scorecardresearch
 

PM Modi ने लॉन्च किया NIRYAT पोर्टल, विदेशी व्यापार में आएगी तेजी

निर्यात पोर्टल (NIRYAT Portal) की बात करें तो इसे विदेशी व्यापार से जुड़ी सारी जानकारियां एक ही जगह पर मुहैया कराने के लिए बनाया गया है. यह विदेशी व्यापार से जुड़े सभी पक्षों के लिए सूचनाओं का वन-स्टॉप प्लेटफॉर्म होगा. इसका पूरा नाम नेशनल इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट रिकॉर्ड फॉर एनालिसिस ऑफ ट्रेड (National Import-Export Record for Yearly Analysis of Trade) है.

X
विदेशी व्यापार में आएगी तेजी (Photo: Reuters) विदेशी व्यापार में आएगी तेजी (Photo: Reuters)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तेजी से बढ़ रहा है भारत का निर्यात
  • विदशी व्यापार से GDP को मिलेगा बूस्ट

भारत पिछले कुछ दशकों से इकोनॉमी (Economy) में विदेशी व्यापार (Foreign Trade) का योगदान बढ़ाने पर फोकस कर रहा है. इस दिशा में सरकार पहले भी कई सुधार कर चुकी हैं. अब केंद्र सरकार ने विदेशी व्यापार को बढ़ावा देने के लिए एक बड़ा कदम उठाया है. इस सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को नए निर्यात पोर्टल (NIRYAT Portal) को लॉन्च किया. इस पोर्टल पर भारत के विदेशी व्यापार यानी आयात और निर्यात (Import and Export) से जुड़ी सारी जानकारियां एक ही जगह पर उपलब्ध होंगी. इसे विदेशी व्यापार को बढ़ावा देने की दिशा में अहम कदम माना जा रहा है.

निर्यात पोर्टल से विदेशी व्यापार को ये लाभ

प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने इसके साथ ही वाणिज्य भवन (Vanijya Bhawan) का भी उद्घाटन किया. यह नया भवन वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय (Commerce and Industry Ministry) का सेंटर होगा. निर्यात पोर्टल (NIRYAT Portal) की बात करें तो इसे विदेशी व्यापार से जुड़ी सारी जानकारियां एक ही जगह पर मुहैया कराने के लिए बनाया गया है. यह विदेशी व्यापार से जुड़े सभी पक्षों के लिए सूचनाओं का वन-स्टॉप प्लेटफॉर्म होगा. इसका पूरा नाम नेशनल इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट रिकॉर्ड फॉर एनालिसिस ऑफ ट्रेड (National Import-Export Record for Yearly Analysis of Trade) है.

निर्यात को बढ़ावा देने के लिए हो रहा ये काम

प्रधानमंत्री मोदी ने निर्यात पोर्टल की लॉन्चिंग और वाणिज्य भवन के उद्घाटन के बाद कहा कि ये दोनों आत्मनिर्भर भारत की आकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व करते हैं. इनसे व्यापार और वाणिज्य के क्षेत्रों में खास तौर पर एमएसएमई के लिए सकारात्मक बदलाव होंगे. नए वाणिज्य भवन से उन लोगों को लाभ मिलेगा, जो व्यापार, वाणिज्य और एमएसएमई सेक्टर से जुड़े हुए हैं. उन्होंने कहा, 'आज सारे मंत्रालय, सभी विभाग निर्यात को बढ़ावा देने को प्राथमिकता दे रहे हैं. चाहे एमएसएमई मंत्रालय हो या विदेश मंत्रालय व वाणिज्य मंत्रालय, सभी समान लक्ष्य के लिए मिलकर काम कर रहे हैं.'

तेजी से बढ़ रहा है भारत का निर्यात

आपको बता दें कि पिछले कुछ साल के दौरान भारत का निर्यात (Indian Export) तेजी से बढ़ा है. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय (Ministry of Commerce and Industry) के आंकड़ों के अनुसार, मई 2022 में भारत ने 37.29 बिलियन डॉलर का एक्सपोर्ट किया. साल भर पहले यानी मई 2021 में भारत ने 32.30 बिलियन डॉलर का एक्सपोर्ट किया था. इसका मतलब हुआ कि साल भर में भारत का एक्सपोर्ट 15.46 फीसदी बढ़ा है. भारत ने पहली बार किसी एक फाइनेंशियल ईयर (FY22) में 400 बिलियन डॉलर से ज्यादा के निर्यात का लक्ष्य भी 2021-22 में हासिल किया है.

चुनौतियों के बाद भी देश ने हासिल किया लक्ष्य

400 बिलियन डॉलर के निर्यात को लक्ष्य को हासिल करने के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा, 'देश ने पिछले साल तय किया कि तमाम चुनौतियों के बाद भी 400 बिलियन डॉलर यानी 30 लाख करोड़ रुपये के निर्यात का लक्ष्य हासिल करना है. 'वोकल फॉर लोकल' जैसे इनिशिएटिव्स ने भी देश के निर्यात को तेज किया. अंतत: हमने न सिर्फ लक्ष्य को प्राप्त किया बल्कि पिछले साल 418 बिलियन डॉलर यानी 31 लाख करोड़ रुपये के निर्यात का नया रिकॉर्ड बना दिया.'

नए वाणिज्य भवन में ये बातें हैं खास

वहीं नए वाणिज्य भवन का उद्घाटन होने के बाद वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय को नया व आधुनिक भवन मिल गया है. यह भवन इंडिया गेट के पास बनाया गया है. इसे एक स्मार्ट बिल्डिंग के रूप में डिजाइन किया गया है, जो न सिर्फ ऊर्जा की बचत करने वाला है, बल्कि सस्टेनेबल बिल्डिंग की शर्तों पर भी खरा उतरता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें