scorecardresearch
 
यूटिलिटी

इन दो कंपनियों में सरकार बेचेगी अपनी हिस्सेदारी, मिलेंगे 1200 करोड़ रुपये

विनिवेश की राह पर सरकार
  • 1/7

केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 में विनिवेश के जरिये 1.75 लाख करोड़ रुपये जुटाने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य रखा है. अभी तक सरकार मौजूदा साल में एक्सिस बैंक, एनएमडीसी लिमिटेड और हुडको में हिस्सेदारी बेचकर 8,300 करोड़ रुपये जुटा चुकी है. 

RCF और NFL में विनिवेश
  • 2/7

इसी कड़ी में अब सरकार ने जल्द ही दो उर्वरक कंपनियों के शेयरों को बेचने की तैयारी में है. एक सरकारी अधिकारी के मुताबिक सरकार इस साल दिसंबर के अंत तक दो उर्वरक कंपनियों RCF और NFL के शेयरों की बिक्री के जरिए बाजार से 1,200 करोड़ रुपये जुटा सकती है. 
 

इस विनिवेश से 1200 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य
  • 3/7

दरअसल, पीटीआई के मुताबिक सरकार ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिये राष्ट्रीय केमिकल्स एंड फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (RCF) में अपनी 10 फीसदी और नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (NFL) में अपनी 20 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी. अधिकारी ने कहा कि इस शेयर बिक्री से सरकार को 1,200 करोड़ रुपये मिल सकते हैं. 
 

पहले से मर्चेंट बैंकरों की नियुक्ति
  • 4/7

इन शेयरों बिक्री के लिए मर्चेंट बैंकरों की नियुक्ति पहले ही की जा चुकी है. अधिकारी ने कहा कि सरकार ने उर्वरक क्षेत्र के लिए जो कदम उठाए हैं, उनसे आगामी महीनों में शेयरों का मूल्यांकन बेहतर हो सकता है. 

इन कंपनियों में सरकार की हिस्सेदारी
  • 5/7

सरकार की फिलहाल NFL में 74.71 फीसदी और RCF में 75 फीसदी हिस्सेदारी है. पिछले वित्त वर्ष में सरकार ने विनिवेश से महज 38,000 करोड़ रुपये जुटाए थे. कोरोना की वजह से सरकार विनिवेश के मोर्चे पर सफल नहीं हो पाई थी.
 

शेयरों में हलचल की उम्मीद
  • 6/7

गौरतलब है कि शुक्रवार को बीएसई पर आरसीएफ का शेयर 72.25 रुपये पर बंद हुआ, जबकि एनएफएल का शेयर 53.95 रुपये पर बंद हुआ. इस खबर के बाद सोमवार को इन शेयरों एक्शन देखने को मिल सकता है.

इन कंपनियों में विनिवेश
  • 7/7


मौजूदा वित्त वर्ष में सरकार का BPCL, एयर इंडिया, शिपिंग कॉर्प ऑफ इंडिया जैसी कंपनियों में हिस्सेदारी और प्रबंधन नियंत्रण बेचकर, लाइफ इंश्योरेंस कॉर्प को सूचीबद्ध करके फंड जुटाने का लक्ष्य रखा है.