scorecardresearch
 

देश का मिजाज: मोदी सरकार की अर्थनीति से हर दूसरा आदमी संतुष्ट, जनता ने दिए इतने नंबर

इंडिया टुडे और सी वोटर ने मिलकर बेरोजगारी से लेकर महंगाई व आर्थिक नीतियों तक देश का मिजाज टटोलने के लिए यह सर्वे किया है. इसमें आम लोगों से इस बात पर राय मांगी गई कि मोदी सरकार आर्थिक मोर्चे पर कैसा काम कर रही है. इससे पहले जब पीएम पद के लिए पसंदीदा नेता के बारे देश का मिजाज टटोला गया तो 53 फीसदी लोगों ने नरेंद्र मोदी का नाम लिया. इसी तरह 59 फीसदी लोगों ने मोदी सरकार के कामकाज को अच्छा माना.

X
लोगों को पसंद हैं मोदी सरकार की आर्थिक नीतियां लोगों को पसंद हैं मोदी सरकार की आर्थिक नीतियां
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 52 फीसदी लोगों को पसंद हैं मोदी सरकार की आर्थिक नीतियां
  • देश का मिजाज: बेरोजगारी को गंभीर समस्या मानते हैं ज्यादातर लोग

Mood Of The Nation Survey: बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी के बीच भारत में हर दूसरे व्यक्ति को मोदी सरकार की आर्थिक नीतियां पसंद आ रही हैं. हालांकि मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों को पसंद करने वाले लोगों की संख्या पिछले एक साल में कम हो गई है. अभी भारत की 52 फीसदी जनता मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों से खुश हैं. इंडिया टुडे और सी वोटर के ताजा सर्वे में इस बात की जानकारी सामने आई है.

कम हुई आर्थिक नीतियां पसंद करने वालों की संख्या

देश का मिजाज (Mood Of The Nation) सर्वे के अनुसार, साल भर पहले 60 फीसदी से ज्यादा लोगों को मोदी सरकार की आर्थिक नीतियां पसंद थीं. अब ऐसे लोगों का हिस्सा कम होकर 52 फीसदी पर आ गया है. ताजा सर्वे में 19 फीसदी लोग आर्थिक मोर्चे पर मोदी सरकार के परफॉर्मेंस को औसत मानते हैं, जबकि 26 फीसदी लोग इस सरकार की नीतियों से खुश नहीं हैं.

बड़े बिजनेसमैन को मिल रहा फायदा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार को विपक्ष इस बात को लेकर निशाने पर लेता रहा है कि सिर्फ बड़े बिजनेसमैन को ही फायदा पहुंच रहा है. सर्वे में जब यह सवाल पूछा गया तो 48 फीसदी लोगों ने माना कि मोदी सरकार में बड़े बिजनेसमैन को फायदा हो रहा है. सर्वे में 12 फीसदी लोगों ने कहा कि इस सरकार में किसानों को फायदा हुआ है. 8 फीसदी लोग मानते हैं कि सरकार की नीतियों से सैलरीड लोगों को फायदा हुआ है. इसी तरह 8 फीसदी लोगों की राय में छोटे व्यवसायों को भी फायदा हुआ है.

क्रिप्टोकरेंसी पर बैन चाहते हैं ज्यादातर लोग

क्रिप्टोकरेंसी को बैन करने के बारे में पूछे जाने पर 38 फीसदी लोगों ने कहा कि इनके ऊपर रोक लगाई जानी चाहिए. दूसरी ओर 28 फीसदी लोगों ने कहा कि भारत में क्रिप्टोकरेंसी पर बैन नहीं लगाया जाना चाहिए.

जनता को पसंद है कोरोना को लेकर हुए आर्थिक उपाय

कोरोना महामारी ने इकोनॉमी को बहुत नुकसान पहुंचाया है. सरकार ने इसे कम करने के लिए आत्मनिर्भर भारत पैकेज लॉन्च किया. इस बारे में ज्यादातर लोगों का कहना है कि सरकार ने कोरोना के आर्थिक असर को कम करने के लिए बढ़िया काम किया है. 60 फीसदी लोग मानते हैं कि सरकार ने इस मोर्चे पर बढ़िया काम किया है. वहीं 31 फीसदी लोग इस मोर्चे पर सरकार से खुश नहीं हैं. 9 फीसदी लोगों ने कहा कि वे इस बारे में कुछ नहीं कह सकते हैं.

एयर इंडिया का प्राइवेट होना भारत को नहीं पसंद

सरकार की प्राइवेटाइजेशन को लोग पसंद नहीं कर रहे हैं. हाल ही में सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया की नीलामी हुई है. इस बारे में 41 फीसदी लोगों ने कहा कि वे एयर इंडिया के प्राइवेटाइजेशन का सपोर्ट करते हैं, जबकि 43 फीसदी लोगों ने इस फैसले को सपोर्ट करने से मना कर दिया.

6 महीने में सुधरेगा अर्थव्यवस्था का हाल

ज्यादातर भारतीयों का मानना है कि आने वाले समय में अर्थव्यवस्था की स्थिति में सुधार होने वाला है. ताजा सर्वे में 31 फीसदी लोगों ने माना कि अगले 6 महीने में अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर सुधार देखने को मिलेगा. 

मोदी सरकार में नहीं सुधरी है लोगों की हालत

मोदी सरकार के अब तक के कार्यकाल में लोगों की आर्थिक सेहत कैसी है, इस बारे में सरकार को कम नंबर मिले हैं. जब लोगों से पूछा गया कि 2014 के बाद से अब तक उनकी आर्थिक हालत में क्या बदलाव आया है, तो सिर्फ 31 फीसदी लोगों ने माना कि इसमें सुधार आया है. दूसरी ओर 32 फीसदी लोग मानते हैं कि बीते 8 साल में उनकी आर्थिक स्थिति खराब हुई है. सर्वे के अनुसार, 33 फीसदी लोग मानते हैं कि इन 8 सालों में उनकी स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है.

बेरोजगारी बनी गंभीर समस्या

बेरोजगारी की बात करें तो इसे 71 फीसदी लोग गंभीर समस्या मान रहे हैं. साल भर पहले 83 फीसदी लोग बेरोजगारी को लेकर सीरियस थे.

इतने लोगों को पसंद है मोदी सरकार का कामकाज

इंडिया टुडे और सी वोटर ने मिलकर बेरोजगारी से लेकर महंगाई व आर्थिक नीतियों तक देश का मिजाज टटोलने के लिए यह सर्वे किया है. इसमें आम लोगों से इस बात पर राय मांगी गई कि मोदी सरकार आर्थिक मोर्चे पर कैसा काम कर रही है. इससे पहले जब पीएम पद के लिए पसंदीदा नेता के बारे देश का मिजाज टटोला गया तो 53 फीसदी लोगों ने नरेंद्र मोदी का नाम लिया. इसी तरह 59 फीसदी लोगों ने मोदी सरकार के कामकाज को अच्छा माना.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें