scorecardresearch
 
यूटिलिटी

रिलायंस जियो के इस कदम से टूट गए टेलिकॉम कंपनियों के शेयर!

Bharti Airtel Vodafone Idea shares crash
  • 1/6

भारतीय बाजार में टेलिकॉम कंपनी एयरटेल और जियो के बीच सीधा मुकाबला है. बुधवार को एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया (Vi) के शेयरों में भारी गिरावट देखने मिली. जबकि रिलायंस का शेयर मजबूत होकर बंद हुआ है. क्योंकि रिलायंस जियो ने शानदार पांच पोस्टपेड प्लस प्लान्स की घोषणा की है.

Jio rolls out new postpaid plans
  • 2/6

दरअसल बुधवार को कारोबार के दौरान एयरटेल के शेयर 10 फीसद तक गिर गए. शेयर ने 423.95 रुपये के निचले स्तर को भी छुआ. जबकि कारोबार के अंत में 8.81 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ. वहीं वोडा-आइडिया के शेयर में 14.05 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिली. आखिर में करीब 10 फीसदी गिरकर बंद हुआ.

वोडा-आइडिया को कड़ी चुनौती
  • 3/6

कहा जा रहा है कि रिलायंस जियो के शानदार पोस्टपेड प्लान्स की घोषणा की वजह से एयरटेल और वोडा के शेयरों में गिरावट देखने को मिली है. जियो के नए प्लान्स से एयरटेल और वोडा-आइडिया को कड़ी चुनौती मिलने वाली है. 

नए पोस्टेपेड प्लान्स
  • 4/6

बता दें, रिलायंस जियो ने 399 रुपये से लेकर 1,499 रुपये तक नए पांच पोस्टेपेड प्लान्स लाने की घोषणा की है. इन जियो पोस्टपेड प्लान्स में नेटफ्लिक्स, ऐमेजॉन प्राइम वीडियो और डिज्नी प्लस हॉटस्टार का फ्री सब्सक्रिप्शन मिलेगा. साथ ही कुछ और फायदे भी ग्राहकों को मिलेंगे.

जियो के नए प्लान्स
  • 5/6

जियो पोस्टपेड प्लस जियो स्टोर्स और होम डिलीवरी के जरिए 24 सितंबर से उपलब्ध होगा. साथ ही जियो द्वारा 650+ लाइव TV चैनल्स, वीडियो कंटेट्स, 5 करोड़ सॉन्ग्स और 300+ न्यूजपेपर्स के साथ जियो ऐप्स सर्विसेज भी ऑफर की जा रही हैं. नए जियोपोस्टपेड प्लान्स पूरी फैमिली के लिए फैमिली प्लान के साथ भी आएंगे. इसमें हर कनेक्शन के लिए 250 रुपये देने होंगे. साथ ही इनमें 500GB तक डेटा रोलओवर और भारत और विदेश में वाईफाई कॉलिंग का भी फायदा मिलेगा.

एजीआर मामला
  • 6/6

इसके अलावा एयरटेल और वोडा आइडिया के शेयरों पर दबाव की वजह एजीआर पेमेंट मामला भी है. इस वित्त वर्ष के अंत तक टेलीकॉम कंपनियों को एजीआर बकाए के रूप में कम से कम 12,921 करोड़ रुपये का भुगतान करना होगा. इसमें में 80 प्रतिशत रकम का भुगतान भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया को करना है. रिलायंस जियो एकमात्र कंपनी है जिस पर कोई एजीआर बकाया नहीं है.

 

(बिजनेस टुडे की इनपुट के साथ)