scorecardresearch
 

RBI MPC: अब क्रेडिट कार्ड से भी होगा यूपीआई पेमेंट, सब्सक्रिप्शन पेमेंट की लिमिट भी बढ़ी

कई सालों के उच्च स्तर पर पहुंची महंगाई (Inflation) के कारण रिजर्व बैंक (RBI) ने बुधवार को एक बार फिर से रेपो रेट बढ़ाने (Repo Rate Hike) का ऐलान कर दिया. अब रेपो रेट 0.50 फीसदी बढ़कर 4.90 फीसदी हो गया है. यह करीब एक महीने के अंतराल में रेपो रेट में लगातार दूसरी बढ़ोतरी है.

X
क्रेडिट कार्ड से भी होगा यूपीआई पेमेंट (Photo: Reuters)
क्रेडिट कार्ड से भी होगा यूपीआई पेमेंट (Photo: Reuters)

Credit Card UPI Payment: ऑनलाइन पेमेंट (Online Payment) और ट्रांजेक्शन (Digital Transaction) के लिए यूपीआई (UPI) का इस्तेमाल करने वाले करोड़ों लोगों को रिजर्व बैंक (Reserve Bank Of India) ने एक बड़ी खुशखबरी दी है. अब यूपीआई के जरिए सिर्फ सेविंग अकाउंट (Saving Account) या करेंट अकाउंट (Current Account) से ही नहीं बल्कि क्रेडिट कार्ड (Credit Card) से भी पेमेंट करना संभव होगा. रिजर्व बैंक जल्दी ही यह सुविधा शुरू करने वाला है.

रूपे कार्ड से होगी यूपीआई पेमेंट की शुरुआत

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास (RBI Governor Shaktikanta Das) ने मौद्रिक नीति समिति की जून बैठक (RBI MPC June 2022 Meeting) के बाद बुधवार को इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक ने डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए क्रेडिट कार्ड से यूपीआई पेमेंट की सुविधा देने का निर्णय लिया है.

इसकी शुरुआत रूपे क्रेडिट कार्ड (RuPay Credit Card) से की जाएगी. बाद में मास्टरकार्ड (Mastercard) व वीजा (Visa) समेत अन्य गेटवे पर बेस्ड क्रेडिट कार्ड के लिए भी यह सुविधा शुरू की जा सकती है. इससे वैसे लोगों को आसानी होगी, जो कोई जरूरत पड़ जाने पर क्रेडिट कार्ड से कैश निकालते हैं या उससे पैसे बैंक अकाउंट में ट्रासंफर करते हैं. इन दोनों स्थितियों में लोगों को अतिरिक्त शुल्क व टैक्स देने पड़ जाते हैं.

अब ई-मैंडेट से हो सकेगा इतने तक का पेमेंट

रिजर्व बैंक ने इसके साथ ही सब्सक्रिप्शन वाले पेमेंट (Subscription Payment) को भी आसान बना दिया है. किसी ओटीटी प्लेटफॉर्म का सब्सक्रिप्शन हो या स्कूल की मंथली फीस, गैस का बिल भरना हो या मोबाइल-ब्रॉडबैंड का मंथली बिल...रिजर्व बैंक ने ऐसे रेकरिंग पेमेंट के लिए ई-मैंडेट (E-Mandate) को अनिवार्य बना दिया है.

ई-मैंडेट को अनिवार्य किए जाने के बाद रिजर्व बैंक ने ऐसे ट्रांजेक्शन के लिए एक लिमिट तय की है. अब इस लिमिट को 3 गुना बढ़ा दिया गया है. पहले इस तरह के ट्रांजेक्शन के लिए 5000 रुपये की लिमिट थी. अब ई-मैंडेट से 15 हजार रुपये तक के ट्रांजेक्शन किए जा सकेंगे. आरबीआई गवर्नर दास ने कहा कि ये दोनों कदम डिजिटल इकोनॉमी (Digital Economy) को बढ़ावा देने पर फोकस्ड हैं.

ऐसे होगा क्रेडिट कार्ड से यूपीआई पेमेंट

रिजर्व बैंक की इस सुविधा से अब क्रेडिट कार्ड को बिना स्वाइप किए ही पेमेंट करना संभव होगा. इसके लिए क्रेडिट कार्ड को पहले यूपीआई से लिंक करना होगा. उसके बाद सीधे क्यूआर कोड को स्कैन कर पेमेंट किया जा सकेगा. पेमेंट करते समय आपको ऑप्शन मिलेगा कि आप किस क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड से पेमेंट करना चाहते हैं. जैसे ही आप यूपीआई ऐप से पेमेंट शुरू करेंगे, आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा. ओटीपी सबमिट करते ही पेमेंट पूरा हो जाएगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें