scorecardresearch
 

शेयर बाजार के लिए 'अच्छे दिन', FII ने शुरू कर दी खरीदारी, ये हैं आंकड़े

विदेशी संस्थागत निवेशक (FII) भारतीय मार्केट में नेट बायर रहे. पॉजिटिव ग्लोबल इंडेक्स, लंबे समय बाद विदेशी निवेशकों की खरीदारी में वापसी और तिमाही के शानदार नतीजे से बाजार को सपोर्ट मिला है. हालांकि, डॉलर के मुकाबले रुपये में आई गिरावट जरूर टेंशन बढ़ा रही है. इस हफ्ते भारतीय रुपया पहली बार डॉलर के मुकाबले 80 के आंकड़े के पार चला गया. हालांकि, रुपया 22 जुलाई को 79.85 पर बंद हुआ.

X
शेयर मार्केट में उछाल
शेयर मार्केट में उछाल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • विदेशी खरीदारों की वजह से बाजार में उछाल
  • रुपये की गिरावट बढ़ा रही है टेंशन

विदेशी निवेशक (Foreign Investors) एक बार फिर से खरीदारी में लौटने लगे हैं. इस वजह से भारतीय शेयर बाजर (Indian Share Market) में उछाल देखने को मिल रही है. विदेशी निवेशकों के फिर से खरीदारी शुरू करने के चलते शेयर मार्केट चमकने लगा है और सेंसेक्स (Sensex) 56,000 अंकों से भी ऊपर पहुंच चुका है. खत्म हुई तिमाही में भारतीय शेयर बाजार में तेजी देखने को मिली. शेयर बाजार में शुक्रवार को आईटी, फार्मा, एनर्जी सेक्टर को छोड़ सभी हरे निशान में बंद हुए.

पॉजिटिव ग्लोबल इंडेक्स, लंबे समय बाद विदेशी निवेशकों की खरीदारी में वापसी, तिमाही के शानदार नतीजे से बाजार को सपोर्ट मिला है. हालांकि, डॉलर के मुकाबले रुपये में आई गिरावट जरूर टेंशन बढ़ा रही है. इस हफ्ते भारतीय रुपया पहली बार डॉलर के मुकाबले 80 के आंकड़े को भी पार कर गया. हालांकि, रुपया 22 जुलाई को डॉलर के मुकाबले 79.85 के स्तर पर बंद हुआ.

बाजार में जबरदस्त उछाल

शुक्रवार को सप्ताह के अंत में सेंसेक्स 390 अंकों की तेजी के साथ 56,072 अंकों पर और निफ्टी 114 अंकों की तेजी के साथ 16,719 अंकों पर बंद हुआ. निफ्टी के 32 शेयर हरे निशान के साथ क्लोज हुए. वहीं 18 शेयर गिरावट के साथ क्लोज हुए. सेंसेक्स के 30 में से 17 शेयर हरे निशान में तो 13 शेयर लाल निशान में बंद हुए. 

सप्ताह भर में दिखी इतनी तेजी

इस सप्ताह बीएसई सेंसेक्स 2,311.45 अंक (4.29 प्रतिशत) बढ़कर 56,072.23 पर पहुंच चुका है. वहीं, सप्ताह के अंत में निफ्टी 670.3 (4.17 फीसदी) बढ़कर 16,719.5 पर क्लोज हुआ. अब तक महीने में दोनों प्रमुख सूचकांक छह फीसदी के करीब चढ़े हैं.

विदेशी खरीदारों की वापसी

बीते सप्ताह में विदेशी संस्थागत निवेशक (FII) भारतीय मार्केट में नेट बायर रहे. FIIs ने भारतीय इक्विटी मार्केट में 4,037.29 करोड़ रुपये की खरीदारी की. वहीं, घरेलू निवेशकों ने 940.47 करोड़ रुपये की खरीदारी की. इस महीने अब तक FII ने 6,421.84 करोड़ रुपये की बिकवाली की, जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 8,307.51 रुपये के शेयर खरीदे.

बीते हफ्ते बीएसई सेंसेक्स पर रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप में सबसे अधिक बढ़ोतरी देखने को मिली थी. उसके बाद टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, ICICI Bank, इंफोसिस  का नंबर था. दूसरी ओर, डॉक्टर रेड्डीज लैबोरेटरीज को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ.

मिड-कैप इंडेक्स

श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कॉरपोरेशन, आदित्य बिड़ला कैपिटल, आरबीएल बैंक, क्लीन साइंस एंड टेक्नोलॉजी, केनरा बैंक और हनीवेल ऑटोमेशन के साथ बीएसई मिड-कैप इंडेक्स 3.5 प्रतिशत बढ़ा. वहीं, बीएसई लार्ज-कैप इंडेक्स में इंडसइंड बैंक, वेदांता, लार्सन एंड टुब्रो इंफोटेक, बैंक ऑफ बड़ौदा, अल्ट्राटेक सीमेंट, पिरामल एंटरप्राइजेज और एक्सिस बैंक की बढ़त के साथ चार फीसदी का इजाफा हुआ है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें