scorecardresearch
 

Upcoming IPO: केंद्र सरकार अब इस कंपनी की बेचेगी हिस्सेदारी, जल्द आएगा आईपीओ 

पारादीप फॉस्फेट्स ने आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के जरिये फंड जुटाने के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी के पास मसौदा दस्तावेज दाखिल किया है. इस आईपीओ के माध्यम से मोदी सरकार इस कंपनी में अपनी हिस्सेदारी घटाएगी. 

X
जल्द आएगा आईपीओ (प्रतीकात्मक तस्वीर: Getty Images) जल्द आएगा आईपीओ (प्रतीकात्मक तस्वीर: Getty Images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • फर्टिलाइजर कंपनी का आएगा आईपीओ
  • केंद्र सरकार इसमें अपना हिस्सा बेचेगी

Upcoming IPO in Share Market: सार्वजनिक क्षेत्र की उर्वरक कंपनी पारादीप फॉस्फेट्स ने आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) के लिए सेबी (SEBI) के पास दस्तावेज जमा कर दिए हैं. यानी जल्द ही इसका आईपीओ लाने की प्रक्रिया चल पड़ी है. इस आईपीओ के माध्यम से मोदी सरकार इस कंपनी में अपनी हिस्सेदारी घटाएगी. 

इस आईपीओ के तहत 1,255 करोड़ रुपये के नए इक्विटी शेयर जारी किए जाएंगे. प्रवर्तक और मौजूदा शेयरधारक 1,20,035,800 शेयरों की बिक्री पेशकश (OFS) लाएंगे. केंद्र सरकार भी अपनी 11,24,89,000 इक्विटी शेयरों की बिक्री की पेशकश करेगी. यह आम निवेशकों के लिए शेयर बाजार में पैसा बनाने का मौका साबित हो सकता है. 

दाख‍िल किए दस्तावेज 

पारादीप फॉस्फेट्स ने आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के जरिये फंड जुटाने के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी के पास मसौदा दस्तावेज दाखिल किया है. ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) के अनुसार, आईपीओ के तहत 1,255 करोड़ रुपये के नए इक्विटी शेयर जारी किए जाएंगे और प्रवर्तक और मौजूदा शेयरधारक 1,20,035,800 शेयरों की बिक्री पेशकश (OFS) लाएंगे. 

प्रमुख फर्टिलाइजर कंपनी

पारादीप फॉस्फेट्स लिमिटेड (PPL) देश की प्रमुख फर्टिलाइजर कंपनी है. यह एक जॉइंट वेंचर कंपनी है जिसमें Zuari Maroc फॉस्फेट्स लिमिटेड की 80.45 % और भारत सरकार की 19.55% फीसदी हिस्सेदारी है. इसका सालाना टर्नओवर करीब 5,500 करोड़ रुपये का है. 

न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार, बिक्री पेशकश के तहत जुआरी मैरोक फॉस्फेट्स प्राइवेट लिमिटेड (ZMPPL) 75,46,800 शेयरों की पेशकश करेगी जबकि भारत सरकार 11,24,89,000 इक्विटी शेयरों की पेशकश करेगी. फिलहाल कंपनी में जेडएमपीपीएल की 80.45 प्रतिशत और भारत सरकार की 19.55 प्रतिशत हिस्सेदारी है. 

इस साल आईपीओ की बहार 

गौरतलब है कि इस साल शेयर बाजार में खूब आईपीओ आ रहे हैं जिनकी वजह से निवेशकों को बाजार में पैसा बनाने का अच्छा मौका मिल रहा है. चालू वित्त वर्ष में ही अब तक करीब 20 कंपनियों ने आईपीओ के जरिये 45 हजार करोड़ रुपये से भी अधिक जुटाए हैं. पिछले पूरे वित्त वर्ष में 30 कंपनियों ने आईपीओ के माध्यम से 31,277 करोड़ रुपये जुटाए थे.  बाजार विश्लेषकों को उम्मीद है कि पूरे 2021-22 के दौरान आईपीओ बाजार में तेजी बनी रहेगी. सैंक्टम वेल्थ मैनेजमेंट में इक्विटीज के प्रमुख हेमांग कपासी ने कहा कि 70,000 करोड़ रुपये जुटाने के लिए शेष वर्ष के लिए 40 आईपीओ लाइन में हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें