर द्वारा खाताधारकों से हर नकद निकासी पर 25 रुपये वसूले जाएंगे. (Photo: File)

मीडिया में चल रही थी फर्जी खबर
  • 3/7

मीडिया में चल रही खबरों में दावा किया जा रहा था कि अगर पोस्ट ऑफिस में बेसिक सेविंग्स अकाउंट है तो फिर 4 बार पैसा निकालने पर कोई चार्ज नहीं देना होगा, लेकिन उससे ज्यादा ट्रांजैक्शन पर ग्राहक को हर निकासी पर 25 रुपये या 0.5 फीसदी चार्ज देना होगा. (Photo: File)

हर निकासी पर 25 रुपये चार्ज की खबर फर्जी
  • 4/7

यह खबर तेजी से फैल रही थी, जिन लोगों का पोस्ट ऑफिस में बचत खाता है, वो इस खबर से परेशान हो रहे थे. आखिर हर निकासी पर 25 रुपये चार्ज कैसे पोस्ट ऑफिस वसूल सकता है? अब इस खबर पर सरकार की प्रतिक्रिया आई है. (Photo: File)

 फैक्ट चेक एजेंसी ने बताई गलत खबर
  • 5/7

दरअसल, सरकारी फैक्ट चेक एजेंसी (PIB FACT CHECK) ने मीडिया में चल रही खबरों को फर्जी करार दिया है. पीआईबी फैक्ट चेक में पोस्ट ऑफिस से पैसे निकासी पर 25 रुपये चार्ज वसूलने से जुड़ी खबर को गलत करार दिया है. (Photo: File)

कोई चार्ज नहीं वसूला जाएगा
  • 6/7

पीआईबी ने लोगों को आगाह करते हुए कहा है कि मीडिया जो खबरें चल रही हैं वो फर्जी दावा है. सरकार ने इस तरह का कोई फैसला नहीं लिया है. इंडियन पोस्ट ऑफिस ने खाताधारकों द्वारा पैसे निकालने पर शुल्क लगाने की कोई घोषणा नहीं की है. यानी कोई चार्ज नहीं वसूला जाएगा. (Photo: File)

फर्जी खबरों से बचें
  • 7/7

गौरतलब है कि पीआईबी फैक्ट चेक (PIBFactcheck) द्वारा उन खबरों की पड़ताल की जाती है, जो जनता से जुड़ी हो. क्योंकि कई बार फर्जी खबर तेजी से फैल जाती है, और फिर कुछ लोग उस खबर को लेकर परेशान हो जाते हैं. पीआईबी की ओर से सही खबर सामने लाई जाती है. (Photo: File)