scorecardresearch
 

RBI के ऐलान से पहले ही महंगा होने लगा कर्ज, इन 3 बैंकों ने आज से बढ़ा दी ब्याज दरें

रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति की बैठक सोमवार से चल रही है. इसके बाद बुधवार को बैठक के नतीजों की जानकारी दी जाएगी. जानकार लोग बता रहे हैं कि इस बैठक में भी रेपो रेट को बढ़ाया जा सकता है.

X
महंगा हुआ ब्याज महंगा हुआ ब्याज
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सोमवार से चल रही RBI MPC की बैठक
  • फिर रेपो रेट बढ़ा सकता है रिजर्व बैंक

सस्ते लोन का दौर अब समाप्त हो चुका है और बैंक लगातार ब्याज दरें (Interest Rate Hike) बढ़ाने लगे हैं. मई महीने में आरबीआई की आपात बैठक (RBI MPC Meeting) में रेपो रेट बढ़ाए (Repo Rate Hike) जाने के बाद लगभग सभी बैंक ब्याज दरें बढ़ा चुके हैं. इसके बाद इस महीने एक बार फिर से रेपो रेट को बढ़ाया जा सकता है. इस कारण बैंक पहले ही ब्याज दरें और बढ़ाने लग गए हैं. रिजर्व बैंक बैठक के नतीजों के बारे में बुधवार को जानकारी देगा, लेकिन उससे पहले ही तीन बैंकों ने आज मंगलवार से ब्याज दरें बढ़ा दी हैं.

अभी केनरा बैंक (Canara Bank), एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) और करुर वैश्य बैंक (Karur vysya Bank) ने अपनी ब्याज दरों (Interest Rate Hike) में इजाफा किया है. इसकी वजह से EMI में बढ़ोतरी होगी. केनरा बैंक ने बताया कि नई ब्याज दरें (Canara Bank New Interest Rate) सात जून से प्रभावी हैं. केनरा बैंक ने मार्जिन कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट्स (MCLR) में 0.05 फीसदी का इजाफा किया है. वहीं,करुर वैश्य बैंक ने बेंचमार्क प्राइम लेंडिंग रेट्स (BPLR) को 0.40 फीसदी बढ़ाया है. HDFC ने भी अपने MCLR में 0.35 फीसदी की बढ़ोतरी की है.

कितना महंगा हुआ कर्ज

केनरा बैंक ने एक साल के कर्ज के लिए MCLR को 0.05 फीसदी बढ़ाकर 7.40 फीसदी कर दिया है. वहीं, 6 महीने के लिए इस रेट को 7.30 फीसदी से बढ़ाकर 7.35 फीसदी कर दिया गया है. निजी क्षेत्र के करुर वैश्य बैंक ने BPLR को 0.40 फीसदी बढ़ाकर 13.75 फीसदी और बेसिस प्वाइंट को भी 0.40 फीसदी बढ़ाकर 8.75 फीसदी कर दिया है.

एचडीएफसी ने भी बढ़ाया MCLR

एचडीएफसी बैंक ने ओवरनाइट लोन के लिए अपने MCLR को 7.15 फीसदी से बढ़ाकर 7.50 फीसदी कर दिया. एक महीने के कर्ज के लिए ब्याज दर को 7.20 फीसदी से बढ़कर 7.55 फीसदी कर दिया गया. इस बढ़ोतरी के बाद तीन और छह महीने के कर्ज के लिए MCLR बढ़कर क्रमश: 7.60 फीसदी, 7.70 फीसदी हो गया. वहीं, एक साल के लिए लोन 7.85 फीसदी के रेट से मिलेगा. दो साल और तीन साल के कर्ज के लिए ब्याज दर 7.95 फीसदी और 8.05 फीसदी तक पहुंच गई है.

बढ़ सकता है रेपो रेट

ब्याज दरों में बढ़ोतरी आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की तीन दिवसीय बैठक के समाप्त होने से पहले ही हो गई है. इस बैठक पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं. संभवानाएं जताई जा रही हैं कि आरबीआई की इस बैठक में रेपो रेट (Repo Rate) में 35 से 40 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी का फैसला किया जा सकता है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें