scorecardresearch
 

मंदी की आहट: इस OTT कंपनी ने की दूसरी बार छंटनी, निकाले गए इतने कर्मचारी

नेटफ्लिक्स ने इस बार 300 कर्मचारियों यानी अपने 4 फीसदी लोगों को नौकरी से निकाला है. यह कंपनी में कर्मचरियों की छंटनी का दूसरा दौर है. इससे पहले नेटफ्लिक्स ने रेवेन्यू ग्रोथ की रफ्तार कम होने का हवाला देकर करीब 150 कर्मचारियों और दर्जनों कॉन्ट्रैक्टर्स की छंटनी की थी. उससे पहले मार्केटिंग टीम से करीब 25 लोगों को बाहर किया गया था.

X
दूसरी बार हुई छंटनी (Photo: Reuters) दूसरी बार हुई छंटनी (Photo: Reuters)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कंपनियों को डरा रही आर्थिक मंदी की आहट
  • शेयर मार्केट में कई महीने से बिकवाली हावी

कोरोना महामारी के बाद दशकों की सबसे ज्यादा महंगाई के चलते दुनिया को अब मंदी का डर सताने लगा है. इसके कारण शेयर बाजारों की हालत खराब है. खासकर टेक कंपनियों (Tech Companies) के लिए पिछले 5-6 महीने काफी बुरे साबित हुए हैं. ऑनलाइन स्ट्रीमिंग कंपनी नेटफ्लिक्स (Netflix) भी इनमें से एक है. न सिर्फ कंपनी के शेयरों का भाव तेजी से गिरा है, बल्कि कंपनी को रेवेन्यू (Revenue) और सब्सक्राइबर्स (Subscribers) के मामले में भी नुकसान हो रहा है. बदले हालात से जूझने के लिए नेटफ्लिक्स को अब छंटनी (Netflix Lay Offf) का सहारा लेना पड़ रहा है.

इससे पहले भी निकाले जा चुके 150 कर्मचारी

नेटफ्लिक्स ने इस बार 300 कर्मचारियों यानी अपने 4 फीसदी लोगों को नौकरी से निकाला है. यह कंपनी में कर्मचरियों की छंटनी का दूसरा दौर है. इससे पहले नेटफ्लिक्स ने रेवेन्यू ग्रोथ की रफ्तार कम होने का हवाला देकर करीब 150 कर्मचारियों और दर्जनों कॉन्ट्रैक्टर्स की छंटनी की थी. उससे पहले मार्केटिंग टीम से करीब 25 लोगों को बाहर किया गया था. कंपनी कर्मचारियों को ऐसे समय नौकरी से बाहर कर रही है, जब करीब एक दशक में उसे पहली बार सब्सक्राइबर्स (Netflix Subscribers) के मामले में नुकसान का सामना करना पड़ा है.

छंटनी पर कंपनी ने दिया ये बयान

नेटफ्लिक्स ने एक स्टेटमेंट में कहा, 'हम बिजनेस में इन्वेस्ट करना जारी रख रहे हैं, लेकिन हमें रेवेन्यू के धीमे ग्रोथ के साथ कॉस्ट का सांमजस्य बनाए रखने के लिए ये एडजस्टमेंट करने पड़ रहे हैं. हम ये कदम उठा रहे हैं ताकि हम बदले हालात में आगे बढ़ते रह सकें. नेटफ्लिक्स के लिए सभी लोगों ने जो कुछ भी किया है, उसके लिए हम उनके आभारी हैं. हम इस मुश्किल बदलाव में उन्हें सपोर्ट करने के लिए खूब प्रयास कर रहे हैं.'

कम हो रहे नेटफ्लिक्स के सब्सक्राइबर

कंपनी ने पहले राउंड की छंटनी के बाद भी कहा था कि यह कदम कर्मचारियों के परफॉर्मेंस से जुड़ा हुआ नहीं है, बल्कि फाइनेंशियल कारणों से उसे ऐसा करने पर मजबूर होना पड़ा है. आपको बता दें कि नेटफ्लिक्स को पिछली तिमाही में करीब 2 लाख सब्स्क्राइबर्स का नुकसान हुआ था. यह पिछले एक दशक में पहली बार हुआ है, जब नेटफ्लिक्स के सब्सक्राइबर कम हुए हैं. कंपनी ने अगली तिमाही में भी करीब 2 लाख सब्सक्राइबर्स के नुकसान की आशंका व्यक्त की थी. कंपनी को रूस-यूक्रेन के बीच जारी जंग (Russia-Ukraine War) से काफी नुकसान हुआ है. इस जंग के चलते अमेरिका ने रूस पर कई कड़े प्रतिबंध लगा दिए. यूक्रेन पर हमले के विरोध में कई अमेरिकी कंपनियों ने भी रूस में अपना बिजनेस बंद कर दिया. नेटफ्लिक्स भी उन कंपनियों में शामिल है.

इतना गिर गया नेटफ्लिक्स का शेयर

कंपनी को इन सब फैक्टर्स का नुकसान शेयर मार्केट (Share Market) में भी उठाना पड़ा है. छह महीने पहले इसके एक शेयर का भाव (Netflix Share Price) 682 डॉलर से ज्यादा हुआ करता था. यह अभी 70 फीसदी से ज्यादा गिरकर महज 180 डॉलर के पास आ गया है. नेटफ्लिक्स का शेयर पिछले साल अक्टूबर में अपने ऑल टाइम हाई (Netflix Share All Time High) पर था. उस समय नेटफ्लिक्स के एक शेयर का भाव 700 डॉलर के पार निकल गया था. अभी इसका स्टॉक अपने ऑल टाइम हाई से करीब 75 फीसदी नीचे है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें