scorecardresearch
 

अब भारत में ही होगा कारों का क्रैश टेस्ट, सरकार ने Bharat-NCAP को दिखाई हरी झंडी!

केंद्रीय पर सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने शुक्रवार को भारत में ही कारों को क्रैश टेस्ट किए जाने के संबंध में लाए गए ड्राफ्ट नोटिफिकेशन को हरी झंडी दिखा दी. इसके साथ ही उन्होंने इस नए कार असेसमेंट प्रोग्राम को आत्मनिर्भर भारत मिशन के लिए बेहद महत्वपूर्ण करार दिया है.

X
भारत में ही किया जा सकेगा कारों का क्रैश टेस्ट। भारत में ही किया जा सकेगा कारों का क्रैश टेस्ट।
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यात्री सुरक्षा सुनिश्चित करने में अहम रोल
  • वैश्विक प्रोटोकॉल का किया जाएगा इस्तेमाल

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को Bharat-NCAP या भारत के नए कार असेसमेंट प्रोग्राम को शुरू करने के लिए लाए गए ड्राफ्ट नोटिफिकेशन को अपनी मंजूरी दे दी. इसके तहत कारों को क्रैश टेस्ट (Crash Test) में उनके प्रदर्शन के आधार पर स्टार रेटिंग दी जाएगी. 

गडकरी ने ट्वीट कर दी जानकारी
परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने कई ट्वीट के जरिए इसकी जानकारी साझा की है. उन्होंने बताया कि भारत-NCAP एक उपभोक्ता केंद्रित मंच होगा, जो ग्राहकों को स्टार रेटिंग के आधार पर सुरक्षित कारों का चयन करने, सुरक्षित वाहनों के निर्माण के लिए भारत में वाहन निर्माताओं के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देने और नए कार मॉडल में विभिन्न मापदंडों के आधार पर उच्च सुरक्षा स्तरों को शामिल करने का विकल्प मुहैया कराएगा.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि क्रैश टेस्ट प्रोग्राम (Crash Test Programe) के माध्यम से भारतीय कारों को दी गई स्टार रेटिंग न केवल कारों में संरचनात्मक और यात्री सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए, बल्कि भारतीय ऑटोमोबाइल की निर्यात-योग्यता के लिए भी बेहद महत्वपूर्ण होगी.

आत्मनिर्भर भारत की दिशा में कदम 
गडकरी ने कहा कि भारत-एनसीएपी प्रोग्राम के परीक्षण प्रोटोकॉल को वैश्विक क्रैश टेस्ट प्रोटोकॉल के साथ जोड़ा जाएगा और वाहन निर्माताओं को भारत की अपनी इन-हाउस सुविधाओं में वाहनों का परीक्षण करने की अनुमति होगी. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह भारतीय ऑटोमोबाइल उद्योग को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है. इस संबंध में किए गए अपने आखिरी ट्वीट में उन्होंने कहा कि भारत को दुनिया में नंबर एक ऑटोमोबाइल हब बनाने के मिशन में यह महत्वपूर्ण जरिया साबित होगा. 

मार्च में संसद में दी थी जानकारी
गौरतलब है कि नितिन गडकरी ने इस साल मार्च में भारत-एनसीएपी प्रोग्राम के बारे में संसद में जानकारी साझा की थी. उन्होंने एक सवाल के लिखित उत्तर में कहा था कि सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय भारत न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम के तहत एक कार की स्टार रेटिंग का परीक्षण व आकलन करने के लिए योजना तैयार कर रहा है और इसके लिए एक प्रस्ताव पर काम कर रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें