scorecardresearch
 
यूटिलिटी

Glenmark Life Science IPO: दोपहर तक रिटेल का हिस्सा ढाई गुना सब्सक्राइब

निवेशकों के बन सकते हैं पैसे!
  • 1/7


ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज के आईपीओ को निवेशकों का जबर्दस्त रिस्पॉन्स मिल रहा है. यह IPO आज सुबह 10 बजे ओपन हुआ, और कुछ घंटों में ही पूरी तरह से सब्सक्राइब हो गया. एक्सचेंज आंकड़ों के मुताबिक दोपहर 2 बजे तक आईपीओ 1.65 गुना भर गया. इस दौरान रिटेल निवेशक का हिस्सा करीब 2.50 गुना से ज्यादा भर गया. (Photo: Getty Images)

एंकर इंवेस्टर्स से 454 करोड़ रुपये जुटाए
  • 2/7


वहीं नॉन-इंस्टीटयूशनल इनवेस्टर्स के लिए रिजर्व हिस्सा 20 फीसदी सब्सक्राइब हो चुका है. जबकि क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स ने अभी तक 6900 इक्विटी शेयरों के लिए बोली लगाई है. जबकि इनके लिए 42.42 लाख शेयर रिजर्व हैं. कंपनी इस आईपीओ खुलने से पहले 19 एंकर इंवेस्टर्स से 454 करोड़ रुपये जुटाए. (Photo: Getty Images)

Glenmark Life Sciences
  • 3/7

एक्टिव फार्मा इंग्रेडिएंड्स कंपनी Glenmark Life Sciences का 29 जुलाई को बंद होगा. ग्लेनमार्क लाइफ साइंस का प्राइस बैंड 695-720 रुपये है. ग्लेनमार्क लाइफ साइंस 1060 करोड़ रुपये का फ्रेश इश्यू जारी करेगा और 63 लाख शेयर ऑफर फॉर सेल में बेचे जाएंगे. हायर प्राइस बैंड के हिसाब से कंपनी इस आईपीओ के जरिये 1513.6 करोड़ रुपये जुटाएगी. (Photo: Getty Images)

20 शेयरों का लॉट साइज
  • 4/7

ग्लेनमार्क लाइफ साइंस के IPO में 20 शेयरों का लॉट साइज है, यानी निवेशक को कम से कम 20 शेयरों के लिए बोली लगानी होगी. प्राइस बैंड के हिसाब से रिटेल निवेशक को कम से कम 14,400 रुपये का निवेश करना होगा. अधिकतम 13 लॉट के लिए अप्लाई कर सकते हैं. 
 

कंपनी का प्लान
  • 5/7

ग्लेनमार्क लाइफ साइंस का कहना है कि IPO से मिले पैसे को बकाया रकम चुकाने खर्च किया जाएगा, जो उसने API बिजनेस को अलग करने में खर्च किया था. इसमें कंपनी 800 करोड़ रुपये खर्च करेगी जबकि 152.76 करोड़ रुपये कंपनी के रोजमर्रा के कामकाज में खर्च किए जाएंगे. 

कंपनी का लेखा-जोखा
  • 6/7

ग्लेनमार्क लाइफ साइंस के आईपीओ में 50 फीसदी क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स, 15 फीसदी नॉन-इंस्टीट्यूशनल बायर्स और 35 फीसदी रिटेल इनवेस्टर्स के लिए रिजर्व है. फिस्कल ईयर 2020 के लिए कंपनी की कुल आय 1549.30 करोड़ थी, जो इसके एक साल पहले 886.87 करोड़ रुपये थी. 

निवेश का अच्छा मौका
  • 7/7

गौरतलब है कि कोरोना संकट के दौरान पिछले एक साल में आईपीओ निवेशकों का खूब पैसा बना है. लगभग सभी आईपीओ में लिस्टिंग गेन और उसके बाद शानदार रिटर्न मिला है.